Asianet News Hindi

वैलेंटाइन डे पर 14 नक्सली कपल्स ने की शादी, SP भी बनें बाराती, पुलिसवालों ने किया डांस और बजाया ढोल

First Published Feb 14, 2021, 8:42 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

छत्तीसगढ़ । वैलेंटाइन डे के मौके पर बस्तर इलाके 14 नक्सलियों की शादी हुई। इस शादी में पुलिस ने पूरा सहयोग किया। एसपी डॉ अभिषेक पल्लव बाराती बनकर नक्सलियों की शादी में शामिल हुए। जिसकी तस्वीरें भी सोशल मीडिया में वायरल हो रही हैं। बता दें कि इस अनोखी शादी में एक जोड़ा ऐसा भी था, जिसमें दूल्हा-दुल्हन दोनों ही पहले नक्सली थे। ऐसे में हम आपको अब विस्तार से बता रहे हैं। 

सभी नक्सलीय दंतेवाड़ा जिले की रहने वाले हैं। कारली हैलीपेड के पास बने मंडप में सरेंडर करने वाले 14 नक्सलियों की शादी हुई। इसमें एक जोड़ा ऐसा था जिसमें दूल्हा और दुल्हन दोनों ही पहले नक्सली थे, जो कई बार पुलिस पर हमला किया।

सभी नक्सलीय दंतेवाड़ा जिले की रहने वाले हैं। कारली हैलीपेड के पास बने मंडप में सरेंडर करने वाले 14 नक्सलियों की शादी हुई। इसमें एक जोड़ा ऐसा था जिसमें दूल्हा और दुल्हन दोनों ही पहले नक्सली थे, जो कई बार पुलिस पर हमला किया।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक कभी गांव की उन सड़कों को इन्होंने काटा जहां से फोर्स के लोग आना-जाना करते थे। नफरत और हिंसा के माहौल में दोनों के बीच प्यार पनपा। अब पुलिस ही उनकी मददगार साबित हुई।
 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक कभी गांव की उन सड़कों को इन्होंने काटा जहां से फोर्स के लोग आना-जाना करते थे। नफरत और हिंसा के माहौल में दोनों के बीच प्यार पनपा। अब पुलिस ही उनकी मददगार साबित हुई।
 

गुड्‌डू ने आम जिंदगी बिताने की सोची और सरेंडर कर दिया। उसने बताया कि सरेंडर के बाद समेली गांव की भूमे के संपर्क में आया। फोन पर बात शुरू हुई। दोनों ने तस्वीरें साझा की। दोनों ने प्यार का इजहार किया। भूमे को मिलने बुलाया और शादी की इच्छा जताई और भूमे ने हामी भर दी।

गुड्‌डू ने आम जिंदगी बिताने की सोची और सरेंडर कर दिया। उसने बताया कि सरेंडर के बाद समेली गांव की भूमे के संपर्क में आया। फोन पर बात शुरू हुई। दोनों ने तस्वीरें साझा की। दोनों ने प्यार का इजहार किया। भूमे को मिलने बुलाया और शादी की इच्छा जताई और भूमे ने हामी भर दी।

सोमडू व जोगी बताते हैं संगठन में रहते समय एक-दूसरे को जानते थे। प्रेम हुआ। बातचीत होती थी। सरेंडर के बाद प्यार और बढ़ गया। अब शादी के बाद वो सामान्य जिंदगी जीना चाहते हैं जो नक्सलियों के साथ मुमकिन नहीं थी।

सोमडू व जोगी बताते हैं संगठन में रहते समय एक-दूसरे को जानते थे। प्रेम हुआ। बातचीत होती थी। सरेंडर के बाद प्यार और बढ़ गया। अब शादी के बाद वो सामान्य जिंदगी जीना चाहते हैं जो नक्सलियों के साथ मुमकिन नहीं थी।

मुस्केल गांव का रहने वाला रतन ने बताया कि अब वो अपने बचपन के प्यार जानकी के साथ परिणय सूत्र में बंध चुका है। रतन ने हथियार के साथ सरेंडर किया था। वह बताता है कि जानकी से बहुत प्यार करता है। बचपन से ही जब प्यार की शुरुआत हुई तो शादी की ठान रखी थी। इस बीच वह नक्सल संगठन में चला गया। 
 

मुस्केल गांव का रहने वाला रतन ने बताया कि अब वो अपने बचपन के प्यार जानकी के साथ परिणय सूत्र में बंध चुका है। रतन ने हथियार के साथ सरेंडर किया था। वह बताता है कि जानकी से बहुत प्यार करता है। बचपन से ही जब प्यार की शुरुआत हुई तो शादी की ठान रखी थी। इस बीच वह नक्सल संगठन में चला गया। 
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios