Asianet News Hindi

1 ही मैच में 10 विकेट चटका मशहूर हुए थे कुंबले, गांगुली और द्रविड़ से थी गहरी यारी

First Published Oct 17, 2020, 9:15 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

स्पोर्ट्स डेस्क : भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कोच और किंग्स इलेवन पंजाब के मेंटर अनिल कुंबले (Anil Kumble) आज 50 साल के हो गए हैं। भारतीय क्रिकेट (Indian Cricket) टीम के जंबो कहे जाने वाले स्टार प्लेयर अनिल कुंबले ऐसे दूसरे गेंदबाज है जिन्होंने एक पारी में अकेले 10 विकेट लिए हैं। इसके अलावा उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में 619 विकेट लिए हैं और वनडे में 337 विकेट चटकाए है। क्रिकेट पिच पर उनकी फिरकी गेंद के साथ-साथ उनकी दोस्ती भी खूब सुर्खियों में रहती थी। आज उनके जन्मदिन पर हम आपको बताते हैं कुंबले की जिंदगी के कुछ बेहतरीन किस्से और रिकार्ड्स।

19 साल की उम्र में ही अनिल कुंबले ने मैनचेस्टर में ओल्ड ट्रैफर्ड में अपने टेस्ट करियर की। शुरुआत में उनका प्रदर्शन काफी हद तक असफल रहा। क्योंकि 1990 के दौरान सचिन का खुमार लोगों के सिर चढ़कर बोलता था।

19 साल की उम्र में ही अनिल कुंबले ने मैनचेस्टर में ओल्ड ट्रैफर्ड में अपने टेस्ट करियर की। शुरुआत में उनका प्रदर्शन काफी हद तक असफल रहा। क्योंकि 1990 के दौरान सचिन का खुमार लोगों के सिर चढ़कर बोलता था।

कुंबले ने उस समय सब को चौंका दिया था। जब उन्होंने 1999 में दिल्ली के फिरोजशाह कोटला स्टेडियम में पाकिस्तान के खिलाफ एक पारी में पूरे के पूरे 10 विकेट लिए थे। उनका ये रिकार्ड आज तक कोई नहीं तोड़ पाया है। उनसे पहले 1956 में एक इंग्लैंड के गेंदबाज ने भी ये कमाल किया था। हालांकि अनिल कुंबले ने उसकी तुलना में कम ओवरों को इस्तेमाल किया था। 

कुंबले ने उस समय सब को चौंका दिया था। जब उन्होंने 1999 में दिल्ली के फिरोजशाह कोटला स्टेडियम में पाकिस्तान के खिलाफ एक पारी में पूरे के पूरे 10 विकेट लिए थे। उनका ये रिकार्ड आज तक कोई नहीं तोड़ पाया है। उनसे पहले 1956 में एक इंग्लैंड के गेंदबाज ने भी ये कमाल किया था। हालांकि अनिल कुंबले ने उसकी तुलना में कम ओवरों को इस्तेमाल किया था। 

एक समय ऐसा भी आया जब मैच के दौरान उनका पूरा जबड़ा खून से लथपथ हो गया था। बावजूद इसके वे मुंह पर बैंडेट लगाकर बॉलिंग करने उतरे। इस दौरान उन्होंने ब्रायन लारा का विकेट लिया। इस घटना के बाद अनिल कुंबले एक रीयल हीरो बनकर देश में आए। ये मैच 2002 वेस्टइंडीज के खिलाफ था।

एक समय ऐसा भी आया जब मैच के दौरान उनका पूरा जबड़ा खून से लथपथ हो गया था। बावजूद इसके वे मुंह पर बैंडेट लगाकर बॉलिंग करने उतरे। इस दौरान उन्होंने ब्रायन लारा का विकेट लिया। इस घटना के बाद अनिल कुंबले एक रीयल हीरो बनकर देश में आए। ये मैच 2002 वेस्टइंडीज के खिलाफ था।

कुंबले उन क्रिकेटर्स में से एक थे जो काफी होशियार है। एक प्रतिभाशाली खिलाड़ी होने के साथ-साथ वह पढ़ाई में भी उतने ही अच्छे थे। उनके पास मैकेनिकल इंजीनियरिंग की डिग्री है और आज तक घरेलू क्रिकेट में वह भारत के सबसे पढ़े-लिखे क्रिकेटर हैं।

कुंबले उन क्रिकेटर्स में से एक थे जो काफी होशियार है। एक प्रतिभाशाली खिलाड़ी होने के साथ-साथ वह पढ़ाई में भी उतने ही अच्छे थे। उनके पास मैकेनिकल इंजीनियरिंग की डिग्री है और आज तक घरेलू क्रिकेट में वह भारत के सबसे पढ़े-लिखे क्रिकेटर हैं।

भारत के सबसे कामयाब गेंदबाज की लव स्टोरी भी बहुत सुर्खियों में रही है। वे प्यार में जरूर पड़े लेकिन एक शादीशुदा महिला के साथ। ट्रेवस एजेंसी में काम करने वाली चेतना रामातीर्थ (Chetna Ramatheertha) से पहली ही मुलाकात में उन्हें प्यार हो गया था। चेतना उस समय शादीशुदा थी। पहले पति से अलग होने के बाद उन्होंने 1999 में कुंबले से शादी की

भारत के सबसे कामयाब गेंदबाज की लव स्टोरी भी बहुत सुर्खियों में रही है। वे प्यार में जरूर पड़े लेकिन एक शादीशुदा महिला के साथ। ट्रेवस एजेंसी में काम करने वाली चेतना रामातीर्थ (Chetna Ramatheertha) से पहली ही मुलाकात में उन्हें प्यार हो गया था। चेतना उस समय शादीशुदा थी। पहले पति से अलग होने के बाद उन्होंने 1999 में कुंबले से शादी की

पहली शादी से चेतना को एक बेटी हुई थी। कुंबले ने तलाक के बाद उसे अपना नाम दिया। इसके लिए उन्हें लंबी कानूनी लड़ाई लड़नी पड़ी थी।

पहली शादी से चेतना को एक बेटी हुई थी। कुंबले ने तलाक के बाद उसे अपना नाम दिया। इसके लिए उन्हें लंबी कानूनी लड़ाई लड़नी पड़ी थी।

पर्सनल लाइफ में भले ही वे कई मुश्किलों से गुजरे हो पर मैदान पर उनकी गेंद से बड़े से बड़ा बल्लेबाज घबराता था। वही, उनके टीम पार्टनर रहें सौरव गांगुली और राहुल द्रविड़ से उनकी गहरी यारी थी। तीनों मैदान के बाहर भी अच्छे दोस्त हैं।

पर्सनल लाइफ में भले ही वे कई मुश्किलों से गुजरे हो पर मैदान पर उनकी गेंद से बड़े से बड़ा बल्लेबाज घबराता था। वही, उनके टीम पार्टनर रहें सौरव गांगुली और राहुल द्रविड़ से उनकी गहरी यारी थी। तीनों मैदान के बाहर भी अच्छे दोस्त हैं।

ये तो हम सब जानते है कि कुंबले को 'जंबो' कहकर बुलाया जाता है। लेकिन क्या आप ये जानते हैं कि उन्हें ये नाम भारत के पूर्व क्रिकेटर नवजोत सिंह सिद्धू ने दिया था। जब वे एक ईरानी ट्रॉफी मैच खेल रहे थे।
 

ये तो हम सब जानते है कि कुंबले को 'जंबो' कहकर बुलाया जाता है। लेकिन क्या आप ये जानते हैं कि उन्हें ये नाम भारत के पूर्व क्रिकेटर नवजोत सिंह सिद्धू ने दिया था। जब वे एक ईरानी ट्रॉफी मैच खेल रहे थे।
 

अनिल कुंबले क्रिकेट करियर बेहद शानदार रहा था। वे पाकिस्तान के खिलाफ टेस्ट मैच की एक पारी में पूरे 10 विकेट लेने वाले पहले गेंदबाज बनें। इसके साथ ही उन्होंने 132 टेस्ट मैच में 619 विकेट लिए थे। वहीं, 265 एकदिवसीय मैच में 337 विकेट लेने का रिकार्ड भी उनके नाम है। उन्होंने 2012 में क्रिकेट से संन्यास लिया था।

अनिल कुंबले क्रिकेट करियर बेहद शानदार रहा था। वे पाकिस्तान के खिलाफ टेस्ट मैच की एक पारी में पूरे 10 विकेट लेने वाले पहले गेंदबाज बनें। इसके साथ ही उन्होंने 132 टेस्ट मैच में 619 विकेट लिए थे। वहीं, 265 एकदिवसीय मैच में 337 विकेट लेने का रिकार्ड भी उनके नाम है। उन्होंने 2012 में क्रिकेट से संन्यास लिया था।

कुंबले एक साल के लिए भारतीय क्रिकेट टीम के चीफ कोच भी बने। इसके अलावा कुंबले वर्तमान में आईसीसी की क्रिकेट कमेटी के हैड है और अभी आईपीएल 2020 में  किंग्स इलेवन पंजाब (Kings XI Punjab) के चीफ कोच है।

कुंबले एक साल के लिए भारतीय क्रिकेट टीम के चीफ कोच भी बने। इसके अलावा कुंबले वर्तमान में आईसीसी की क्रिकेट कमेटी के हैड है और अभी आईपीएल 2020 में  किंग्स इलेवन पंजाब (Kings XI Punjab) के चीफ कोच है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios