मुकेश अंबानी का दिमाग बना ये शख्स, ऐसा 'व्यूह' रचा कि JIO में पैसे लगाने की मच गई होड़

First Published 13, Jun 2020, 11:26 AM

बिजनेस डेस्क। एशिया के सबसे रईस शख्स मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के जियो प्लेटफॉर्म्स में निवेश करने के लिए दुनिया की दिग्गज कंपनियों में होड़ मची हुई है। कोरोना संकट के इस दौर में मुकेश अंबानी की जियो प्लेटफॉर्म्स में सबसे ज्यादा निवेश हुआ है। फेसबुक समेत दुनिया भर की 8 दिग्गज कंपनियों ने जियो प्लेटफॉर्म्स में निवेश कर उसकी हिस्सेदारी खरीदी है। जियो प्लेटफॉर्म्स ने कंपनी की हिस्सेदारी बेच कर 97,885.65 करोड़ रुपए (करीब 13 बिलियन डॉलर) जुटाए हैं। इसके बाद जियो प्लेटफॉर्म्स सबसे बड़ी और ताकतवर कंपनी बन कर उभरी है। अभी भी इसमें कई कंपनियां निवेश करने के लिए तैयार हैं। बताया जाता है कि तमाम कंपनियों से निवेश की डील कराने के पीछे मनोज मोदी की अहम भूमिका रही है। मनोज मोदी को मुकेश अंबानी का दाहिना हाथ माना जाता है।

<p><strong>कौन हैं मनोज मोदी</strong><br />
मनोज मोदी मुकेश अंबानी के सबसे भरोसेमंद सहयोगी माने जाते हैं। रिलायंस इंडस्ट्रीज की सभी प्रमुख डील्स में उनकी भूमिका रहती है। रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड में उनकी साख एक बड़े डीलर के तौर पर है। रिलायंस के सूत्रों के मुताबिक, मनोज मोदी ने ही रिलायंस जियो में फेसबुक को 43,574 करोड़ रुपए के निवेश के लिए राजी किया था। फेसबुक के निवेश के बाद ही कई बड़ी कंपनियों में रिलायंस जियो में निवेश की होड़ मच गई।</p>

कौन हैं मनोज मोदी
मनोज मोदी मुकेश अंबानी के सबसे भरोसेमंद सहयोगी माने जाते हैं। रिलायंस इंडस्ट्रीज की सभी प्रमुख डील्स में उनकी भूमिका रहती है। रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड में उनकी साख एक बड़े डीलर के तौर पर है। रिलायंस के सूत्रों के मुताबिक, मनोज मोदी ने ही रिलायंस जियो में फेसबुक को 43,574 करोड़ रुपए के निवेश के लिए राजी किया था। फेसबुक के निवेश के बाद ही कई बड़ी कंपनियों में रिलायंस जियो में निवेश की होड़ मच गई।

<p><strong>रहते हैं लो प्रोफाइल </strong><br />
मनोज मोदी रिलायंस इंडस्ट्रीज में अहम भूमिका निभाने के बावजूद चर्चाओं से दूर रहते हैं। वे बेहद लो प्रोफाइल रहने वाले व्यक्ति हैं। मनोज मोदी पर्दे के पीछे से काम करते हैं। मुकेश अंबानी की योजनाओं को अमली जामा पहुंचाने वाले मनोज मोदी कभी अपने कामों की चर्चा नहीं करते।</p>

रहते हैं लो प्रोफाइल 
मनोज मोदी रिलायंस इंडस्ट्रीज में अहम भूमिका निभाने के बावजूद चर्चाओं से दूर रहते हैं। वे बेहद लो प्रोफाइल रहने वाले व्यक्ति हैं। मनोज मोदी पर्दे के पीछे से काम करते हैं। मुकेश अंबानी की योजनाओं को अमली जामा पहुंचाने वाले मनोज मोदी कभी अपने कामों की चर्चा नहीं करते।

<p><strong>रिलायंस को इंटरनेट टेक कंपनी बनाने का है लक्ष्य</strong><br />
कच्चे तेल की कीमतों में गिरावट की वजह से अभी ऑयल मार्केट में अस्थिरता का दौर चल रहा है। इसलिए मुकेश अंबानी रिलायंस ग्रुप को पेट्रोकेमिकल्स की जगह इंटरनेट टेक्नोलॉजी कंपनी के तौर पर स्थापित करना चाहते हैं। इसके साथ ही, वे जियो प्लेटफॉर्म्स के जरिए रिटेल के कारोबार में भी आना चाहते हैं। इसमें मनोज मोदी उनकी हर तरह से मदद कर रहे हैं। फेसबुक के अलावा तमाम बड़ी कंपनियों का निवेश जुटाने में उनकी बड़ी भूमिका रही है।</p>

रिलायंस को इंटरनेट टेक कंपनी बनाने का है लक्ष्य
कच्चे तेल की कीमतों में गिरावट की वजह से अभी ऑयल मार्केट में अस्थिरता का दौर चल रहा है। इसलिए मुकेश अंबानी रिलायंस ग्रुप को पेट्रोकेमिकल्स की जगह इंटरनेट टेक्नोलॉजी कंपनी के तौर पर स्थापित करना चाहते हैं। इसके साथ ही, वे जियो प्लेटफॉर्म्स के जरिए रिटेल के कारोबार में भी आना चाहते हैं। इसमें मनोज मोदी उनकी हर तरह से मदद कर रहे हैं। फेसबुक के अलावा तमाम बड़ी कंपनियों का निवेश जुटाने में उनकी बड़ी भूमिका रही है।

<p><strong>निभाते हैं गाइड की भूमिका</strong><br />
मनोज मोदी का कहना है कि वे खुद कोई डील नहीं करते। वे कहते हैं कि उनकी ऐसी कोई रणनीतिक समझ नहीं है। मनोज मोदी के मुताबिक, वे सिर्फ रिलायंस के लोगों से ही डील करते हैं, उन्हें कोचिंग देते हैं और किसी काम को कैसे करना है, इसके लिए गाइड करते हैं।<br />
 </p>

निभाते हैं गाइड की भूमिका
मनोज मोदी का कहना है कि वे खुद कोई डील नहीं करते। वे कहते हैं कि उनकी ऐसी कोई रणनीतिक समझ नहीं है। मनोज मोदी के मुताबिक, वे सिर्फ रिलायंस के लोगों से ही डील करते हैं, उन्हें कोचिंग देते हैं और किसी काम को कैसे करना है, इसके लिए गाइड करते हैं।
 

<p><strong>आकाश अंबानी के साथ मिल कर करते हैं काम</strong><br />
रिलायंस से जुड़े सूत्रों के मुताबिक, मनोज मोदी आकाश अंबानी के साथ मिल कर इन्वेस्टमेंट के लिए कंपनियों से डील कराने में प्रमुख भूमिका निभाते हैं। फेसबुक से से डील फाइनल करने में आकाश अंबानी ने अहम रोल निभाया था। उन्होंने फेसबुक को पहले इन्वेस्टर के तौर पर शामिल करने का फैसला किया था, क्योंकि इंस्टाग्राम और वॉट्सऐप का स्वामित्व हासिल कर लेने के बाद फेसबुक की ताकत काफी बढ़ गई थी।<br />
 </p>

आकाश अंबानी के साथ मिल कर करते हैं काम
रिलायंस से जुड़े सूत्रों के मुताबिक, मनोज मोदी आकाश अंबानी के साथ मिल कर इन्वेस्टमेंट के लिए कंपनियों से डील कराने में प्रमुख भूमिका निभाते हैं। फेसबुक से से डील फाइनल करने में आकाश अंबानी ने अहम रोल निभाया था। उन्होंने फेसबुक को पहले इन्वेस्टर के तौर पर शामिल करने का फैसला किया था, क्योंकि इंस्टाग्राम और वॉट्सऐप का स्वामित्व हासिल कर लेने के बाद फेसबुक की ताकत काफी बढ़ गई थी।
 

<p><strong> क्या है काम करने का तरीका</strong><br />
अपने काम करने के तरीके के बारे में मनोज मोदी का कहना है कि यह बेहद आसान है। उनका कहना है कि जब तक कोई आपके कारोबार से जुड़ कर पैसा कमाने की स्थिति में नहीं आ जाता, कारोबार को मजबूती नहीं मिल सकती। वहीं, रिलायंस के सूत्रों का कहना है कि मनोज मोदी स्ट्रैटजी बनाने में माहिर हैं। रिलायंस की ओर से किसी डील में अगर मनोज मोदी शामिल होते हैं, तो इसका मतलब होता है कि डील फाइनल होनी ही है। <br />
 </p>

 क्या है काम करने का तरीका
अपने काम करने के तरीके के बारे में मनोज मोदी का कहना है कि यह बेहद आसान है। उनका कहना है कि जब तक कोई आपके कारोबार से जुड़ कर पैसा कमाने की स्थिति में नहीं आ जाता, कारोबार को मजबूती नहीं मिल सकती। वहीं, रिलायंस के सूत्रों का कहना है कि मनोज मोदी स्ट्रैटजी बनाने में माहिर हैं। रिलायंस की ओर से किसी डील में अगर मनोज मोदी शामिल होते हैं, तो इसका मतलब होता है कि डील फाइनल होनी ही है। 
 

loader