Asianet News Hindi

Aadhaar ऑपरेटर्स को लेकर UIDAI ने जारी किया अलर्ट, जानकारी नहीं होने पर हो सकता है धोखा

First Published Nov 29, 2020, 9:37 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बिजनेस डेस्क। आधार कार्ड (Aadhaar Card) अब सबसे अहम सरकारी दस्तावेज बन गया है। देश के नागरिकों के पहचान-पत्र के रूप में इसे हर जगह मान्यता मिल चुकी है। बैंक से जुड़े काम हों  या दूसरा कोई भी सरकारी या निजी संस्था से जुड़ा काम, आधार कार्ड की जरूरत हर जगह पड़ती है। हर किसी के लिए आधार कार्ड का होना जरूरी है। आधार कार्ड यूनीक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया (Unique Identification Authority of India) द्वारा जारी किए जाते हैं। वहीं, इससे जुड़ी सर्विस देने के लिए आधार सेंटर खोले गए हैं। ऐसे सेंटर्स का संचालन निजी ऑपरेटर्स करते हैं, जिनकी बाकायदा नियुक्ति की जाती है। इन आधार ऑपरेटर्स को लेकर ही आधार कार्ड यूनीक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया (UIDAI) ने अलर्ट जारी किया है। इसके बारे में जानना लोगों के लिए बहुत जरूरी है, नहीं तो धोखा हो सकता है। 
(फाइल फोटो) 
 

कौन करता है आधार ऑपरेटर्स की नियुक्ति
आधार कार्ड यूनीक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया  (UIDAI) आधार कार्ड जारी तो करता है, लेकिन आधार सर्विस सेंटर चलाने वाले ऑपरेटर्स की नियुक्ति वह नहीं करता है। आधार ऑपरेटर्स की नियुक्ति रजिस्ट्रार (Registrar) करते हैं। अगर कोई व्यक्ति आधार सेंटर खोलना चाहता है, तो उसे अपने क्षेत्र के रजिस्ट्रार से संपर्क करना होता है।
(फाइल फोटो)  
 

कौन करता है आधार ऑपरेटर्स की नियुक्ति
आधार कार्ड यूनीक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया  (UIDAI) आधार कार्ड जारी तो करता है, लेकिन आधार सर्विस सेंटर चलाने वाले ऑपरेटर्स की नियुक्ति वह नहीं करता है। आधार ऑपरेटर्स की नियुक्ति रजिस्ट्रार (Registrar) करते हैं। अगर कोई व्यक्ति आधार सेंटर खोलना चाहता है, तो उसे अपने क्षेत्र के रजिस्ट्रार से संपर्क करना होता है।
(फाइल फोटो)  
 

क्या है आधार सर्विस सेंटर 
आधार सर्विस सेंटर पर नए आधार कार्ड बनाने के साथ इससे जुड़े दूसरे काम होते हैं। जो लोग आधार सेंटर का संचालन करते हैं, उन्हें इससे फायदा होता है।  जो लोग आधार कार्ड बनवाने के लिए लोग आधार सेंटर पर जाते हैं, उन्हें इसके लिए उन्हें शुल्क देना होता है। वहीं, आधार को बैंक अकाउंट ले लिंक कराने या इससे जुड़ी दूसरी सर्विसेस के लिए भी चार्ज देना होता है। इसमें से आधार सेंटर चलाने वाले को कमीशन मिलता है। यह आमदनी का अच्छा-खासा जरिया है। हर आधार सेंटर पर कम से कम दो-तीन लोग बतौर ऑपरेटर काम करते हैं।
(फाइल फोटो)
 

क्या है आधार सर्विस सेंटर 
आधार सर्विस सेंटर पर नए आधार कार्ड बनाने के साथ इससे जुड़े दूसरे काम होते हैं। जो लोग आधार सेंटर का संचालन करते हैं, उन्हें इससे फायदा होता है।  जो लोग आधार कार्ड बनवाने के लिए लोग आधार सेंटर पर जाते हैं, उन्हें इसके लिए उन्हें शुल्क देना होता है। वहीं, आधार को बैंक अकाउंट ले लिंक कराने या इससे जुड़ी दूसरी सर्विसेस के लिए भी चार्ज देना होता है। इसमें से आधार सेंटर चलाने वाले को कमीशन मिलता है। यह आमदनी का अच्छा-खासा जरिया है। हर आधार सेंटर पर कम से कम दो-तीन लोग बतौर ऑपरेटर काम करते हैं।
(फाइल फोटो)
 

आधार सेंटर ऑपरेटर बनवाने के नाम पर हो रही ठगी
यूनीक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया  (UIDAI) को यह जानाकरी मिली है कि कुछ लोग आधार ऑपरेटर बनने के इच्छुक लोगों से पैसे ले रहे हैं। ये लोग कह रहे हैं कि वे अथॉरिटी से उन्हें आधार ऑपरेटर बनने व आधार सर्विस सेंटर खोलने की अनुमति दिलवा देंगे। यह सरासर धोखाधड़ी है, क्योंकि यह काम यूनीक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया का है ही नहीं।
(फाइल फोटो) 
 

आधार सेंटर ऑपरेटर बनवाने के नाम पर हो रही ठगी
यूनीक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया  (UIDAI) को यह जानाकरी मिली है कि कुछ लोग आधार ऑपरेटर बनने के इच्छुक लोगों से पैसे ले रहे हैं। ये लोग कह रहे हैं कि वे अथॉरिटी से उन्हें आधार ऑपरेटर बनने व आधार सर्विस सेंटर खोलने की अनुमति दिलवा देंगे। यह सरासर धोखाधड़ी है, क्योंकि यह काम यूनीक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया का है ही नहीं।
(फाइल फोटो) 
 

क्या जारी किया अलर्ट
आधार ऑपरेटर बनवाने और सर्विस सेंटर खुलवा देने के नाम पर जो धोखाधड़ी हो रही है, उसे लेकर ही  यूनीक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया  (UIDAI) ने ट्वीट कर अलर्ट जारी किया है। अथॉरिटी का कहना है कि अगर कोई इस नाम पर पैसे की मांग करता है, तो उसकी शिकायत 1947 नंबर पर कॉल कर दर्ज कराएं। रजिस्ट्रार से जुड़ी अन्य जानकारी के लिए https://uidai.gov.in/ecosystem/enrolment-ecosystem/registrars.html पर क्लिक कर सकते हैं। 
(फाइल फोटो)

क्या जारी किया अलर्ट
आधार ऑपरेटर बनवाने और सर्विस सेंटर खुलवा देने के नाम पर जो धोखाधड़ी हो रही है, उसे लेकर ही  यूनीक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया  (UIDAI) ने ट्वीट कर अलर्ट जारी किया है। अथॉरिटी का कहना है कि अगर कोई इस नाम पर पैसे की मांग करता है, तो उसकी शिकायत 1947 नंबर पर कॉल कर दर्ज कराएं। रजिस्ट्रार से जुड़ी अन्य जानकारी के लिए https://uidai.gov.in/ecosystem/enrolment-ecosystem/registrars.html पर क्लिक कर सकते हैं। 
(फाइल फोटो)

हेल्पलाइन पर कर सकते हैं संपर्क
अब आधार कार्ड से जुड़ी सभी समस्याएं एक फोन कॉल पर दूर हो जाएंगी। अगर आपको आधार कार्ड से जुड़ी कोई जानकारी हासिल करनी है तो आप टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर 1947 पर कॉल कर सकते हैं। यह हेल्पलाइन 12 भाषाओं  हिंदी, अंग्रेजी, तेलुगु, कन्नड़, तमिल, मलयालम, पंजाबी, गुजराती, मराठी, उड़िया, बंगाली, असमिया और उर्दू में उपलब्ध है। इस नंबर को याद करना भी बेहद आसान है, क्योंकि इसी साल देश आजाद हुआ था।
(फाइल फोटो)
 

हेल्पलाइन पर कर सकते हैं संपर्क
अब आधार कार्ड से जुड़ी सभी समस्याएं एक फोन कॉल पर दूर हो जाएंगी। अगर आपको आधार कार्ड से जुड़ी कोई जानकारी हासिल करनी है तो आप टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर 1947 पर कॉल कर सकते हैं। यह हेल्पलाइन 12 भाषाओं  हिंदी, अंग्रेजी, तेलुगु, कन्नड़, तमिल, मलयालम, पंजाबी, गुजराती, मराठी, उड़िया, बंगाली, असमिया और उर्दू में उपलब्ध है। इस नंबर को याद करना भी बेहद आसान है, क्योंकि इसी साल देश आजाद हुआ था।
(फाइल फोटो)
 

वॉइस रिस्पॉन्स सिस्टम है मौजूद
इस हेल्पलाइन पर इंटरैक्टिव वॉइस रिस्पॉन्स सिस्टम (IVRS) सपोर्ट 24×7 उपलब्ध है। इसके साथ ही कॉल सेंटर प्रतिनिधि सुबह 7 बजे से रात 11 बजे तक (सोमवार से शनिवार) मौजूद रहते हैं। वहीं, रविवार के दिन प्रतिनिधि सुबह 8 बजे से बजे से शाम 5 बजे तक रहते हैं।
(फाइल फोटो)
 

वॉइस रिस्पॉन्स सिस्टम है मौजूद
इस हेल्पलाइन पर इंटरैक्टिव वॉइस रिस्पॉन्स सिस्टम (IVRS) सपोर्ट 24×7 उपलब्ध है। इसके साथ ही कॉल सेंटर प्रतिनिधि सुबह 7 बजे से रात 11 बजे तक (सोमवार से शनिवार) मौजूद रहते हैं। वहीं, रविवार के दिन प्रतिनिधि सुबह 8 बजे से बजे से शाम 5 बजे तक रहते हैं।
(फाइल फोटो)
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios