Asianet News Hindi

अनुष्का से लेकर करीना को प्रेग्नेंसी में हो चुकी है ये परेशानी, भूलकर भी आप न करें नजर अंदाज

First Published Feb 10, 2021, 8:15 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

हेल्थ डेस्क : मां बनना किसी भी महिला के लिए दुनिया की सबसे बड़ी खुशी होती है। लेकिन इस दौरान गर्भवती महिलाओं को कई सारी परेशानियों का सामना भी करना पड़ता है। मानसिक परेशानियों के साथ भी शाररिक परेशानी से भी जूझना पड़ता है। मिचली आना, चक्कर आना, वजन बढ़ जाना, ब्लीडिंग होना, चिड़चिड़ापन होना, सजून आना और पेट में दर्द होना ये समस्याएं हर गर्भवती को होती है। इसमें से एक परेशानी बहुत गंभीर रूप ले सकती है, वो है मसूड़ों में सूजन आना। हाल ही में मां बनी अनुष्का शर्मा भी इस परेशानी से जूझ चुकी हैं। वहीं, करीना से लेकर कई प्रेग्नेंट महिलाओं को मसूड़ों में सूजन (gums swelling) की दिक्कत प्रेग्नेंसी के दौरान होती है।

वैसे तो शरीर में सूजन आ जाना गर्भावस्था का एक सामान्य लक्षण है। लेकिन जब ये सूजन दांतों और मसूड़ों तक पहुंच जाती है, तो ये बहुत कष्ट दायक हो जाती है।

वैसे तो शरीर में सूजन आ जाना गर्भावस्था का एक सामान्य लक्षण है। लेकिन जब ये सूजन दांतों और मसूड़ों तक पहुंच जाती है, तो ये बहुत कष्ट दायक हो जाती है।

गर्भावस्था के दौरान हॉर्मोनों की वजह से आपके मसूढ़ों में सूजन आती है, ये लाल हो सकते हैं और इनमें दर्द भी हो सकता है। इस वजह से बार-बार खून भी आ सकता है। कई बार मसूड़ों के साथ ही होठों पर भी सूजन आ सकती है। 

गर्भावस्था के दौरान हॉर्मोनों की वजह से आपके मसूढ़ों में सूजन आती है, ये लाल हो सकते हैं और इनमें दर्द भी हो सकता है। इस वजह से बार-बार खून भी आ सकता है। कई बार मसूड़ों के साथ ही होठों पर भी सूजन आ सकती है। 

प्रेग्नेंसी में दांत और मसूड़े कमजोर हो जाते हैं और यही वजह है कि बॉलीवुड एक्‍ट्रेस अनुष्‍का शर्मा ने भी अपनी प्रेग्‍नेंसी में डेंटल चेकअप करवाया था। प्रेग्‍नेंसी में महिलाओं को निय‍मित डेंटल चेकअप करवाते रहने की सलाह दी जाती है। हालांकि इस दौरान दांतों का एक्स-रे करवाने की सलह नहीं दी जाती है।

प्रेग्नेंसी में दांत और मसूड़े कमजोर हो जाते हैं और यही वजह है कि बॉलीवुड एक्‍ट्रेस अनुष्‍का शर्मा ने भी अपनी प्रेग्‍नेंसी में डेंटल चेकअप करवाया था। प्रेग्‍नेंसी में महिलाओं को निय‍मित डेंटल चेकअप करवाते रहने की सलाह दी जाती है। हालांकि इस दौरान दांतों का एक्स-रे करवाने की सलह नहीं दी जाती है।

प्रेग्नेंसी के दौरान मसूड़ों में सूजन आने से रोकने के लिए ओरल केयर पर ध्‍यान देना बहुत जरूरी है। नियमित रूप से दांतों की सफाई करना तकलीफ होने पर डॉक्टर्स से परामर्श लेना बेहद जरूरी है।

प्रेग्नेंसी के दौरान मसूड़ों में सूजन आने से रोकने के लिए ओरल केयर पर ध्‍यान देना बहुत जरूरी है। नियमित रूप से दांतों की सफाई करना तकलीफ होने पर डॉक्टर्स से परामर्श लेना बेहद जरूरी है।

दांतों को फ्लॉस करना बहुत जरूरी है। इससे दांतों में फंसा खाना निकल जाता है जो कि प्‍लाक जमने और मसूड़ों को कमजोर करने का सबसे बड़ा कारण है। दिन में एक बार दांतों को फ्लॉस जरूर करें।

दांतों को फ्लॉस करना बहुत जरूरी है। इससे दांतों में फंसा खाना निकल जाता है जो कि प्‍लाक जमने और मसूड़ों को कमजोर करने का सबसे बड़ा कारण है। दिन में एक बार दांतों को फ्लॉस जरूर करें।

इसके साथ ही आप नमक के पानी से कुल्‍ला करें, इससे बैक्‍टीरिया दूर रहते है और मसूड़ों को दिक्‍कत नहीं होती।

इसके साथ ही आप नमक के पानी से कुल्‍ला करें, इससे बैक्‍टीरिया दूर रहते है और मसूड़ों को दिक्‍कत नहीं होती।

अनुष्का अपने दांतों को स्वस्थ रखने के लिए आयल पुल्लिंग जरूर करती हैं। इससे दांतों में दर्द नहीं होता है न ही मसूड़े सूजते हैं। इसके लिए आप नारियल तेल या  एलोवेरा जूस को 30 सेकंड तक मुंह में रखें और दांतों के हर हिस्‍से में घुमाएं। 30 सेकंड के बाद इसे थूक दें। रोज दिन में दो से तीन बार इस उपाय को करें।

अनुष्का अपने दांतों को स्वस्थ रखने के लिए आयल पुल्लिंग जरूर करती हैं। इससे दांतों में दर्द नहीं होता है न ही मसूड़े सूजते हैं। इसके लिए आप नारियल तेल या  एलोवेरा जूस को 30 सेकंड तक मुंह में रखें और दांतों के हर हिस्‍से में घुमाएं। 30 सेकंड के बाद इसे थूक दें। रोज दिन में दो से तीन बार इस उपाय को करें।

इसके साथ ही अपनी उंगली और अंगूठे से मसूढ़ों पर हल्की मालिश करें। इससे सूजन की परेशानी से निजात मिलती है।

इसके साथ ही अपनी उंगली और अंगूठे से मसूढ़ों पर हल्की मालिश करें। इससे सूजन की परेशानी से निजात मिलती है।

अमरूद के पत्ते चबाने या फिर माउथवाश के तौर पर इनका इस्तेमाल मसूड़ों की समस्याओं का सदियों पुराना इलाज है। यह सूजन कम करने में भी मददगार होता है।

अमरूद के पत्ते चबाने या फिर माउथवाश के तौर पर इनका इस्तेमाल मसूड़ों की समस्याओं का सदियों पुराना इलाज है। यह सूजन कम करने में भी मददगार होता है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios