Asianet News Hindi

इन 3 गुरुओं की बदौलत कोहली आज बन पाए हैं दुनिया के नंबर वन बल्लेबाज, खुद किया खुलासा

First Published Apr 27, 2020, 5:29 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. विराट कोहली इस वक्त दुनिया के नंबर वन बल्लेबाज हैं। अब तक के कैरियर में कोहली ने न जाने कितने रिकॉर्ड अपने नाम किए हैं। क्रिकेट का चाहे कोई भी प्रारूप हो उनका बल्ला जमकर बोलता है। लेकिन क्या आपको पाता है कि कोहली को इस मुकाम तक पहुंचाने में 3 लोगों की बड़ी भुमिका है। अगर नहीं पता है तो चलिए आज हम आपको बताते हैं कि कौन हैं वो लोग जिन्होंने विराट कोहली को दुनिया का नंबर वन बल्लेबाज बना दिया। 

दरअसल, विराट कोहली ने खुद इस बात का खुलासा किया है। उन्होंने एबी डीविलियर्स के साथ इंस्टाग्राम लाइव सेशन में बताया कि उनके जीवन में 3 ऐसे कोच हैं, जिन्होंने उनका करियर आगे बढ़ाने में काफी मदद की। 

दरअसल, विराट कोहली ने खुद इस बात का खुलासा किया है। उन्होंने एबी डीविलियर्स के साथ इंस्टाग्राम लाइव सेशन में बताया कि उनके जीवन में 3 ऐसे कोच हैं, जिन्होंने उनका करियर आगे बढ़ाने में काफी मदद की। 

कोहली ने कहा कि कुछ लोगों का मेरे करियर में बहुत बड़ा योगदान है। इनमें से एक कोच हैं गैरी कस्टर्न, जिनकी कोचिंग में भारत ने 2011 का वर्ल्ड कप खिताब जीता था।

कोहली ने कहा कि कुछ लोगों का मेरे करियर में बहुत बड़ा योगदान है। इनमें से एक कोच हैं गैरी कस्टर्न, जिनकी कोचिंग में भारत ने 2011 का वर्ल्ड कप खिताब जीता था।

विराट ने कहा कि जब वे भारतीय टीम में आए थे तो उस वक्त गैरी कर्स्टन ही कोच थे। उन्होने मेरी काफी मदद की। वे हमेशा हमें पॉजिटिव सलाह दिया करते थे। 

विराट ने कहा कि जब वे भारतीय टीम में आए थे तो उस वक्त गैरी कर्स्टन ही कोच थे। उन्होने मेरी काफी मदद की। वे हमेशा हमें पॉजिटिव सलाह दिया करते थे। 

कोहली ने बताया कि मुझे फ्रंट फुट की काफी दिक्कत थी। जब इस बारे में उन्होंने गैरी से बात की तो उन्होंने कहा कि फ्रंट फुट की चिंता मत करों, तुमहारा सिर एकदम सीधा है और गेंद पैड पर नहीं लग रही है। इस पॉजिटिव फीडबैक से मुझे करियर में काफी फायदा मिला। 

कोहली ने बताया कि मुझे फ्रंट फुट की काफी दिक्कत थी। जब इस बारे में उन्होंने गैरी से बात की तो उन्होंने कहा कि फ्रंट फुट की चिंता मत करों, तुमहारा सिर एकदम सीधा है और गेंद पैड पर नहीं लग रही है। इस पॉजिटिव फीडबैक से मुझे करियर में काफी फायदा मिला। 

उसके बाद कोहली ने बताया कि दक्षिण अफ्रीका के पूर्व दिग्गज विकेटकीपर बल्लेबाज मार्क बाउचर ने भी उनकी काफी मदद की। कोहली ने कहा कि गैरी कर्स्टन से पहले आईपीएल में मार्क बाउचर ने मेरी काफी मदद की थी। 
 

उसके बाद कोहली ने बताया कि दक्षिण अफ्रीका के पूर्व दिग्गज विकेटकीपर बल्लेबाज मार्क बाउचर ने भी उनकी काफी मदद की। कोहली ने कहा कि गैरी कर्स्टन से पहले आईपीएल में मार्क बाउचर ने मेरी काफी मदद की थी। 
 

उन्होंने मुझसे कहा था कि अगर 4 साल बाद मैं वापस इंडिया कमेंट्री के लिए आता हूं और तुम्हें भारत के लिए खेलता नहीं देखता हूं तो फिर मुझे काफी निराशा होगी।

उन्होंने मुझसे कहा था कि अगर 4 साल बाद मैं वापस इंडिया कमेंट्री के लिए आता हूं और तुम्हें भारत के लिए खेलता नहीं देखता हूं तो फिर मुझे काफी निराशा होगी।

कोहली ने बताया कि बाउचर मुझे नेट्स में ले जाया करते थे और टेनिस बॉल से शॉर्ट पिच गेंदों की प्रैक्टिस करवाया करते थे।

कोहली ने बताया कि बाउचर मुझे नेट्स में ले जाया करते थे और टेनिस बॉल से शॉर्ट पिच गेंदों की प्रैक्टिस करवाया करते थे।

उन्होंने मुझसे कहा था कि अगर तुम अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट खेलना चाहते हो तो फिर तुम्हे शॉर्ट बॉल खेलना होगा, नहीं तो क्रिकेट भूल जाओ।

उन्होंने मुझसे कहा था कि अगर तुम अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट खेलना चाहते हो तो फिर तुम्हे शॉर्ट बॉल खेलना होगा, नहीं तो क्रिकेट भूल जाओ।

इसके बाद विराट कोहली ने भारतीय टीम के पूर्व कोच डंकन फ्लेचर का नाम लिया और कहा कि उन्होंने मुझे काफी कुछ सिखाया है।

इसके बाद विराट कोहली ने भारतीय टीम के पूर्व कोच डंकन फ्लेचर का नाम लिया और कहा कि उन्होंने मुझे काफी कुछ सिखाया है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios