Asianet News Hindi

UPSC Success Tips: यूपीएससी प्रीलिम्स 2021 क्रैक करने अपनाएं इस IAS के टिप्स, परफेक्ट स्ट्रेटजी है बहुत जरूरी

First Published Apr 2, 2021, 12:26 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

करियर डेस्क.  UPSC Success Tips: इस साल यूपीएससी की सिविल सेवा प्रारंभिक परीक्षा (UPSC CSE Prelims Exam 2021) 27 जून को होनी है। इसके लिए कैंडिडजेट्स जमकर तैयारी कर रहे होंगे। साथ ही परीक्षा में पास होने कड़ी मेहनत की भी जरूरत होती है। इसलिए हम कैंडिडेट्स को UPSC टॉपर्स के टिप्स और स्ट्रेटजी बता रहे हैं। इससे आप अपनी सफलता के लिए सही रणनीति बना सकते हैं। इस बार हम यूपीएससी परीक्षा 2019 में 21वीं रैंक हासिल करने वाले प्रत्युष रंजन की कहानी लेकर आए हैं। दिल्ली के प्रत्युष रंजन ने केवल 24 साल की उम्र में ही UPSC सिविल सेवा 2019 की परीक्षा पास कर ली थी। प्रत्युष ने यह सफलता अपने पहले प्रयास में ही हासिल की है। आइये जानते हैं कैसा रहा उनका यह सफर और वह इस वर्ष परीक्षा देने वाले उम्मीदवारों को क्या सलाह देते हैं।   
 

प्रत्युष ने यह पहला प्रयास IIM अहमदाबाद में MBA की पढ़ाई के दौरान दिया और 2019 में MBA की डिग्री हासिल करने के साथ साथ UPSC की परीक्षा भी पास कर ली है। प्रत्युष हमेशा से एक उन्नत छात्र रहे हैं। अपनी 12वीं की पढ़ाई पूरी करने के बाद उन्होंने JEE की प्रवेश परीक्षा पास की और IIT कानपुर में दाखिला लिया। IIT से B.Tech की डिग्री हासिल करने के बाद प्रत्युष ने CAT प्रवेश परीक्षा दी और उसे भी एक अच्छे रैंक के साथ पास किया। नतीजन उन्हें देश के सबसे सर्वश्रेष्ठ माने जाने वाले IIM अहमदाबाद में दाखिला मिल गया।

प्रत्युष ने यह पहला प्रयास IIM अहमदाबाद में MBA की पढ़ाई के दौरान दिया और 2019 में MBA की डिग्री हासिल करने के साथ साथ UPSC की परीक्षा भी पास कर ली है। प्रत्युष हमेशा से एक उन्नत छात्र रहे हैं। अपनी 12वीं की पढ़ाई पूरी करने के बाद उन्होंने JEE की प्रवेश परीक्षा पास की और IIT कानपुर में दाखिला लिया। IIT से B.Tech की डिग्री हासिल करने के बाद प्रत्युष ने CAT प्रवेश परीक्षा दी और उसे भी एक अच्छे रैंक के साथ पास किया। नतीजन उन्हें देश के सबसे सर्वश्रेष्ठ माने जाने वाले IIM अहमदाबाद में दाखिला मिल गया।

यही पर पढ़ाई के दौरान प्रत्युष ने सिविल सेवा परीक्षा देने का मन बनाया और MBA के आखिरी वर्ष में ही UPSC की परीक्षा देने का फैसला किया। योजनाबद्ध तैयारी के साथ कड़ी मेहनत से किया गया पहला प्रयास ही रंग लाया और प्रत्युष ने 2019 में सिविल सेवा परीक्षा पास कर 21वीं रैंक हासिल की। 

यही पर पढ़ाई के दौरान प्रत्युष ने सिविल सेवा परीक्षा देने का मन बनाया और MBA के आखिरी वर्ष में ही UPSC की परीक्षा देने का फैसला किया। योजनाबद्ध तैयारी के साथ कड़ी मेहनत से किया गया पहला प्रयास ही रंग लाया और प्रत्युष ने 2019 में सिविल सेवा परीक्षा पास कर 21वीं रैंक हासिल की। 

“UPSC की तैयारी के लिए ज़रूरी है परफेक्ट स्ट्रेटजी”

 

प्रत्युष कहते हैं की जब आप यूपीएससी परीक्षा देनी की ठाल लें तो सही रणनीति बनाने में समय दें। प्रत्युष सलाह देते हैं कि गूगल पर कम से दस टॉपर्स ब्लॉग देखें और समझें की UPSC की तैयारी में कितना समय निवेश करना होगा और क्या आप इसके लिए तैयार हैं। ब्लॉग पढ़ कर जानें की टॉपर्स ने तैयारी के लिए क्या रणनीति फॉलो की थी और सब जान कर ही अपनी क्षमता के अनुसार सोच समझ कर पढ़ने का टाइम टेबल तैयार करें। 
 

“UPSC की तैयारी के लिए ज़रूरी है परफेक्ट स्ट्रेटजी”

 

प्रत्युष कहते हैं की जब आप यूपीएससी परीक्षा देनी की ठाल लें तो सही रणनीति बनाने में समय दें। प्रत्युष सलाह देते हैं कि गूगल पर कम से दस टॉपर्स ब्लॉग देखें और समझें की UPSC की तैयारी में कितना समय निवेश करना होगा और क्या आप इसके लिए तैयार हैं। ब्लॉग पढ़ कर जानें की टॉपर्स ने तैयारी के लिए क्या रणनीति फॉलो की थी और सब जान कर ही अपनी क्षमता के अनुसार सोच समझ कर पढ़ने का टाइम टेबल तैयार करें। 
 

रणनीति तय करने के बाद तैयार करें बुकलिस्ट

 

प्रत्युष कहते हैं कि परीक्षा का नेचर समझने और स्ट्रेटजी के बाद अगला महत्वपूर्ण स्टेप अपनी बुक लिस्ट तैयार करना है। इसके लिए प्रत्युष सलाह देते हैं की  किसी भी बुक लिस्ट को ब्लाइंडली फॉलो न करें। रिसर्च कर अपने लिए बुक लिस्ट खुद तैयार करें। प्रत्युष कहते हैं कि यदि कोई बुक लिस्ट बनाने में एफर्ट नहीं लगाना चाहता तो उन्हें यह परीक्षा नहीं देनी चाहिए क्योंकि यह परीक्षा केवल मेहनत और निरंतरता से ही पास की जा सकती है। वह बताते हैं की कुछ कॉमन किताबों के अलावा आपको अपनी जरूरत के मुताबिक बुक लिस्ट तैयार करनी चाहिए।
 

रणनीति तय करने के बाद तैयार करें बुकलिस्ट

 

प्रत्युष कहते हैं कि परीक्षा का नेचर समझने और स्ट्रेटजी के बाद अगला महत्वपूर्ण स्टेप अपनी बुक लिस्ट तैयार करना है। इसके लिए प्रत्युष सलाह देते हैं की  किसी भी बुक लिस्ट को ब्लाइंडली फॉलो न करें। रिसर्च कर अपने लिए बुक लिस्ट खुद तैयार करें। प्रत्युष कहते हैं कि यदि कोई बुक लिस्ट बनाने में एफर्ट नहीं लगाना चाहता तो उन्हें यह परीक्षा नहीं देनी चाहिए क्योंकि यह परीक्षा केवल मेहनत और निरंतरता से ही पास की जा सकती है। वह बताते हैं की कुछ कॉमन किताबों के अलावा आपको अपनी जरूरत के मुताबिक बुक लिस्ट तैयार करनी चाहिए।
 

सही ऑप्शनल का चुनाव करना है एक अहम फैसला 

 

प्रत्युष कहते हैं की मेंस परीक्षा के लिए सही ऑप्शनल का चुनाव एक अहम कड़ी है। सही ऑप्शनल आपको मेंस में अच्छा स्कोर करने में मदद करता है। कोई भी ऑप्शनल सेलेक्ट करने से पहले यह देख लें कि आपको उस विषय में इंट्रेस्ट है कि नहीं क्योंकि आपको वह लंबे समय तक पढ़ना है। यदि विषय कुछ समय बाद बोरिंग लगने लगेगा  तो आप इसे नहीं पढ़ पाएंगे। 
 

सही ऑप्शनल का चुनाव करना है एक अहम फैसला 

 

प्रत्युष कहते हैं की मेंस परीक्षा के लिए सही ऑप्शनल का चुनाव एक अहम कड़ी है। सही ऑप्शनल आपको मेंस में अच्छा स्कोर करने में मदद करता है। कोई भी ऑप्शनल सेलेक्ट करने से पहले यह देख लें कि आपको उस विषय में इंट्रेस्ट है कि नहीं क्योंकि आपको वह लंबे समय तक पढ़ना है। यदि विषय कुछ समय बाद बोरिंग लगने लगेगा  तो आप इसे नहीं पढ़ पाएंगे। 
 

यदि आपके पास समय की कमी है तो ऐसे ऑप्शनल चुनें जिनका सिलेबस कम हो। एक अहम बात यह है  कि ऑप्शनल सेलेक्ट करने से पहले यह जाँच ले की उस विषय का मैटीरियल आसानी से उपलब्ध है। कई बार कुछ कैंडिडेट्स ऐसा ऑप्शनल चुन लेते हैं जिनका बाद में स्टडी मैटीरियल ही नहीं मिलता। ऐसे में बाद में उसे बदलने से पहले ही सब देख-परख कर चुनाव करें। 

 

यदि आपके पास समय की कमी है तो ऐसे ऑप्शनल चुनें जिनका सिलेबस कम हो। एक अहम बात यह है  कि ऑप्शनल सेलेक्ट करने से पहले यह जाँच ले की उस विषय का मैटीरियल आसानी से उपलब्ध है। कई बार कुछ कैंडिडेट्स ऐसा ऑप्शनल चुन लेते हैं जिनका बाद में स्टडी मैटीरियल ही नहीं मिलता। ऐसे में बाद में उसे बदलने से पहले ही सब देख-परख कर चुनाव करें। 

 

इस बारे में और जानकारी पाने के लिए टॉपर्स के ब्लॉग देख सकते हैं। पिछले साल के प्रश्न-पत्र देख सकते हैं और कुछ किताबें भी निकालकर देख सकते हैं ताकि अंदाजा हो जाए कि आगे क्या पढ़ना है। प्रत्युष का कहना है कि शुरुआत में कुछ समय लगाने से तैयारी के दौरान बाधाएं कम हो जाती हैं। इसलिए ज़रूरी है की शुरुआत से ही रणनीति बनाए और उसी को फॉलो करें। इसी के साथ साथ ऑप्शनल का चुनाव करने में भी सावधानी बरतें। प्रत्युष ने यह सभी बिंदुओं का पालन कर ही पहले एटेम्पट में सफलता हासिल की है और वह आशा करते हैं की उनके ये टिप्स UPSC की तैयारी करने वाले छात्रों के काम आएंगे। 

 

(Demo Pic)

इस बारे में और जानकारी पाने के लिए टॉपर्स के ब्लॉग देख सकते हैं। पिछले साल के प्रश्न-पत्र देख सकते हैं और कुछ किताबें भी निकालकर देख सकते हैं ताकि अंदाजा हो जाए कि आगे क्या पढ़ना है। प्रत्युष का कहना है कि शुरुआत में कुछ समय लगाने से तैयारी के दौरान बाधाएं कम हो जाती हैं। इसलिए ज़रूरी है की शुरुआत से ही रणनीति बनाए और उसी को फॉलो करें। इसी के साथ साथ ऑप्शनल का चुनाव करने में भी सावधानी बरतें। प्रत्युष ने यह सभी बिंदुओं का पालन कर ही पहले एटेम्पट में सफलता हासिल की है और वह आशा करते हैं की उनके ये टिप्स UPSC की तैयारी करने वाले छात्रों के काम आएंगे। 

 

(Demo Pic)

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios