Asianet News Hindi

जब 250 फाइटर लेकर अजय देवगन को बचाने पहुंचे पापा, ललकारते हुए कहा था- किसने लगाया मेरे बेटे को हाथ

First Published Oct 13, 2020, 5:54 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंबई. कोरोना (corona) की वजह से अभी भी लोग दहशत में ही जी रहे हैं। रोज इस वायरस की चपेट में लोग आ रहे हैं और कई तो मौत के मुंह में भी जा चुके हैं। भारत में सरकार ने पूरी तरह से अनलॉक की प्रक्रिया शुरू कर दी है। ऐसे में आमजनों की तरह ही बॉलीवुड सेलेब्स भी अपने-अपने काम पर लौट आए। वहीं, सेलेब्स से जुड़े कई कहानी किस्सा भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे है। इसी बीच अजय देवगन (ajay devgn) से जुड़ा एक मजेदार किस्सा वायरल हो रहा है। ये किस्सा उस दौरान का है जब अजय ने फिल्मों में आना शुरू ही किया था। इस किस्से को उन्होंने एक चैट शो में सुनाया था। आइए, आपको बताते है आखिर क्या है ये किस्सा...

अजय के पापा वीरू देवगन जाने माने फिल्म निर्देशक थे, जो एक्शन से भरपूर फिल्में बनाने में माहिर थे। इन दिनों अजय का एक वीडियो सोशल मीडिया पर काफी तेजी से वायरल हो रहा है, जो टीवी शो 'यारों की बारात' के एक एपिसोड से जुड़ा है।

अजय के पापा वीरू देवगन जाने माने फिल्म निर्देशक थे, जो एक्शन से भरपूर फिल्में बनाने में माहिर थे। इन दिनों अजय का एक वीडियो सोशल मीडिया पर काफी तेजी से वायरल हो रहा है, जो टीवी शो 'यारों की बारात' के एक एपिसोड से जुड़ा है।

इसमें उनके साथ अभिषेक बच्चन और संजय दत्त के अलावा शो के होस्ट साजिद खान और रितेश देशमुख भी नजर आ रहे हैं।

इसमें उनके साथ अभिषेक बच्चन और संजय दत्त के अलावा शो के होस्ट साजिद खान और रितेश देशमुख भी नजर आ रहे हैं।

शो में रितेश के एक सवाल पर अजय बताते हैं कि उनकी कई बार लड़ाई हुई है, बहुत बार मारा भी है और बहुत बार मार भी खाई।

शो में रितेश के एक सवाल पर अजय बताते हैं कि उनकी कई बार लड़ाई हुई है, बहुत बार मारा भी है और बहुत बार मार भी खाई।

अजय ने बताया था- एक बार तो उन्हें 25 लोगों ने मिलकर मारा था। उसके बाद इस घटना की पूरी कहानी साजिद खान आगे सुनाते हैं, क्योंकि इस घटना के दौरान साजिद भी अजय के साथ ही थे।

अजय ने बताया था- एक बार तो उन्हें 25 लोगों ने मिलकर मारा था। उसके बाद इस घटना की पूरी कहानी साजिद खान आगे सुनाते हैं, क्योंकि इस घटना के दौरान साजिद भी अजय के साथ ही थे।

साजिद ने बताया था- अजय के पास व्हाइट जीप थी, जिसमें वे सब घूमते थे। एक होटल के पास पतली सी गली थी, जहां से अचानक पतंग के पीछे भागते हुए एक बच्चा पता नहीं कहां से आ गया। इस दौरान जीप फूल स्पीड में थी, लेकिन सही समय पर ब्रेक लगने से बच्चे को कुछ नहीं हुआ, उसे चोट भी नहीं आई, लेकिन बच्चा डर गया था, इसलिए वो रोने लगा था।

साजिद ने बताया था- अजय के पास व्हाइट जीप थी, जिसमें वे सब घूमते थे। एक होटल के पास पतली सी गली थी, जहां से अचानक पतंग के पीछे भागते हुए एक बच्चा पता नहीं कहां से आ गया। इस दौरान जीप फूल स्पीड में थी, लेकिन सही समय पर ब्रेक लगने से बच्चे को कुछ नहीं हुआ, उसे चोट भी नहीं आई, लेकिन बच्चा डर गया था, इसलिए वो रोने लगा था।

इसके बाद धीरे-धीरे वहां लोग इकट्ठे होने लगे और देखते ही देखते हजार लोगों ने अजय को घेर लिया था। 

इसके बाद धीरे-धीरे वहां लोग इकट्ठे होने लगे और देखते ही देखते हजार लोगों ने अजय को घेर लिया था। 

उन्होंने बताया था- अचानक इस बात का पता अजय के पापा को चला और वे 250 फाइटर्स के साथ उस जगह पहुंच गए। 

उन्होंने बताया था- अचानक इस बात का पता अजय के पापा को चला और वे 250 फाइटर्स के साथ उस जगह पहुंच गए। 

साजिद ने बताया था- जैसे फिल्मों में होता है, ठीक वैसा ही सीन देखने को मिला था। उस वक्त अजय के पापा कहते हैं- कौन है जिसने मेरे बेटे को हाथ लगाया।

साजिद ने बताया था- जैसे फिल्मों में होता है, ठीक वैसा ही सीन देखने को मिला था। उस वक्त अजय के पापा कहते हैं- कौन है जिसने मेरे बेटे को हाथ लगाया।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios