भारतीय टीम के इस खिलाड़ी पर टूटा गमों का पहाड़, इंडिया-ऑस्ट्रेलिया सीरीज से पहले ही मिली पिता के निधन की खबर

First Published 21, Nov 2020, 8:32 AM

स्पोर्ट्स डेस्क: आईपीएल 2020 खत्म होने के बाद टीम इंडिया ऑस्ट्रेलिया दौरे (india australia series) पर है। 27 नवंबर से शुरू होने वाले मैच के लिए टीम प्रैक्टिस कर रही है। इस बीच भारतीय टीम के तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज (Mohammed Siraj) को एक बड़ा झटका लगा है। सिराज के पिता मोहम्मद गौस का निधन हो गया। वे 53 साल के थे और फेफड़ों की बीमारी के चलते अपना इलाज करवा रहे थे। पिता की मौत की खबर के बाद ये खिलाड़ी पूरी तरह टूट गया है। सबसे बड़ी बात की सिराज पिता के अंतिम संस्कार के लिए हैदराबाद नहीं लौट पाएंगे। गौरतलब है कि भारतीय टीम 13 नवंबर को आस्ट्रेलिया पहुंचने के बाद से अभी 14 दिन के क्वारंटीन पीरियड से गुजर रही है। इस कारण वह इंडिया वापस नहीं आ पाएंगे।

<p>आगामी इंडिया-ऑस्ट्रेलिया सीरीज के लिए ऑस्ट्रेलिया में मौजूद तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज के पिता मोहम्मद गौस का निधन हो गया है।&nbsp;</p>

आगामी इंडिया-ऑस्ट्रेलिया सीरीज के लिए ऑस्ट्रेलिया में मौजूद तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज के पिता मोहम्मद गौस का निधन हो गया है। 

<p>पिता की मौत के बाद सिराज सदमे में हैं, क्योंकि वो पिता के अंतिम संस्कार में भी शामिल नहीं हो पाएंगे। दरअसल, कोविड19 के चलते टीम इंडिया के सभी प्लेयर्स फिलहाल क्वारंटीन पीरियड में हैं।</p>

पिता की मौत के बाद सिराज सदमे में हैं, क्योंकि वो पिता के अंतिम संस्कार में भी शामिल नहीं हो पाएंगे। दरअसल, कोविड19 के चलते टीम इंडिया के सभी प्लेयर्स फिलहाल क्वारंटीन पीरियड में हैं।

<p>सिराज ने कहा कि यह चौंकाने वाला है। मैंने अपने लाइफ का सबसे बड़ा सहारा खो दिया। निराश सिराज ने बताया कि मुझे देश के लिए खेलते हुए देखना उसका सपना था, लेकिन मुझे खुशी है कि मैं उनके सपने को पूरा कर सका और उन्हें खुशी दे पाया।</p>

सिराज ने कहा कि यह चौंकाने वाला है। मैंने अपने लाइफ का सबसे बड़ा सहारा खो दिया। निराश सिराज ने बताया कि मुझे देश के लिए खेलते हुए देखना उसका सपना था, लेकिन मुझे खुशी है कि मैं उनके सपने को पूरा कर सका और उन्हें खुशी दे पाया।

<p>बता दें कि सिराज के पिता मोहम्मद गौस एक ऑटो चालक थे। लेकिन पिता ने कभी आर्थिक तंगी को बेटे के क्रिकेटर बनने के सपने के आड़े नहीं आने दिया और तमाम दिक्कतों के बावजूद उन्होंने ऑटो चलाकर बेटे के लिए क्रिकेट की महंगी किट का इंतजाम किया।</p>

बता दें कि सिराज के पिता मोहम्मद गौस एक ऑटो चालक थे। लेकिन पिता ने कभी आर्थिक तंगी को बेटे के क्रिकेटर बनने के सपने के आड़े नहीं आने दिया और तमाम दिक्कतों के बावजूद उन्होंने ऑटो चलाकर बेटे के लिए क्रिकेट की महंगी किट का इंतजाम किया।

<p>सिराज के पिता की मौत पर रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने भी ट्वीट किया, ''मोहम्मद सिराज और उनके परिवार के प्रति हम तहेदिल से प्रार्थना करते हैं और शोक जताते हैं जिन्होंने अपने पिता को खो दिया। पूरी आरसीबी परिवार इस मुश्किल समय में आपके साथ है। मियां, मजबूत बने रहिए।''</p>

सिराज के पिता की मौत पर रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने भी ट्वीट किया, ''मोहम्मद सिराज और उनके परिवार के प्रति हम तहेदिल से प्रार्थना करते हैं और शोक जताते हैं जिन्होंने अपने पिता को खो दिया। पूरी आरसीबी परिवार इस मुश्किल समय में आपके साथ है। मियां, मजबूत बने रहिए।''

<p>इस बार आईपीएल में आरसीबी के यंग और सुपर टैलेंटेड प्लेयर मोहम्मज सिराज ने 4 ओवर में 8 रन देकर 3 विकेट लिए। इनमें उन्होंने 2 ओवर मेडन भी फेंके और इसके साथ ही वो आइपीएल के इतिहास में पहले ऐसे गेंदबाज बने जिन्होंने किसी मैच में लगातार दो ओवर मेडन फेंके।</p>

इस बार आईपीएल में आरसीबी के यंग और सुपर टैलेंटेड प्लेयर मोहम्मज सिराज ने 4 ओवर में 8 रन देकर 3 विकेट लिए। इनमें उन्होंने 2 ओवर मेडन भी फेंके और इसके साथ ही वो आइपीएल के इतिहास में पहले ऐसे गेंदबाज बने जिन्होंने किसी मैच में लगातार दो ओवर मेडन फेंके।

<p>बता दें कि साल 2017 में मोहम्मद सिराज का टीम इंडिया में चयन किया गया था। इसके बाद उन्हें आईपीएल के दसवें सीजन में सनराइजर्स हैदराबाद ने 2.6 करोड़ में खरीदा था। इसके बाद वो आरसीबी की टीम में शामिल हुए।</p>

बता दें कि साल 2017 में मोहम्मद सिराज का टीम इंडिया में चयन किया गया था। इसके बाद उन्हें आईपीएल के दसवें सीजन में सनराइजर्स हैदराबाद ने 2.6 करोड़ में खरीदा था। इसके बाद वो आरसीबी की टीम में शामिल हुए।

<p>सिराज सिर्फ एक शानदार बॉलर ही नहीं बल्कि बेहद नेकदिल इंसान भी है। वह अपने घर के आसपास जरूरतमंद बच्चों को फ्री में क्रिकेट कोचिंग देते हैं। उनका कहना है कि पैसा कभी भी टैलेंट के आगे रोड़ा नहीं बनना चाहिए।</p>

सिराज सिर्फ एक शानदार बॉलर ही नहीं बल्कि बेहद नेकदिल इंसान भी है। वह अपने घर के आसपास जरूरतमंद बच्चों को फ्री में क्रिकेट कोचिंग देते हैं। उनका कहना है कि पैसा कभी भी टैलेंट के आगे रोड़ा नहीं बनना चाहिए।