Asianet News Hindi

सही डाइट के बाद भी डायबिटीज को कंट्रोल नहीं कर पा रहे तो तो भूलकर भी ना करें ये गलतियां, जानें

First Published May 15, 2021, 7:40 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

डायबिटीज एक पुरानी बीमारी है, जिसके प्रभाव में हर साल लाखो लोग आते हैं। दवाइयों के साथ-साथ इस बीमारी को हेल्थी लाइफ स्टाइल और बैलेंस्ड डाइट से भी कंट्रोल में किया जा सकता है। डायबिटीज से जूझ रहे लोग अपनी डाइट का अच्छे से ख्याल रखते हैं। काफी कोशिश के बाद लोगों संतुष्टि वाला परिणाम नहीं मिलता है। ये मानव शरीर के स्वास्थ्य को प्रभावित करने वाले विभिन्न कारकों का परिणाम हो सकती है। ऐसे में कुछ गलतियां बता रहे हैं, जो लोगों को भूलकर भी नहीं करनी चाहिए। आइए जानते हैं... 
 

दवाइयां लेना ना भूलें

आपके डॉक्टर ने डायबिटीज को कंट्रोल करने के लिए जो दवाइयां लेने की सलाह दी हो उसे किसी भी किमत पर लेना ना भूलें। ऐसा करने से दवाओं की व्यर्थता हो सकती है। इसके अलावा इससे दुष्प्रभाव भी हो सकते हैं, जिसके परिणाम गंभीर हो सकते हैं। 

दवाइयां लेना ना भूलें

आपके डॉक्टर ने डायबिटीज को कंट्रोल करने के लिए जो दवाइयां लेने की सलाह दी हो उसे किसी भी किमत पर लेना ना भूलें। ऐसा करने से दवाओं की व्यर्थता हो सकती है। इसके अलावा इससे दुष्प्रभाव भी हो सकते हैं, जिसके परिणाम गंभीर हो सकते हैं। 

शारीरिक सुस्ती 

आप चाहे जितना बिजी हों, लेकिन अपने बिजी शेड्यूल में एक्सरसाइज के लिए वक्त जरूर निकालें। शारीरिक रूप से एक्टिव ना होने से ब्लड शुगर का स्तर घट-बढ़ सकता है। 

शारीरिक सुस्ती 

आप चाहे जितना बिजी हों, लेकिन अपने बिजी शेड्यूल में एक्सरसाइज के लिए वक्त जरूर निकालें। शारीरिक रूप से एक्टिव ना होने से ब्लड शुगर का स्तर घट-बढ़ सकता है। 

मानसिक परेशानी 

तनाव उन कारणों में से एक है। इसके परिणास्वरूप उसका ब्लड शुगर बढ़ सकता है। कुप्रबंधित तनाव और साइकोलॉजिकल स्वास्थ्य से डायबिटीज मिसमैनेज्ड हो जाता है। चलने, संगीत सुनने, योग, ध्यान और सोने जैसे काम करने से आपका ब्लड शुगर सुधर सकता है। 

मानसिक परेशानी 

तनाव उन कारणों में से एक है। इसके परिणास्वरूप उसका ब्लड शुगर बढ़ सकता है। कुप्रबंधित तनाव और साइकोलॉजिकल स्वास्थ्य से डायबिटीज मिसमैनेज्ड हो जाता है। चलने, संगीत सुनने, योग, ध्यान और सोने जैसे काम करने से आपका ब्लड शुगर सुधर सकता है। 

अप्वॉइंटमेंट छोड़ना 

डॉक्टर के साथ बुक की गई अप्वॉइंटमेंट को कभी ना छोड़ें। डायबिटीज जैसी पुरानी बीमारियों से पीड़ित मरीजों को ये सुनिश्चित करने के लिए नियमित जांच से गुजरना चाहिए। 

अप्वॉइंटमेंट छोड़ना 

डॉक्टर के साथ बुक की गई अप्वॉइंटमेंट को कभी ना छोड़ें। डायबिटीज जैसी पुरानी बीमारियों से पीड़ित मरीजों को ये सुनिश्चित करने के लिए नियमित जांच से गुजरना चाहिए। 

ट्रैकिंग नहीं रखना

डायबिटीज वाले मरीजों को अपना ब्लड शुगर ट्रैक करते रहना चाहिए। किसी भी तरह की बीमारी का रोकथाम करने के लिए ये महत्वपूर्ण है। ट्रैकिंग ना रखने के कारण गलत तरीके से इलाज हो सकता है, जो इसके गंभीर परिणाम दे सकते हैं। 

Asianet News का विनम्र अनुरोधः आईए साथ मिलकर कोरोना को हराएं, जिंदगी को जिताएं...जब भी घर से बाहर निकलें माॅस्क जरूर पहनें, हाथों को सैनिटाइज करते रहें, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें। वैक्सीन लगवाएं। हमसब मिलकर कोरोना के खिलाफ जंग जीतेंगे और कोविड चेन को तोडेंगे। #ANCares #IndiaFightsCorona

ट्रैकिंग नहीं रखना

डायबिटीज वाले मरीजों को अपना ब्लड शुगर ट्रैक करते रहना चाहिए। किसी भी तरह की बीमारी का रोकथाम करने के लिए ये महत्वपूर्ण है। ट्रैकिंग ना रखने के कारण गलत तरीके से इलाज हो सकता है, जो इसके गंभीर परिणाम दे सकते हैं। 

Asianet News का विनम्र अनुरोधः आईए साथ मिलकर कोरोना को हराएं, जिंदगी को जिताएं...जब भी घर से बाहर निकलें माॅस्क जरूर पहनें, हाथों को सैनिटाइज करते रहें, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें। वैक्सीन लगवाएं। हमसब मिलकर कोरोना के खिलाफ जंग जीतेंगे और कोविड चेन को तोडेंगे। #ANCares #IndiaFightsCorona

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios