Asianet News Hindi

कभी दुनिया के टॉप 10 अमीरों में शामिल था मुकेश अंबानी का नाम, कोरोना के चलते टॉप 20 से भी हुए बाहर

First Published Apr 9, 2020, 12:59 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बिजनेस डेस्क: कोरोना की महामारी ने देश के सबसे बड़े अमीर रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी की संपत्ति में जहां सेंध लगा दी है वहीं अडाणी, शिव नाडर और उदय कोटक जैसे उद्योगपतियों को दुनिया के अमीरों की टॉप 100 लिस्ट से बाहर कर दिया। रिलायंस के लगातार गिरते शेयर की वजह से मुकेश अंबानी की दौलत में काफी कमी आई है। उनका कुल नेट वर्थ 50 बिलियन डॉलर से घट के 36.8 बिलियन डॉलर रह गया। यानि कोरोना महामारी की वजह से उन्हें कुल 13.2 बिलियन का घाटा हुआ है। 
 

फोर्ब्स के जारी ताजा रिपोर्ट के मुताबिक मुकेश अंबानी पूरी दुनिया में सबसे अमीर की सूची में टॉप 10 लिस्ट से बाहर हो गए हैं। इसके साथ मुकेश अंबानी से एशिया के सबसे अमीर आदमी का तमगा भी छिन गया है। उनकी ये जगह अब अलीबाबा के फाउंडर जैक मा को मिल गई है जो की लिस्ट के हिसाब से अब एशिया के सबसे अमीर व्यक्ति हैं।

फोर्ब्स के जारी ताजा रिपोर्ट के मुताबिक मुकेश अंबानी पूरी दुनिया में सबसे अमीर की सूची में टॉप 10 लिस्ट से बाहर हो गए हैं। इसके साथ मुकेश अंबानी से एशिया के सबसे अमीर आदमी का तमगा भी छिन गया है। उनकी ये जगह अब अलीबाबा के फाउंडर जैक मा को मिल गई है जो की लिस्ट के हिसाब से अब एशिया के सबसे अमीर व्यक्ति हैं।

फोर्ब्स के मुताबिक मुकेश अंबानी 36.8 बिलियन डॉलर की नेट वर्थ के साथ दुनिया के 21वें  सबसे अमीर आदमी हैं। लेकिन वो अब भी भारत के सबसे अमीर व्यक्ति हैं।

फोर्ब्स के मुताबिक मुकेश अंबानी 36.8 बिलियन डॉलर की नेट वर्थ के साथ दुनिया के 21वें सबसे अमीर आदमी हैं। लेकिन वो अब भी भारत के सबसे अमीर व्यक्ति हैं।

मुकेश अंबानी की नेट वर्थ में कमी आने की मुख्य वजह रिलायंस इंडस्ट्रीज के अधिकांश शेयर की कीमत में पिछले दो महीनों में आई गिरावट है। ये गिरावट दो मुख्य वजह से है एक तो सऊदी अरब और रूस के बीच क्रूड ऑइल की कीमतों को लेकर चल रहे विवाद दूसरी, कोरोनावायरस महामारी जिसकी वजह से रिलायंस का रिटेल सेक्टर काफी प्रभावित हुआ है।

मुकेश अंबानी की नेट वर्थ में कमी आने की मुख्य वजह रिलायंस इंडस्ट्रीज के अधिकांश शेयर की कीमत में पिछले दो महीनों में आई गिरावट है। ये गिरावट दो मुख्य वजह से है एक तो सऊदी अरब और रूस के बीच क्रूड ऑइल की कीमतों को लेकर चल रहे विवाद दूसरी, कोरोनावायरस महामारी जिसकी वजह से रिलायंस का रिटेल सेक्टर काफी प्रभावित हुआ है।

बता दें कि मुकेश अंबानी और उनके परिवार ने रिलायंस के  गिरते शेयर प्राइस का फायदा उठा कर रिलायंस इंडस्ट्रीज के 9,145 करोड़ रुपए की वैल्यू के शेयर खरीदे हैं। उन्होंने ओपन मार्केट के जरिए ये शेयर खरीदे थे। रिलायंस इडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने 2,68,308 शेयर खरीदे, नीता अंबानी ने 7,03,708 ईशा अंबानी ने 7,71,220, आकाश अंबानी के 7,73,620 और अनंत अंबानी ने 73,00,000 लाख शेयर खरीदे।

बता दें कि मुकेश अंबानी और उनके परिवार ने रिलायंस के गिरते शेयर प्राइस का फायदा उठा कर रिलायंस इंडस्ट्रीज के 9,145 करोड़ रुपए की वैल्यू के शेयर खरीदे हैं। उन्होंने ओपन मार्केट के जरिए ये शेयर खरीदे थे। रिलायंस इडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने 2,68,308 शेयर खरीदे, नीता अंबानी ने 7,03,708 ईशा अंबानी ने 7,71,220, आकाश अंबानी के 7,73,620 और अनंत अंबानी ने 73,00,000 लाख शेयर खरीदे।

रिलायंस के शेयर की कीमत अभी 1000 रुपए के आस-पास चल रही है। हालांकि, हाल ही में रिलायंस इंडस्ट्रीज ने बाजार से एनसीडी (Non-Convertable Debentures)के जरिए 25000 करोड़ रुपये जुटाने की बात कही थी। इसकी वजह से रिलायंस के शेयर के दाम बढ़ गए थे।

रिलायंस के शेयर की कीमत अभी 1000 रुपए के आस-पास चल रही है। हालांकि, हाल ही में रिलायंस इंडस्ट्रीज ने बाजार से एनसीडी (Non-Convertable Debentures)के जरिए 25000 करोड़ रुपये जुटाने की बात कही थी। इसकी वजह से रिलायंस के शेयर के दाम बढ़ गए थे।

गौरतलब है की आरआईएल ने पिछले पांच वर्षों में काफी निवेश किया है। जिसमें से अकेले Jio के बिज़नेस को बनाने के लिए 3.5 लाख करोड़ रुपये का निवेश किया गया है। ऐसे में कोरोनावायरस की मार ने कंपनी को खासा नुकसान पहुचाया है।

गौरतलब है की आरआईएल ने पिछले पांच वर्षों में काफी निवेश किया है। जिसमें से अकेले Jio के बिज़नेस को बनाने के लिए 3.5 लाख करोड़ रुपये का निवेश किया गया है। ऐसे में कोरोनावायरस की मार ने कंपनी को खासा नुकसान पहुचाया है।

भारत के सबसे अमीर बिजनेसमैन मुकेश अंबानी ने अगस्त 2019 में हुए रिलायंस के AGM(Annual General Meeting) में रिलायंस को कर्जमुक्त बनाने का रोडमैप पेश किया था। उनके प्लान के मुताबिक सऊदी की अरामको रिलायंस में 1.1 लाख करोड़ रुपए का निवेश करेगी जिसके बदले में रिलायंस उसे तेल और रसायन उद्योग का 20 फीसदी हिस्सा बेचेगा। लेकिन कोरोना के चलते इस डील में देरी होने के आसार नजर आ रहे हैं।

भारत के सबसे अमीर बिजनेसमैन मुकेश अंबानी ने अगस्त 2019 में हुए रिलायंस के AGM(Annual General Meeting) में रिलायंस को कर्जमुक्त बनाने का रोडमैप पेश किया था। उनके प्लान के मुताबिक सऊदी की अरामको रिलायंस में 1.1 लाख करोड़ रुपए का निवेश करेगी जिसके बदले में रिलायंस उसे तेल और रसायन उद्योग का 20 फीसदी हिस्सा बेचेगा। लेकिन कोरोना के चलते इस डील में देरी होने के आसार नजर आ रहे हैं।

गौरतलब है की फोर्ब्स ने भारत में सबसे अमीर लोगों की 2020 की लिस्ट जारी की है। जिसमें मुकेश अंबानी पहले पायदान पर हैं। उनके बाद देश में दुसरे सबसे अमीर व्यक्ति एवेन्यू सुपरमार्ट्स (D-MART) के प्रमोटर राधाकिशन दमानी हैं। जिनकी दौलत कोरोना महामारी के बाद भी इस साल 5 फीसदी बढ़कर 10.2 अरब डॉलर हो गई है।

गौरतलब है की फोर्ब्स ने भारत में सबसे अमीर लोगों की 2020 की लिस्ट जारी की है। जिसमें मुकेश अंबानी पहले पायदान पर हैं। उनके बाद देश में दुसरे सबसे अमीर व्यक्ति एवेन्यू सुपरमार्ट्स (D-MART) के प्रमोटर राधाकिशन दमानी हैं। जिनकी दौलत कोरोना महामारी के बाद भी इस साल 5 फीसदी बढ़कर 10.2 अरब डॉलर हो गई है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios