Asianet News Hindi

पुलिस की गाड़ी चलाते हैं इस खिलाड़ी के पिता, 4 बार फेल होने के बाद IPL में मिली जगह, अब किया ये कारनामा

First Published May 1, 2021, 8:28 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

स्पोर्ट्स डेस्क : आईपीएल2021 (IPL 2021) में शुक्रवार को खेले गए मैच में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु को पंजाब किंग्स (Royal Challengers Bangalore vs Punjab Kings) के सामने हार का सामना करना पड़ा। पंजाब की गेंदबाजी की आगे विराट की सेना पस्त नजर आई और केएल राहुल की टीम ने बड़ी आसानी से 34 रनों से ये मैच जीत लिया। वैसे तो क्रिकेट में जीत का श्रेय कई खिलाड़ियों को जाता है, लेकिन इस मैच में जिस खिलाड़ी को सबसे ज्यादा वाहवाही मिल रही है, वो है पंजाब का गबरू जवान हरप्रीत बरार (Harpreet Brar)। जिन्होंने पहले बल्लेबाजी में कमाल करके दिखाया और फिर विराट कोहली, ग्लेन मैक्सवेल और एबी डीविलियर्स जैसे दिग्गजों का विकेट लेकर टीम की जीत में बड़ा योगदान दिया। लेकिन क्या आप जानते हैं, हरप्रीत के क्रिकेटर बनने का सपना इतनी आसानी से पूरा नहीं हुआ। पिता की आर्थिक हालात खराब होने के चलते उनके ऊपर बहुत दवाब था, फिर भी खिलाड़ी की कड़ी मेहनत ने उन्हें इस मुकाम तक पहुंचाया। आइए आज आपको बताते हैं, पंजाब किंग्स के इस शेर के बारे में....

एकेडमी का बनैर देख किया क्रिकेटर का बनने का फैसला
16 सिंतबर 1995 को पंजाब के छोटे से जिले मोगा में जन्में हरप्रीत बरार को क्रिकेटर बनने का सपना बड़ी अजीब तरीके से आया। दरअसल, बचपन में जब वह अपने घर वालों के साथ मार्केट गए थे, तो वहां क्रिकेट एकेडमी का बैनर देखकर उन्होंने तय कर लिया कि वह क्रिकेटर ही बनेंगे और उसी दिन से कड़ी मेहनत शुरू कर दी।

एकेडमी का बनैर देख किया क्रिकेटर का बनने का फैसला
16 सिंतबर 1995 को पंजाब के छोटे से जिले मोगा में जन्में हरप्रीत बरार को क्रिकेटर बनने का सपना बड़ी अजीब तरीके से आया। दरअसल, बचपन में जब वह अपने घर वालों के साथ मार्केट गए थे, तो वहां क्रिकेट एकेडमी का बैनर देखकर उन्होंने तय कर लिया कि वह क्रिकेटर ही बनेंगे और उसी दिन से कड़ी मेहनत शुरू कर दी।

खराब थी घर की आर्थिक स्थिति
उन्होंने क्रिकेटर बनने का सपना तो देख लिया, लेकिन घर स्थिति देख उनपर नौकरी का दवाब ज्यादा था। बता दें कि हरप्रीत के पिता पंजाब पुलिस में ड्राइवर हैं। ऐसे में पिता चाहते थे, कि बेटा खेल-कूद छोड़ कोई अच्छी नौकरी करें।

खराब थी घर की आर्थिक स्थिति
उन्होंने क्रिकेटर बनने का सपना तो देख लिया, लेकिन घर स्थिति देख उनपर नौकरी का दवाब ज्यादा था। बता दें कि हरप्रीत के पिता पंजाब पुलिस में ड्राइवर हैं। ऐसे में पिता चाहते थे, कि बेटा खेल-कूद छोड़ कोई अच्छी नौकरी करें।

लगातार मिली क्रिकेट में असफलता
अच्छा खिलाड़ी होने के बाद हरप्रीत बरार को फर्स्ट क्लास क्रिकेट में जगह नहीं मिली। उन्होंने अभी तक फर्स्ट क्लास क्रिकेट नहीं खेला है। बाएं हाथ के स्पिनर ने पंजाब की टीम में आने के लिए कई जतन किए, कई मैच विनिंग परफॉर्मेंस दी लेकिन किस्मत ने हरप्रीत का साथ नहीं दिया। उन्होंने पंजाब किंग्स की टीम में शामिल होने के लिए 4 बार ट्रायल दिया, पर एक भी बार उनका सेलेक्शन नहीं हुआ।

लगातार मिली क्रिकेट में असफलता
अच्छा खिलाड़ी होने के बाद हरप्रीत बरार को फर्स्ट क्लास क्रिकेट में जगह नहीं मिली। उन्होंने अभी तक फर्स्ट क्लास क्रिकेट नहीं खेला है। बाएं हाथ के स्पिनर ने पंजाब की टीम में आने के लिए कई जतन किए, कई मैच विनिंग परफॉर्मेंस दी लेकिन किस्मत ने हरप्रीत का साथ नहीं दिया। उन्होंने पंजाब किंग्स की टीम में शामिल होने के लिए 4 बार ट्रायल दिया, पर एक भी बार उनका सेलेक्शन नहीं हुआ।

क्रिकेट छोड़ कनाडा जाने का कर लिया था फैसला
क्रिकेटर की जिंदगी में एक दौर ऐसा आया कि लगातार मिली असफलतों के बाद उन्होंने सबकुछ छोड़ कनाडा जाने का फैसला कर लिया था। लेकिन उसी समय हरप्रीत बरार को साल 2019 में पंजाब किंग्स ने 20 लाख रुपये में अपनी टीम में शामिल कर लिया।

क्रिकेट छोड़ कनाडा जाने का कर लिया था फैसला
क्रिकेटर की जिंदगी में एक दौर ऐसा आया कि लगातार मिली असफलतों के बाद उन्होंने सबकुछ छोड़ कनाडा जाने का फैसला कर लिया था। लेकिन उसी समय हरप्रीत बरार को साल 2019 में पंजाब किंग्स ने 20 लाख रुपये में अपनी टीम में शामिल कर लिया।

इस सीजन मिला मेहनत का इनाम
वैसे तो हरप्रीत बरार ने 2019 और 2020 में कुल 3 मैच खेले थे, पर वह कुछ खास कमाल नहीं कर पाए थे। इस खिलाड़ी की जिंदगी का सबसे बड़ा दिन 30 अप्रैल 2021 का रहा, जब उन्होंने दुनिया के सबसे बड़े 3 बल्लेबाज को अपनी स्पिन गेंदबाजी के जाल में फंसाया और आउट किया। 

इस सीजन मिला मेहनत का इनाम
वैसे तो हरप्रीत बरार ने 2019 और 2020 में कुल 3 मैच खेले थे, पर वह कुछ खास कमाल नहीं कर पाए थे। इस खिलाड़ी की जिंदगी का सबसे बड़ा दिन 30 अप्रैल 2021 का रहा, जब उन्होंने दुनिया के सबसे बड़े 3 बल्लेबाज को अपनी स्पिन गेंदबाजी के जाल में फंसाया और आउट किया। 

कोहली-एबीडी और मैक्सी के भेजा पवेलियन
हरप्रीत बरार ने शुक्रवार को खेले गए मैच में 10वें ओवर की पहली गेंद पर रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के कप्तान विराट कोहली को 35 रनों पर बोल्ड किया। इसके बाद दूसरी ही गेंद पर आईपीएल के बिग शो ग्लेन मैक्सवेल को बिना खाता खोले चलता किया। इतना ही नहीं उन्होंने 12वें ओवर की पहली गेंद पर मिस्टर 36 यानी कि एबी डीविलियर्स को महज 3 रन पर आउट किया और पहली बार आईपीएल में 3 विकेट अपने नाम किए। 

कोहली-एबीडी और मैक्सी के भेजा पवेलियन
हरप्रीत बरार ने शुक्रवार को खेले गए मैच में 10वें ओवर की पहली गेंद पर रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के कप्तान विराट कोहली को 35 रनों पर बोल्ड किया। इसके बाद दूसरी ही गेंद पर आईपीएल के बिग शो ग्लेन मैक्सवेल को बिना खाता खोले चलता किया। इतना ही नहीं उन्होंने 12वें ओवर की पहली गेंद पर मिस्टर 36 यानी कि एबी डीविलियर्स को महज 3 रन पर आउट किया और पहली बार आईपीएल में 3 विकेट अपने नाम किए। 

गेंद से साथ बल्ले से भी किया कमाल
हरप्रीत बरार ने 4 ओवर में सिर्फ 19 रन देकर 3 विकेट तो चटकाए ही, साथ ही बल्लेबाजी में भी शानदार प्रदर्शन किया। उन्होंने 17 बॉलों पर 1 चौके और 2 छक्के की मदद से नाबाद 25 रनों की पारी खेली।

गेंद से साथ बल्ले से भी किया कमाल
हरप्रीत बरार ने 4 ओवर में सिर्फ 19 रन देकर 3 विकेट तो चटकाए ही, साथ ही बल्लेबाजी में भी शानदार प्रदर्शन किया। उन्होंने 17 बॉलों पर 1 चौके और 2 छक्के की मदद से नाबाद 25 रनों की पारी खेली।

ऐसा रहा अबतक का क्रिकेट करियर
हरप्रीत बरार ने अबतक एक लिस्ट ए मैच और 11 टी20 मैच खेले हैं। इसके अलावा पिछले साल सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में बरार ने पंजाब के लिए सीरीज में 9 विकेट चटकाए थे।

ऐसा रहा अबतक का क्रिकेट करियर
हरप्रीत बरार ने अबतक एक लिस्ट ए मैच और 11 टी20 मैच खेले हैं। इसके अलावा पिछले साल सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में बरार ने पंजाब के लिए सीरीज में 9 विकेट चटकाए थे।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios