Asianet News Hindi

किसी पर लगा हत्या का आरोप, तो कोई कर रहा खेती-किसानी, IPL के बाद बर्बाद हुई इन 10 खिलाड़ियों की जिंदगी

First Published Apr 3, 2021, 8:21 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

स्पोर्ट्स डेस्क : आईपीएल 2021 (IPL2021) की शुरुआत बस कुछ ही दिनों में होने वाली है। ये एक ऐसा प्लेटफॉर्म है, जहां से भारतीय युवा खिलाड़ियों को आगे बढ़ने का मौका मिलता है। जसप्रीत बुमराह से लेकर टी नटराजन तक आईपीएल के रास्ते ही इंटरनेशनल क्रिकेट में शामिल हुए थे। लेकिन क्या आप जानते हैं, आईपीएल के कुछ खिलाड़ी ऐसे भी है, जो बेहतरीन फॉर्म के बाद भी ज्यादा कमाल नहीं कर पाए और अब गुमनामी की जिंदगी जीने को मजबूर है। आइए आज आपको ऐसे ही 10 खिलाड़ियों के बारे में बताते हैं, जिनके क्रिकेट करियर पर आईपीएल खेलने के बाद ब्रेक लग गया....

<p><strong>सौरभ तिवारी</strong><br />
झारखंड के सौरभ तिवारी (Saurabh Tiwari) ने एक समय इंडियन क्रिकेट टीम में अपनी जगह पक्की कर ली थी और आईपीएल में मुंबई इंडियंस के खेमे में उन्होंने अपनी जगह बनाई थी। इनकी ताबड़तोड़ बल्लेबाजी को देख लोग इन्हें झारखंड का अगला महेंद्र सिंह धोनी कहने लगे थे। उन्होंने IPL में 69 मैच खेले और 1379 रन बनाए हैं, लेकिन 2010 के बाद से वह गायब हो गए हैं और एक भी मैच नहीं खेला है।</p>

सौरभ तिवारी
झारखंड के सौरभ तिवारी (Saurabh Tiwari) ने एक समय इंडियन क्रिकेट टीम में अपनी जगह पक्की कर ली थी और आईपीएल में मुंबई इंडियंस के खेमे में उन्होंने अपनी जगह बनाई थी। इनकी ताबड़तोड़ बल्लेबाजी को देख लोग इन्हें झारखंड का अगला महेंद्र सिंह धोनी कहने लगे थे। उन्होंने IPL में 69 मैच खेले और 1379 रन बनाए हैं, लेकिन 2010 के बाद से वह गायब हो गए हैं और एक भी मैच नहीं खेला है।

<p><strong>परवेज रसूल</strong><br />
जम्मू कश्मीर से आने वाले इस खिलाड़ी ने भारतीय क्रिकेट टीम में अपनी जगह बनाई थी। वे टीम के आलराउंडर खिलाड़ी रहे हैं। भारतीय टीम के लिए इस खिलाड़ी ने 2014 में बांग्लादेश के खिलाफ अपना डेब्यू किया था। 2013 में वह पुणे वारियर्स इंडिया और 2014-2015सनराइजर्स हैदराबाद की टीम का हिस्सा थे, लेकिन उसके बाद उन्हें किसी टीम में जगह नहीं मिली।</p>

परवेज रसूल
जम्मू कश्मीर से आने वाले इस खिलाड़ी ने भारतीय क्रिकेट टीम में अपनी जगह बनाई थी। वे टीम के आलराउंडर खिलाड़ी रहे हैं। भारतीय टीम के लिए इस खिलाड़ी ने 2014 में बांग्लादेश के खिलाफ अपना डेब्यू किया था। 2013 में वह पुणे वारियर्स इंडिया और 2014-2015सनराइजर्स हैदराबाद की टीम का हिस्सा थे, लेकिन उसके बाद उन्हें किसी टीम में जगह नहीं मिली।

<p><strong>पॉल वलथाटी</strong><br />
पॉल चंद्रशेखर वल्थाटी 2009-2010 में राजस्थान रॉयल्स का हिस्सा रहे थे। इसके बाद उन्हें 2011-2013 तक किंग्स इलेवन पंजाब (अब पंजाब किंग्स) में खेलने का मौका मिला। आईपीएल 2011 में एक मैच में चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ पंजाब के ओपनर पॉल वलथाटी ने 63 गेंदों पर 120 रन की तूफानी पारी खेली थी। हालांकि, वह इस एक मैच के बाद कभी आईपीएल में अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाए।</p>

पॉल वलथाटी
पॉल चंद्रशेखर वल्थाटी 2009-2010 में राजस्थान रॉयल्स का हिस्सा रहे थे। इसके बाद उन्हें 2011-2013 तक किंग्स इलेवन पंजाब (अब पंजाब किंग्स) में खेलने का मौका मिला। आईपीएल 2011 में एक मैच में चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ पंजाब के ओपनर पॉल वलथाटी ने 63 गेंदों पर 120 रन की तूफानी पारी खेली थी। हालांकि, वह इस एक मैच के बाद कभी आईपीएल में अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाए।

<p><strong>मनविंदर बिस्ला</strong><br />
2011-12 में मनविंदर बिस्ला को कोलकाता नाइट राइडर्स ने साइन किया था। उन्होंने पहले 5 मैचों में केकेआर में विकेट कीपिंग भी की थी। उन्होंने आईपीएल 2012 के फाइनल में केकेआर के लिए 48 गेंदों पर 89 रन की शानदार पारी खेली थी और अपनी टीम को आईपीएल 2012 का चैंपियन बनाया था। इसके लिए उन्हें मैन ऑफ द मैच भी दिया गया था। लेकिन वह इस पारी के अलावा कभी भी आईपीएल में कुछ खास नहीं कर पाए और अब आईपीएल से दूर हो गए हैं।</p>

मनविंदर बिस्ला
2011-12 में मनविंदर बिस्ला को कोलकाता नाइट राइडर्स ने साइन किया था। उन्होंने पहले 5 मैचों में केकेआर में विकेट कीपिंग भी की थी। उन्होंने आईपीएल 2012 के फाइनल में केकेआर के लिए 48 गेंदों पर 89 रन की शानदार पारी खेली थी और अपनी टीम को आईपीएल 2012 का चैंपियन बनाया था। इसके लिए उन्हें मैन ऑफ द मैच भी दिया गया था। लेकिन वह इस पारी के अलावा कभी भी आईपीएल में कुछ खास नहीं कर पाए और अब आईपीएल से दूर हो गए हैं।

<p><strong>अभिषेक नायर&nbsp;</strong><br />
आईपीएल 2009 का पहला ही मुकाबला मुंबई इंडियंस और चेन्नई सुपर किंग्स के बीच खेला गया था। इस मुकाबले में मुंबई इंडियंस के लिए अभिषेक नायर ने 14 गेंदों पर 35 रन की तूफानी पारी खेली थी, लेकिन उसके बाद वह ज्यादा कमाल नहीं कर पाए।</p>

अभिषेक नायर 
आईपीएल 2009 का पहला ही मुकाबला मुंबई इंडियंस और चेन्नई सुपर किंग्स के बीच खेला गया था। इस मुकाबले में मुंबई इंडियंस के लिए अभिषेक नायर ने 14 गेंदों पर 35 रन की तूफानी पारी खेली थी, लेकिन उसके बाद वह ज्यादा कमाल नहीं कर पाए।

<p><strong>स्वप्निल असनोदकर</strong><br />
2008 में आईपीएल के पहले सीजन में स्वप्निल असनोदकर राजस्थान रॉयल्स का हिस्सा थे। उन्होंने पहले सीजन में 9 मैचों में 311 रन बनाए थे, लेकिन दूसरा सीजन उनका निराशाजनक रहा। 2009 सीजन में वे 8 मैचों में 98 रन ही बना सके। इसके बाद उन्होंने 2011 में आखिरी आईपीएल खेला।</p>

स्वप्निल असनोदकर
2008 में आईपीएल के पहले सीजन में स्वप्निल असनोदकर राजस्थान रॉयल्स का हिस्सा थे। उन्होंने पहले सीजन में 9 मैचों में 311 रन बनाए थे, लेकिन दूसरा सीजन उनका निराशाजनक रहा। 2009 सीजन में वे 8 मैचों में 98 रन ही बना सके। इसके बाद उन्होंने 2011 में आखिरी आईपीएल खेला।

<p><strong>मनप्रीत गोनी</strong><br />
2008 में IPL के पहले सीजन में मनप्रीत गोगी को सीएसके में जगह मिली। उन्होंने इस सीजन 16 मैचों में 17 विकेट लिए। गोगी ने कुल 6 आईपीएल के सीजन खेलें। लेकिन 2013 में उनकी लाइफ में टर्निंग प्वाइंट उस वक्त आया, जब उनकी मां ने उनपर हत्या की धमकी देने का आरोप लगाया।</p>

मनप्रीत गोनी
2008 में IPL के पहले सीजन में मनप्रीत गोगी को सीएसके में जगह मिली। उन्होंने इस सीजन 16 मैचों में 17 विकेट लिए। गोगी ने कुल 6 आईपीएल के सीजन खेलें। लेकिन 2013 में उनकी लाइफ में टर्निंग प्वाइंट उस वक्त आया, जब उनकी मां ने उनपर हत्या की धमकी देने का आरोप लगाया।

<p><strong>राहुल शर्मा</strong><br />
2011 में पुणे वॉरियर्स की टीम में शामिल हुए राहुल वर्मा ने पहले सीजन में शानदार प्रदर्शन किया था। उन्होंने 14 मैचों में 16 विकेट लिए थे। 2012 में उनका नाम मुंबई में हुई एक रेव पार्टी में भी सामने आया था और उनको बेल्स पाल्सी नाम की बीमारी भी हो गई थी, तब से वह आईपीएल से दूर है। इस साल उनके पिता का भी निधन कोरोना के चलते हो गया है।</p>

राहुल शर्मा
2011 में पुणे वॉरियर्स की टीम में शामिल हुए राहुल वर्मा ने पहले सीजन में शानदार प्रदर्शन किया था। उन्होंने 14 मैचों में 16 विकेट लिए थे। 2012 में उनका नाम मुंबई में हुई एक रेव पार्टी में भी सामने आया था और उनको बेल्स पाल्सी नाम की बीमारी भी हो गई थी, तब से वह आईपीएल से दूर है। इस साल उनके पिता का भी निधन कोरोना के चलते हो गया है।

<p><strong>कामरान खान&nbsp;</strong><br />
आईपीएल के इतिहास में पहला सुपर ओवर फेंकने का रिकॉर्ड कामरान खान के नाम है। आईपीएल में उन्होंने &nbsp;2009 और 2010 में राजस्थान के लिए खेला और 2011 में उन्हें पुणे वॉरियर्स ने अपनी टीम में जगह दी। उन्होंने आईपीएल में 9 मैचों में 9 विकेट लिए थे, लेकिन इसके बाद वह ज्यादा कमाल नहीं कर पाए। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो कामरान खान अब अपना परिवार पालने के लिए खेती करते हैं।</p>

कामरान खान 
आईपीएल के इतिहास में पहला सुपर ओवर फेंकने का रिकॉर्ड कामरान खान के नाम है। आईपीएल में उन्होंने  2009 और 2010 में राजस्थान के लिए खेला और 2011 में उन्हें पुणे वॉरियर्स ने अपनी टीम में जगह दी। उन्होंने आईपीएल में 9 मैचों में 9 विकेट लिए थे, लेकिन इसके बाद वह ज्यादा कमाल नहीं कर पाए। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो कामरान खान अब अपना परिवार पालने के लिए खेती करते हैं।

<p><strong>केवन कूपर&nbsp;</strong><br />
वेस्टइंडीज के केवन कूपर ने आईपीएल 2012 में राजस्थान रॉयल्स के लिए खेलते हुए किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ पहले बल्ले से 3 गेंद पर 11 रन बनाए थे। इसके बाद उन्होंने 4 ओवर में मात्र 26 रन देकर 4 विकेट भी लिए थे, जिसके लिए उन्हें मैन ऑफ द मैच भी दिया गया था। लेकिन इसके बाद से वह कभी भी आईपीएल में वह अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाए।</p>

केवन कूपर 
वेस्टइंडीज के केवन कूपर ने आईपीएल 2012 में राजस्थान रॉयल्स के लिए खेलते हुए किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ पहले बल्ले से 3 गेंद पर 11 रन बनाए थे। इसके बाद उन्होंने 4 ओवर में मात्र 26 रन देकर 4 विकेट भी लिए थे, जिसके लिए उन्हें मैन ऑफ द मैच भी दिया गया था। लेकिन इसके बाद से वह कभी भी आईपीएल में वह अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाए।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios