Asianet News Hindi

Heart Disease: कोरोना काल में ऐसे करें अपने हार्ट का टेस्ट, डेढ़ मिनट में पूरा किया ये काम तो हेल्दी हैं आप

First Published May 7, 2021, 12:30 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

हेल्थ डेस्क. कोरोना वायरस (Coronavirus pandemic) के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। कोरोना के अलावा दुनिया में कई और जानलेवा बीमारियां भी हैं। हार्ट डिजीज (Heart disease) के कारण दुनिया भर में सबसे ज्यादा मौतें होती हैं।  विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) की एक रिपोर्ट में भी इस बात को कहा गया है। कोरोना काल में हम आपको कुछ ऐसे टिप्स बता रहे हैं जिससे आप पता करते सकते हैं कि आपका हार्ट हेल्दी है या नहीं।  

क्या आपको होती हैं ये दिक्कतें 
सीढ़ियां चढ़ने या चलने में आपकी सांस का फूलना?
अक्सर सीने में दर्द होना?
काम करने के दौरान थकान महसूस होना?
कमजोरी महसूस होना।

क्या आपको होती हैं ये दिक्कतें 
सीढ़ियां चढ़ने या चलने में आपकी सांस का फूलना?
अक्सर सीने में दर्द होना?
काम करने के दौरान थकान महसूस होना?
कमजोरी महसूस होना।

क्या उम्र से तय होती है बीमारी
बहुत से लोगों को अब भी यही लगता है कि हृदय रोग उम्र बढ़ने पर होने वाली बीमारी है। बहुत से लोग अपनी Heart Screening नहीं करवाते हैं। लेकिन हकीकत यही है कि हॉर्ट डिजीज किसी भी उम्र में हो सकती है।

क्या उम्र से तय होती है बीमारी
बहुत से लोगों को अब भी यही लगता है कि हृदय रोग उम्र बढ़ने पर होने वाली बीमारी है। बहुत से लोग अपनी Heart Screening नहीं करवाते हैं। लेकिन हकीकत यही है कि हॉर्ट डिजीज किसी भी उम्र में हो सकती है।

 हार्ट फेलियर के लक्षण
मरीज को सांस की तकलीफ होती है। कमजोरी और थकान बढ़ने लगती है। इसके अलावा लगातार खांसी और फ्लूड रिटेंशन से वजन बढ़ना, भूख नहीं लगना और बार-बार पेशाब आना इसके मुख्य लक्षण हैं?

 हार्ट फेलियर के लक्षण
मरीज को सांस की तकलीफ होती है। कमजोरी और थकान बढ़ने लगती है। इसके अलावा लगातार खांसी और फ्लूड रिटेंशन से वजन बढ़ना, भूख नहीं लगना और बार-बार पेशाब आना इसके मुख्य लक्षण हैं?

 कोरोना से होता है हार्ट डैमेज?
ऑक्सफोर्ड जर्नल की एक स्टडी से पता चला है कि कोरोना के गंभीर रूप से पीड़ित मरीजों में करीब 50 प्रतिशत लोगों को रिकवरी के महीने बाद हार्ट डैमेज हुआ है। 

 कोरोना से होता है हार्ट डैमेज?
ऑक्सफोर्ड जर्नल की एक स्टडी से पता चला है कि कोरोना के गंभीर रूप से पीड़ित मरीजों में करीब 50 प्रतिशत लोगों को रिकवरी के महीने बाद हार्ट डैमेज हुआ है। 

ऐसे करें घर में टेस्ट 
यूरोपियन सोसायटी ऑफ कार्डियोलॉजी की मानें तो आप सीढ़ियां चढ़ने वाले टेस्ट (Stairs climbing test) की मदद से घर पर ही महज 90 सेकंड में यह पता लगा सकते हैं कि आपका हार्ट हेल्दी है या नहीं। रिसर्च की मानें तो जिन लोगों का हार्ट हेल्दी है वे महज 45 सेकंड में ही 60 सीढ़ियां चढ़ सकते हैं। जो लोग 45 सेकंड के अंदर 60 सीढ़ियां चढ़ लेते हैं उनमें हृदय रोग से मृत्यु का खतरा कम होता है।

ऐसे करें घर में टेस्ट 
यूरोपियन सोसायटी ऑफ कार्डियोलॉजी की मानें तो आप सीढ़ियां चढ़ने वाले टेस्ट (Stairs climbing test) की मदद से घर पर ही महज 90 सेकंड में यह पता लगा सकते हैं कि आपका हार्ट हेल्दी है या नहीं। रिसर्च की मानें तो जिन लोगों का हार्ट हेल्दी है वे महज 45 सेकंड में ही 60 सीढ़ियां चढ़ सकते हैं। जो लोग 45 सेकंड के अंदर 60 सीढ़ियां चढ़ लेते हैं उनमें हृदय रोग से मृत्यु का खतरा कम होता है।

कब लें डॉक्टर की सलाह
अगर 60 सीढ़ियां चढ़ने में आपको 90 सेकंड से ज्यादा का वक्त लगता है तो इसका मतलब है कि आपका हार्ट पूरी तरह से हेल्दी नहीं है और आपको डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। 60 सीढ़ियां चढ़ने में 90 सेकंड से अधिक का समय लेने वाले करीब 58 प्रतिशत लोगों का हार्ट फंक्शन असामान्य था।

कब लें डॉक्टर की सलाह
अगर 60 सीढ़ियां चढ़ने में आपको 90 सेकंड से ज्यादा का वक्त लगता है तो इसका मतलब है कि आपका हार्ट पूरी तरह से हेल्दी नहीं है और आपको डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। 60 सीढ़ियां चढ़ने में 90 सेकंड से अधिक का समय लेने वाले करीब 58 प्रतिशत लोगों का हार्ट फंक्शन असामान्य था।

 हार्ट के हेल्दी नहीं होने का संकेत
स्टेयर्स टेस्ट दिल की सेहत की जांच करने का एक आसान तरीका है। अगर आपको 60 सीढ़ियां चढ़ने में डेढ़ मिनट से अधिक का समय लगता है, तो इसका मतलब है कि आपका हार्ट पूरी तरह से हेल्दी नहीं है। 

 हार्ट के हेल्दी नहीं होने का संकेत
स्टेयर्स टेस्ट दिल की सेहत की जांच करने का एक आसान तरीका है। अगर आपको 60 सीढ़ियां चढ़ने में डेढ़ मिनट से अधिक का समय लगता है, तो इसका मतलब है कि आपका हार्ट पूरी तरह से हेल्दी नहीं है। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios