खुशखबरी: वैज्ञानिकों का दावा, अब हवा में हो सकता है कोरोना का खात्मा

First Published 9, Jul 2020, 10:10 AM

नई दिल्ली. कोरोना वायरस की महामारी से पिछले कुछ महीने से पूरी दुनिया लड़ रही है और लोग इसके संक्रमण से बचने की हर संभव कोशिश कर रहे हैं। साथ ही सरकार और वैज्ञानिक इसके खिलाफ तमाम कोशिशें कर रहे हैं। डॉक्टर्स ने कुछ वैक्सीन और टीके का परिक्षण भी शुरू कर दिया है। इसके साथ ही अब वैज्ञानिकों द्वारा दावा किया जा रहा है कि उन्होंने ऐसा एयर फिल्टर बनाया है, जो हवा में ही कोरोना का खात्मा कर देगा।  
 

<p>वैज्ञानिकों के दावे के मुताबिक इस फिल्टर के जरिए बंद स्थानों जैसे की स्कूल, कॉलेज, अस्पताल, और विमान में कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोका जा सकता है। इस फिल्टर के जरिए वायरस को एक निश्चित और बंद जगह पर खत्म किया जा सकता है।</p>

वैज्ञानिकों के दावे के मुताबिक इस फिल्टर के जरिए बंद स्थानों जैसे की स्कूल, कॉलेज, अस्पताल, और विमान में कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोका जा सकता है। इस फिल्टर के जरिए वायरस को एक निश्चित और बंद जगह पर खत्म किया जा सकता है।

<p>मीडिया रिपोर्ट्स में शोध जर्नल मैटरियल्स टुडे फिजिक्स में प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक बताया जा रहा है कि इस एयर फिल्टर से गुजरने वाली हवा में एक बार में 99.8 फीसदी तक कोरोना वायरस को समाप्त करने की क्षमता है।</p>

मीडिया रिपोर्ट्स में शोध जर्नल मैटरियल्स टुडे फिजिक्स में प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक बताया जा रहा है कि इस एयर फिल्टर से गुजरने वाली हवा में एक बार में 99.8 फीसदी तक कोरोना वायरस को समाप्त करने की क्षमता है।

<p>रिपोर्ट में बताया जा रहा है कि इस उपकरण के व्यवसायिक उपयोग के लिए इसमें इस्तेमाल किए गए निकेल फोम को 200 डिग्री सेल्सियस तक गर्म करके बनाया गया है। इतना ही नहीं इस एयर फिल्टर ने जांच में घातक जीवाणु बैसिल्स एन्थ्रेसिस को 99 फीसदी तक खत्म करने में सफलता हासिल की।<br />
 </p>

रिपोर्ट में बताया जा रहा है कि इस उपकरण के व्यवसायिक उपयोग के लिए इसमें इस्तेमाल किए गए निकेल फोम को 200 डिग्री सेल्सियस तक गर्म करके बनाया गया है। इतना ही नहीं इस एयर फिल्टर ने जांच में घातक जीवाणु बैसिल्स एन्थ्रेसिस को 99 फीसदी तक खत्म करने में सफलता हासिल की।
 

<p>मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो यूनिवर्सिटी ऑफ ह्यूस्टन के रिसर्च में शामिल वैज्ञानिक झिफेंग रेन ने कहा कि यह एयर फिल्टर स्कूल, कॉलेज, हवाई अड्डों, दफ्तरों में कोरोना संक्रमण को रोकने में काफी मददगार साबित हो सकता है।</p>

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो यूनिवर्सिटी ऑफ ह्यूस्टन के रिसर्च में शामिल वैज्ञानिक झिफेंग रेन ने कहा कि यह एयर फिल्टर स्कूल, कॉलेज, हवाई अड्डों, दफ्तरों में कोरोना संक्रमण को रोकने में काफी मददगार साबित हो सकता है।

<p>वैज्ञानिकों का मानना है कि बंद स्थानों पर यह ज्यादा कारगर होगा। इसलिए, ऐसी क्षमता विकसित की जाए कि जिससे दुनिया भर की संस्थाओं में इसकी मदद से कामकाज शुरू किया जा सके।</p>

वैज्ञानिकों का मानना है कि बंद स्थानों पर यह ज्यादा कारगर होगा। इसलिए, ऐसी क्षमता विकसित की जाए कि जिससे दुनिया भर की संस्थाओं में इसकी मदद से कामकाज शुरू किया जा सके।

loader