Asianet News Hindi

PPF, NSC और सुकन्या समृद्धि योजना को लेकर आज होगा फैसला, जानें क्या जताई जा रही है संभावना

First Published Sep 30, 2020, 8:49 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बिजनेस डेस्क। बैंकों और पोस्ट ऑफिस की स्मॉल सेविंग्स स्कीम्स (Small Savings Schemes) को लेकर आज बुधवार को एक बड़ा फैसला होने वाला है। दरअसल, हर तिमाही के लिए इन योजनाओं पर दिए जाने वाले ब्याज दर को नए सिरे से निर्धारित किया जाता है। वित्त मंत्रालय  (Finance Ministry) यह फैसला करता है। इससे पहले जुलाई-अगस्त-सितंबर तिमाही में ब्याज दरों को स्थिर रखा गया था। अब देखना है, इस बार क्या फैसला लिया जाता है। जानें, इसे लेकर क्या संभावना जताई जा रही है। 
(फाइल फोटो)
 

घट सकती है ब्याज दर
वित्त मंत्रालय 30 सितंबर, 2020 को स्मॉल सेविंग्स स्कीम्स (Small Saving Schemes) के ब्याज दरों पर फैसला लेना है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, अक्टूबर-दिसंबर तिमाही के दौरान स्मॉल सेविंग्स स्कीम पर ब्याज दरें घटाई जा सकती हैं। वित्तीय मामलों के विशेषज्ञों का कहना है कि रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI)आरबीआई ने हाल में ही जिस तरह से ब्याज दरें घटाई हैं,  उसे देखते हुए इन सेविंग्स स्कीम्स में भी ब्याज दरें घटने की संभावना है।
(फाइल फोटो)

घट सकती है ब्याज दर
वित्त मंत्रालय 30 सितंबर, 2020 को स्मॉल सेविंग्स स्कीम्स (Small Saving Schemes) के ब्याज दरों पर फैसला लेना है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, अक्टूबर-दिसंबर तिमाही के दौरान स्मॉल सेविंग्स स्कीम पर ब्याज दरें घटाई जा सकती हैं। वित्तीय मामलों के विशेषज्ञों का कहना है कि रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI)आरबीआई ने हाल में ही जिस तरह से ब्याज दरें घटाई हैं,  उसे देखते हुए इन सेविंग्स स्कीम्स में भी ब्याज दरें घटने की संभावना है।
(फाइल फोटो)

पहले साल में तय होती थी ब्याज दर
पहले स्मॉल सेविंग्स स्कीम्स पर ब्याज दरें सालाना आधार पर तय होती थीं, लेकिन 2016 से केंद्र सरकार ने इसे तिमाही आधार (Quarterly Basis) पर तय करना शुरू कर दिया। 
(फाइल फोटो)

पहले साल में तय होती थी ब्याज दर
पहले स्मॉल सेविंग्स स्कीम्स पर ब्याज दरें सालाना आधार पर तय होती थीं, लेकिन 2016 से केंद्र सरकार ने इसे तिमाही आधार (Quarterly Basis) पर तय करना शुरू कर दिया। 
(फाइल फोटो)

PPF पर ब्याज दर
अप्रैल-जून 2020 तिमाही में सरकार ने पीपीएफ (PPF) पर मिलने वाले ब्‍याज की दर को 0.8 फीसदी घटाकर 7.1 फीसदी कर दिया था। जनवरी-मार्च 2020 तिमाही में इस पर 7.9 फीसदी की दर से ब्‍याज मिल रहा था। वहीं, मौजूदा तिमाही यानी जुलाई-अगस्त-सितंबर के दौरान भी ब्याज दर 7.1 फीसदी है।
(फाइल फोटो)
 

PPF पर ब्याज दर
अप्रैल-जून 2020 तिमाही में सरकार ने पीपीएफ (PPF) पर मिलने वाले ब्‍याज की दर को 0.8 फीसदी घटाकर 7.1 फीसदी कर दिया था। जनवरी-मार्च 2020 तिमाही में इस पर 7.9 फीसदी की दर से ब्‍याज मिल रहा था। वहीं, मौजूदा तिमाही यानी जुलाई-अगस्त-सितंबर के दौरान भी ब्याज दर 7.1 फीसदी है।
(फाइल फोटो)
 

दूसरी स्कीम्स में कितनी है ब्याज दर
सीनियर सिटिजन सेविंग स्‍कीम (Senior Citizen Saving Scheme) में 7.40 फीसदी की दर से ब्‍याज मिल रहा है। वहीं, पोस्ट ऑफिस की मंथली इनकम स्‍कीम (MIS) पर 6.6 फीसदी ब्‍याज मिल रहा है। नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट (NSC) पर ब्याज दर 6.8 फीसदी है।
(फाइल फोटो)

दूसरी स्कीम्स में कितनी है ब्याज दर
सीनियर सिटिजन सेविंग स्‍कीम (Senior Citizen Saving Scheme) में 7.40 फीसदी की दर से ब्‍याज मिल रहा है। वहीं, पोस्ट ऑफिस की मंथली इनकम स्‍कीम (MIS) पर 6.6 फीसदी ब्‍याज मिल रहा है। नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट (NSC) पर ब्याज दर 6.8 फीसदी है।
(फाइल फोटो)

किसान विकास पत्र और सुकन्या समृद्धि योजना
पोस्ट ऑफिस की सबसे लोकप्रिय सेविंग्स स्कीम किसान विकास पत्र (KVP) पर फिलहाल  6.9 फीसदी की दर से ब्याज मिल रहा है। वहीं, बेटियों के लिए सबसे अच्छी स्कीम मानी जाने वाली सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) पर ब्याज दर 7.6 फीसदी है।
(फाइल फोटो)

किसान विकास पत्र और सुकन्या समृद्धि योजना
पोस्ट ऑफिस की सबसे लोकप्रिय सेविंग्स स्कीम किसान विकास पत्र (KVP) पर फिलहाल  6.9 फीसदी की दर से ब्याज मिल रहा है। वहीं, बेटियों के लिए सबसे अच्छी स्कीम मानी जाने वाली सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) पर ब्याज दर 7.6 फीसदी है।
(फाइल फोटो)

इन स्कीम्स में स्थिर रहती है ब्याज दर
पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF) और सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) पर ब्याज दर को सरकार बदलती रहती है और यह उसी अनुसार लागू होती है। लेकिन टाइम डिपॉजिट, पोस्ट ऑफिस रिकरिंग डिपॉजिट, पोस्ट ऑफिस मासिक आय योजना, राष्ट्रिय बचत सर्टिफिकेट और किसान पत्र में निवेश करने पर उस समय मिलने वाली ब्याज दर पूरी योजना अवधि में मिलती है।
(फाइल फोटो) 
 

इन स्कीम्स में स्थिर रहती है ब्याज दर
पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF) और सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) पर ब्याज दर को सरकार बदलती रहती है और यह उसी अनुसार लागू होती है। लेकिन टाइम डिपॉजिट, पोस्ट ऑफिस रिकरिंग डिपॉजिट, पोस्ट ऑफिस मासिक आय योजना, राष्ट्रिय बचत सर्टिफिकेट और किसान पत्र में निवेश करने पर उस समय मिलने वाली ब्याज दर पूरी योजना अवधि में मिलती है।
(फाइल फोटो) 
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios