Asianet News Hindi

SBI की इस स्कीम में कम से कम 25 हजार लगाने हर महीने होगी अच्छी इनकम, जानें डिटेल्स

First Published Feb 25, 2021, 10:21 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बिजनेस डेस्क। स्मॉल सेविंग्स के अलावा भी बैंकों की ऐसी कई स्कीम होती हैं, जिनमें पैसे लगाकर अच्छा-खासा रिटर्न हासिल किया जा सकता है। हाल ही में स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) ने एक ऐसी योजना की शुरुआत की है, जिसमें एकमुश्त पैसे लगाकर हर महीने कमाई की जा सकती है। जो लोग अपने निवेश पर हर महीने मुनाफे के रूप में राशि चाहते हैं, उनके लिए यह एक बेहतर योजना है। ऐसे लोगों की कमी नहीं है, जिनके लिए हर महीने मिलने रकम बहुत मायने रखती है। इस लिहाज से एसबीआई की यह योजना बेहद कारगर है। इस समय जब बाजार में स्थिरता नहीं है और बैंकों ने जमा राशि पर ब्याज दरें घटा दी हैं, मंथली इनकम वाली यह स्कीम बेहद आकर्षक है। स्टेट बैंक की इस स्कीम में हर तीसरे महीने खाते में मौजूद राशि पर कम्पाउंडिंग यानी चक्रवृद्धि दर से ब्याज मिलता है। इस स्कीम में टर्म डिपॉजिट पर जिस दर से ब्याज मिलता है।
(फाइल फोटो)
 

इस स्कीम के तहत एकमुश्त राशि का भुगतान करना होता है। इसके बाद मासिक किस्त के रूप में उसे मूल धन और ब्याज मिलता है। यह डिपॉजिट 36 महीने, 54 महीने, 60 महीने या 120 महीने के लिए किया जा सकता है। (फाइल फोटो)

इस स्कीम के तहत एकमुश्त राशि का भुगतान करना होता है। इसके बाद मासिक किस्त के रूप में उसे मूल धन और ब्याज मिलता है। यह डिपॉजिट 36 महीने, 54 महीने, 60 महीने या 120 महीने के लिए किया जा सकता है। (फाइल फोटो)

इस स्कीम के तहत स्टेट बैंक की किसी भी शाखा में अकाउंट खोला जा सकता है। इसमें कम से कम 25 हजार रुपए जमा करने होते हैं। इस स्कीम में मिनिमम एन्यूटी 1 हजार रुपए है। (फाइल फोटो)

इस स्कीम के तहत स्टेट बैंक की किसी भी शाखा में अकाउंट खोला जा सकता है। इसमें कम से कम 25 हजार रुपए जमा करने होते हैं। इस स्कीम में मिनिमम एन्यूटी 1 हजार रुपए है। (फाइल फोटो)

इस स्कीम में टर्म डिपॉजिट की ब्याज दरें लागू होती हैं। वहीं, स्टेट बैंक के स्टाफ और इस बैंक के पेंशनर्स को 1 फीसदी ज्यादा ब्याज मिलता है। सीनियर सिटिजन्स को 0.5 फीसदी ज्यादा ब्याज दिया जाता है। (फाइल फोटो)

इस स्कीम में टर्म डिपॉजिट की ब्याज दरें लागू होती हैं। वहीं, स्टेट बैंक के स्टाफ और इस बैंक के पेंशनर्स को 1 फीसदी ज्यादा ब्याज मिलता है। सीनियर सिटिजन्स को 0.5 फीसदी ज्यादा ब्याज दिया जाता है। (फाइल फोटो)

एसबीआई की इस स्कीम में पेमेंट डिपॉजिट होने के अगले महीने निर्धारित तारीख से किया जाता है। अगर किसी महीने 29, 30 और 31 तारीख नहीं आती, तो अगले महीने की 1 तारीख को एन्यूटी का भुगतान किया जाता है। (फाइल फोटो)

एसबीआई की इस स्कीम में पेमेंट डिपॉजिट होने के अगले महीने निर्धारित तारीख से किया जाता है। अगर किसी महीने 29, 30 और 31 तारीख नहीं आती, तो अगले महीने की 1 तारीख को एन्यूटी का भुगतान किया जाता है। (फाइल फोटो)

एन्यूटी का भुगतान टीडीएस की कटौती के बाद किया जाता है। इसका भुगतान लिंक्ड सेविंग्स अकाउंट या करंट अकाउंट में किया जाता है। स्टेट बैंक की यह स्कीम रेग्युलर इनकम हासिल करने के लिहाज से बेहद अच्छी मानी जा रही है। इसमें किसी तरह का कोई रिस्क भी नहीं है। (फाइल फोटो)

एन्यूटी का भुगतान टीडीएस की कटौती के बाद किया जाता है। इसका भुगतान लिंक्ड सेविंग्स अकाउंट या करंट अकाउंट में किया जाता है। स्टेट बैंक की यह स्कीम रेग्युलर इनकम हासिल करने के लिहाज से बेहद अच्छी मानी जा रही है। इसमें किसी तरह का कोई रिस्क भी नहीं है। (फाइल फोटो)

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios