Asianet News Hindi

PNB में अकाउंट है तो ऐसा करना होगा जरूरी, नहीं तो 1 अप्रैल से नहीं कर सकेंगे ट्रांजैक्शन

First Published Jan 24, 2021, 4:45 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बिजनेस डेस्क। देश के दूसरे सबसे बड़े सरकारी बैंक पंजाब नेशनल बैंक (PNB) में अगर किसी का अकाउंट है, तो उसे अपने आईएफएससी (IFSC) और एमआईसीआर (MICR) कोड में हुए बदलाव की जानकारी लेनी होगी और बैंक से नया कोड लेना होगा। यह काम 31 मार्च, 2021 के पहले ही करना होगा। ऐसा नहीं करने पर 1 अप्रैल से पंजाब नेशनल बैंक के कस्टमर्स किसी तरह का लेन-देन नहीं कर सकेंगे। इसकी वजह यह है कि 1 अप्रैल, 2020 को सरकार ने देश के 3 बैंकों पंजाब नेशनल बैंक, ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स और यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया का मर्जर कर दिया था। इसके एक साल बाद अब बैंक का पुराना चेकबुक और कोड काम नहीं करेगा। जानें इसके बारे में विस्तार से। (फाइल फोटो)
 

पंजाब नेशनल बैंक (PNB) ने  सोशल मीडिया के जरिए अपने कस्टमर्स को इस बदलाव के बारे में जानकारी दी है। बैंक ने कहा है कि ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स और यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया के पुराने चेकबुक, आईएफएससी (IFSC) और एमआईसीआर (MICR) कोड 31 मार्च, 2021 तक ही काम करेंगे। (फाइल फोटो)

पंजाब नेशनल बैंक (PNB) ने सोशल मीडिया के जरिए अपने कस्टमर्स को इस बदलाव के बारे में जानकारी दी है। बैंक ने कहा है कि ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स और यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया के पुराने चेकबुक, आईएफएससी (IFSC) और एमआईसीआर (MICR) कोड 31 मार्च, 2021 तक ही काम करेंगे। (फाइल फोटो)

31 मार्च के बाद बैंक के कस्टमर्स को नया कोड और चेकबुक लेना होगा। अगर कस्टमर ऐसा नहीं करते हैं, तो वे किसी तरह का ट्रांजैक्शन नहीं कर पाएंगे। नया चेकबुक और कोड लेने के लिए कस्टमर को बैंक के ब्रांच में जाना होगा। इसके बारे में ज्यादा जानकारी टोल फ्री नंबर 18001802222 और 18001032222 पर फोन करके ली जा सकती है। (फाइल फोटो)

31 मार्च के बाद बैंक के कस्टमर्स को नया कोड और चेकबुक लेना होगा। अगर कस्टमर ऐसा नहीं करते हैं, तो वे किसी तरह का ट्रांजैक्शन नहीं कर पाएंगे। नया चेकबुक और कोड लेने के लिए कस्टमर को बैंक के ब्रांच में जाना होगा। इसके बारे में ज्यादा जानकारी टोल फ्री नंबर 18001802222 और 18001032222 पर फोन करके ली जा सकती है। (फाइल फोटो)

1 अप्रैल से पंजाब नेशनल बैंक (PNB) के कस्टमर नॉन-ईएमवी (Non-EMV) एटीएम से पैसे नहीं निकाल सकेंगे। पंजाब नेशनल बैंक ने धोखाधड़ी और बैंक फ्रॉड के बढ़ते मामलों को देखते हुए यह कदम उठाया है।  (फाइल फोटो)

1 अप्रैल से पंजाब नेशनल बैंक (PNB) के कस्टमर नॉन-ईएमवी (Non-EMV) एटीएम से पैसे नहीं निकाल सकेंगे। पंजाब नेशनल बैंक ने धोखाधड़ी और बैंक फ्रॉड के बढ़ते मामलों को देखते हुए यह कदम उठाया है। (फाइल फोटो)

नॉन-ईएमवी (Non-EMV) एटीएम में डेबिट कार्ड को सिर्फ एक बार स्वैप कराना होता है। इस एटीएम में डेबिट कार्ड की मैग्नेटिक पट्टी को मशीन रीड कर लेती है। वहीं, ईएमवी (EMV) एटीएम में डेबिट कार्ड कुछ समय तक के लिए लॉक हो जाता है। इन मशीनों के जरिए धोखाधड़ी की संभावना ज्यादा रहती है। (फाइल फोटो)

नॉन-ईएमवी (Non-EMV) एटीएम में डेबिट कार्ड को सिर्फ एक बार स्वैप कराना होता है। इस एटीएम में डेबिट कार्ड की मैग्नेटिक पट्टी को मशीन रीड कर लेती है। वहीं, ईएमवी (EMV) एटीएम में डेबिट कार्ड कुछ समय तक के लिए लॉक हो जाता है। इन मशीनों के जरिए धोखाधड़ी की संभावना ज्यादा रहती है। (फाइल फोटो)

पंजाब नेशनल बैंक, ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स और यूनाइटेड बैंक का मर्जर 1 अप्रैल, 2020 को कर दिया गया था। ऐसे में, इन बैंकों के कस्टमर के लिए नया चेकबुक और आईएफएससी कोड लेना जरूरी हो गया है। तभी वे 1 अप्रैल, 2021 से लेन-देन कर सकेंगे। ऐसा नहीं करने पर उनका ट्रांजैक्शन फेल हो जाएगा। (फाइल फोटो)

पंजाब नेशनल बैंक, ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स और यूनाइटेड बैंक का मर्जर 1 अप्रैल, 2020 को कर दिया गया था। ऐसे में, इन बैंकों के कस्टमर के लिए नया चेकबुक और आईएफएससी कोड लेना जरूरी हो गया है। तभी वे 1 अप्रैल, 2021 से लेन-देन कर सकेंगे। ऐसा नहीं करने पर उनका ट्रांजैक्शन फेल हो जाएगा। (फाइल फोटो)

देश का सबसे बड़ा सरकारी बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) है। इस बैंक की करीब 24 हजार शाखाएं हैं। इस बैंक की तमाम शाखाओं में लगभग 2.45 लाख कर्मचारी काम करते हैं और इसका व्यवसाय 38 लाख करोड़ रुपए से भी ज्यादा का है। इसके बाद पंजाब नेशनल बैंक का नाम आता है। (फाइल फोटो)

देश का सबसे बड़ा सरकारी बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) है। इस बैंक की करीब 24 हजार शाखाएं हैं। इस बैंक की तमाम शाखाओं में लगभग 2.45 लाख कर्मचारी काम करते हैं और इसका व्यवसाय 38 लाख करोड़ रुपए से भी ज्यादा का है। इसके बाद पंजाब नेशनल बैंक का नाम आता है। (फाइल फोटो)

मर्जर के बाद अब यूनाइडेट बैंक ऑफ इंडिया और ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स की सभी शाखाएं पंजाब नेशनल बैंक की शाखाओं के रूप में काम कर रही हैं। इस बैंक की 11 हजार से ज्यादा शाखाएं हैं। इसके 13 हजार से भी ज्यादा एटीएम काम कर रहे हैं। (फाइल फोटो)

मर्जर के बाद अब यूनाइडेट बैंक ऑफ इंडिया और ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स की सभी शाखाएं पंजाब नेशनल बैंक की शाखाओं के रूप में काम कर रही हैं। इस बैंक की 11 हजार से ज्यादा शाखाएं हैं। इसके 13 हजार से भी ज्यादा एटीएम काम कर रहे हैं। (फाइल फोटो)

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios