Asianet News Hindi

कोरोना के चलते मुकेश अंबानी गवां चुके है 28 फीसदी दौलत, फिर भी इस कंपनी पर क्यों लगाए 500 करोड़ रुपए?

First Published Apr 7, 2020, 9:01 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बिजनेस डेस्क: देश में इस वक्त कोरोना महामारी के कारण सारे संस्थान बंद चल रहे हैं। जिसके बाद पढ़ाई का सबसे बेहतरीन साधन ऑनलाइन क्लासेज हैं। जिसके वजह से इन ऑनलाइन लर्निंग प्लेटफार्म पर काफी ग्रोथ देखने को मिल रही है। देश के सबसे अमीर बिजनेसमैन मुकेश अंबानी ने इसी बात को भांपते हुए Embibe नाम की ऑनलाइन एजुकेशन स्टार्टअप कंपनी में 500 करोड़ रुपए का निवेश किया है। ये फैसला मुकेश अंबानी ने ऐसे वक्त में लिया है जब उनकी कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज के ऊपर 1.5 लाख करोड़ का कर्ज है। 
 

कोरोना वायरस की मार दुनियाभर की अर्थव्यवस्था पर पड़ी है। ऐसे में दुनिया के कई अरबपतियों को भारी नुकसान का सामना करना पड़ रहा है। ऐसा ही कुछ हाल देश के सबसे अमीर व्यक्ति मुकेश अंबानी का भी है।

कोरोना वायरस की मार दुनियाभर की अर्थव्यवस्था पर पड़ी है। ऐसे में दुनिया के कई अरबपतियों को भारी नुकसान का सामना करना पड़ रहा है। ऐसा ही कुछ हाल देश के सबसे अमीर व्यक्ति मुकेश अंबानी का भी है।

मालूम हो कि कच्चे तेल के दामों में गिरावट से देश के सबसे अमीर कारोबारी मुकेश अंबानी की कुल संपत्ति में 28% की गिरावट आई है। अंबानी को दो महीने के भीतर 31 मार्च तक रोजाना 2,100 करोड़ रुपये (30 करोड़ डॉलर ) का झटका लगा है और उनकी कुल संपत्ति अब महज 3.36 लाख करोड़ रुपये की रह गई है।

मालूम हो कि कच्चे तेल के दामों में गिरावट से देश के सबसे अमीर कारोबारी मुकेश अंबानी की कुल संपत्ति में 28% की गिरावट आई है। अंबानी को दो महीने के भीतर 31 मार्च तक रोजाना 2,100 करोड़ रुपये (30 करोड़ डॉलर ) का झटका लगा है और उनकी कुल संपत्ति अब महज 3.36 लाख करोड़ रुपये की रह गई है।

हुरुन ग्लोबल रिच लिस्ट के मुताबिक, रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (RIL) के चेयरमैन एवं एमडी की कुल संपत्ति में 1।33 लाख करोड़ रुपये की गिरावट आई है, जिसके कारण वह दुनिया के सबसे अमीरों की सूची में आठ पायदान खिसककर 17वें स्थान पर पहुंच गए हैं।

हुरुन ग्लोबल रिच लिस्ट के मुताबिक, रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (RIL) के चेयरमैन एवं एमडी की कुल संपत्ति में 1।33 लाख करोड़ रुपये की गिरावट आई है, जिसके कारण वह दुनिया के सबसे अमीरों की सूची में आठ पायदान खिसककर 17वें स्थान पर पहुंच गए हैं।

ऐसे में इस तरह के इन्वेस्टमेंट करके मुकेश अंबानी अपनी मार्केट पोजीशन पहले जैसी करना चाहतें है। उदहारण के तौर पर देखें तो भारत की सबसे बड़ी ऑनलाइन लर्निंग प्लेटफार्म Byju’s इस वक्त काफी फायदे में चल रही है। स्कूल और कॉलेज बंद होने से सिर्फ मार्च में  byjus के प्लेटफार्म पर करीब 6 करोड़ नए छात्रों ने एडमिशन लिया है।

ऐसे में इस तरह के इन्वेस्टमेंट करके मुकेश अंबानी अपनी मार्केट पोजीशन पहले जैसी करना चाहतें है। उदहारण के तौर पर देखें तो भारत की सबसे बड़ी ऑनलाइन लर्निंग प्लेटफार्म Byju’s इस वक्त काफी फायदे में चल रही है। स्कूल और कॉलेज बंद होने से सिर्फ मार्च में byjus के प्लेटफार्म पर करीब 6 करोड़ नए छात्रों ने एडमिशन लिया है।

मुकेश अंबानी ने इससे पहले भी इस कंपनी में 90 करोड़ रुपए का निवेश किया था।  Embibe को 2012 में अदिति अवस्थी नाम की एक महिला उद्यमी ने शुरू किया था। रिलायंस ने वर्ष 2018 तक इस कंपनी का 73 फीसदी हिस्सा खरीद लिया था।

मुकेश अंबानी ने इससे पहले भी इस कंपनी में 90 करोड़ रुपए का निवेश किया था। Embibe को 2012 में अदिति अवस्थी नाम की एक महिला उद्यमी ने शुरू किया था। रिलायंस ने वर्ष 2018 तक इस कंपनी का 73 फीसदी हिस्सा खरीद लिया था।

हाल ही में रिलायंस इंडस्ट्रीज ने बाजार से एनसीडी (Non-Convertable Debentures)के जरिए 25000 करोड़ रुपये जुटाने की बात कही थी। इसकी वजह कच्चे तेल में आई गिरावट से कंपनी को हुआ घाटा बताया जा रहा है।

हाल ही में रिलायंस इंडस्ट्रीज ने बाजार से एनसीडी (Non-Convertable Debentures)के जरिए 25000 करोड़ रुपये जुटाने की बात कही थी। इसकी वजह कच्चे तेल में आई गिरावट से कंपनी को हुआ घाटा बताया जा रहा है।

इस साल रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर 30 फीसदी लुढ़क चुके हैं। इस दौरान बीएसई सेंसेक्स ने 32।5 फीसदी की गिरावट दर्ज की है। बीते एक साल में रिलायंस इंडस्ट्रीज ने 22.5 फीसदी का गोता लगाया है, जबकि बीएसई सेंसेक्स 28.5 फीसदी फिसला है।

इस साल रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर 30 फीसदी लुढ़क चुके हैं। इस दौरान बीएसई सेंसेक्स ने 32।5 फीसदी की गिरावट दर्ज की है। बीते एक साल में रिलायंस इंडस्ट्रीज ने 22.5 फीसदी का गोता लगाया है, जबकि बीएसई सेंसेक्स 28.5 फीसदी फिसला है।

गौरतलब है कि, रिलायंस का मार्केट कैपिटल लगभग 6.8 लाख करोड़ रुपए है। मुकेश अंबानी की रिलायंस में 42% की हिस्सेदारी है। आरआईएल ने पिछले पांच वर्षों में 5.4 लाख करोड़ रुपये का निवेश किया है। जिसमें से अकेले Jio के बिजनेस को बनाने के लिए 3.5 लाख करोड़ रुपये खर्च किए हैं।

गौरतलब है कि, रिलायंस का मार्केट कैपिटल लगभग 6.8 लाख करोड़ रुपए है। मुकेश अंबानी की रिलायंस में 42% की हिस्सेदारी है। आरआईएल ने पिछले पांच वर्षों में 5.4 लाख करोड़ रुपये का निवेश किया है। जिसमें से अकेले Jio के बिजनेस को बनाने के लिए 3.5 लाख करोड़ रुपये खर्च किए हैं।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios