Asianet News Hindi

Weight loss story: 97 किलो वजन देख रोती थी लड़की, सिर्फ जुम्बा करके 8 महीने में घटाया 30 Kg

First Published Mar 3, 2021, 7:19 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

करियर डेस्क. आजकल के बिजी लाइफस्टाइल और वर्क फ्रॉम होम के चलते मोटापा एक गंभीर समस्या बनता जा रहा है। मोटापा हर उम्र के लोगों को प्रभावित कर रहा है। बच्चे और टीनएजर्स सहित हर कोई बढ़ते वजन से परेशान हैं। लोग फिट तो होना चाहते हैं लेकिन कैसे वजन घटाएं ये सोचते रहते हैं। वजन घटाना भी अपने आप में काफी मुश्किल काम है। इसके लिए लोग डाइटिंग और वर्कआउट सहित लोग कई अन्य तरीके अपनाते हैं लेकिन बिना पक्के इरादों के यह इतना आसान नहीं है। ऐसे ही एक लड़की जो वकील और इंस्टाग्राम ब्लॉगर है उसका वजन 90 किलो के पार हो गया था। बढ़ते वजन से वो इतनी परेशान की थी कि कपड़े फिट होते न देख ट्रायल रूम में हो रोती थी। ये हैं 24 साल की निकिता मारवाह बचपन से ही हैवी वेट थीं। लेकिन आज निकिता काफी फिट हैं। उन्होंने मात्र 8 महीने में 30 किलो वजन घटाकर लोगों को हैरान कर दिया। वेट लॉस की स्टोरी (Weight loss story) में आइए जानते हैं उनका वर्कआउट रूटीन और डाइट-

 

निकिता ने TOI को अपनी वेट लॉस जर्नी के बारे में बताया। एक समय उनका वजन बढ़कर 97.4 किलो हो गया था। निकिता ने कई बार वजन घटाने की कोशिश की लेकिन हमेशा असफल रहीं । हालांकि, उन्होंने हार नहीं मानी और 8 महीने में 30 किलो वजन कम करके आज एक हेल्दी लाइफ जी रही हैं।

(प्रतिकात्मक तस्वीर)

 

निकिता ने TOI को अपनी वेट लॉस जर्नी के बारे में बताया। एक समय उनका वजन बढ़कर 97.4 किलो हो गया था। निकिता ने कई बार वजन घटाने की कोशिश की लेकिन हमेशा असफल रहीं । हालांकि, उन्होंने हार नहीं मानी और 8 महीने में 30 किलो वजन कम करके आज एक हेल्दी लाइफ जी रही हैं।

(प्रतिकात्मक तस्वीर)

 

वो कहती हैं, मेरी इम्युनिटी बहुत कमजोर हो गई थी और टेस्ट कराने पर मैं थायरॉइड से पीड़ित पाई गई। इससे मैं काफी चिड़चिड़ी हो गई। मेरे घरवाले मुझे ‘फैटमैन’ कहकर चिढ़ाने लगे थे। उनके यह शब्द सुनकर मेरा दिल टूट गया और उसी दिन मैंने वजन कम करने का फैसला किया। निकिता ने वजन घटाने प्रॉपर डाइट फॉलो की। उनकी डाइट में गर्म दूध भी शामिल रहा। (प्रतिकात्मक तस्वीर)

वो कहती हैं, मेरी इम्युनिटी बहुत कमजोर हो गई थी और टेस्ट कराने पर मैं थायरॉइड से पीड़ित पाई गई। इससे मैं काफी चिड़चिड़ी हो गई। मेरे घरवाले मुझे ‘फैटमैन’ कहकर चिढ़ाने लगे थे। उनके यह शब्द सुनकर मेरा दिल टूट गया और उसी दिन मैंने वजन कम करने का फैसला किया। निकिता ने वजन घटाने प्रॉपर डाइट फॉलो की। उनकी डाइट में गर्म दूध भी शामिल रहा। (प्रतिकात्मक तस्वीर)

ब्रेकफास्ट-ओट्स चीला, भरवां पराठा और वेजिटेबल ऑमलेट।


लंच-पनीर, टोफू, अलग-अलग तरह की सब्जियां और घर का बना खाना।


डिनर-दाल, चिकन ब्रेस्ट, फल, गर्म दूध।

 

ब्रेकफास्ट-ओट्स चीला, भरवां पराठा और वेजिटेबल ऑमलेट।


लंच-पनीर, टोफू, अलग-अलग तरह की सब्जियां और घर का बना खाना।


डिनर-दाल, चिकन ब्रेस्ट, फल, गर्म दूध।

 

प्री-वर्कआउट मील- ब्लैक कॉफी
 

पोस्ट वर्कआउट मील- मेरा पोस्ट वर्कआउट मील वर्कआउट के समय पर निर्भर था। यदि मैं सुबह वर्कआउट करती थी तो इसके बाद सीधे नाश्ता करती थी और यदि शाम को वर्कआउट करती थी तो सीधे डिनर किया करती थी।

प्री-वर्कआउट मील- ब्लैक कॉफी
 

पोस्ट वर्कआउट मील- मेरा पोस्ट वर्कआउट मील वर्कआउट के समय पर निर्भर था। यदि मैं सुबह वर्कआउट करती थी तो इसके बाद सीधे नाश्ता करती थी और यदि शाम को वर्कआउट करती थी तो सीधे डिनर किया करती थी।

मैंने कई सालों तक कोशिश की लेकिन वजन कम करने में मुझे सफलता नहीं मिली। तब मुझे समझ में आया कि वजन घटाने का सिर्फ एक ही सीक्रेट है और वह है ‘शुद्ध भोजन।’ मैं मोटापा कम करने के लिए सिर्फ जुंबा कर रही थी। लेकिन जब तक मैंने अपनी डाइट में बदलाव नहीं किया तो मुझे सफलता नहीं मिली। इसके अलावा वजन कम करने के दौरान धैर्य की भी काफी जरूरत होती है। इस तरह मैंने अपना वजन कम किया।  (Demo Pic)

मैंने कई सालों तक कोशिश की लेकिन वजन कम करने में मुझे सफलता नहीं मिली। तब मुझे समझ में आया कि वजन घटाने का सिर्फ एक ही सीक्रेट है और वह है ‘शुद्ध भोजन।’ मैं मोटापा कम करने के लिए सिर्फ जुंबा कर रही थी। लेकिन जब तक मैंने अपनी डाइट में बदलाव नहीं किया तो मुझे सफलता नहीं मिली। इसके अलावा वजन कम करने के दौरान धैर्य की भी काफी जरूरत होती है। इस तरह मैंने अपना वजन कम किया।  (Demo Pic)

हर सुबह मैं अपने शरीर में कुछ फर्क महसूस करती थी। इससे मैं काफी मोटिवेट होती थी। लेकिन जब लोग यह कहते थे कि "अरे! तुम पतली हो गई हो" तो मैं बेहद खुश हो जाती थी और वजन घटाने के लिए पूरी शिद्दत से जुट जाती थी।

 

वजन बढ़ने के कारण मेरे कमर की साइज 40/38 हो गई थी। मुझे अपने लिए XXL कपड़े खरीदने से नफरत होने लगी। सबसे खराब तब लगता जब शोरूम में कोई सेल्समैन यह कह देता कि ‘आपका साइज नहीं है मैम’। (प्रतिकात्मक तस्वीर)

 

हर सुबह मैं अपने शरीर में कुछ फर्क महसूस करती थी। इससे मैं काफी मोटिवेट होती थी। लेकिन जब लोग यह कहते थे कि "अरे! तुम पतली हो गई हो" तो मैं बेहद खुश हो जाती थी और वजन घटाने के लिए पूरी शिद्दत से जुट जाती थी।

 

वजन बढ़ने के कारण मेरे कमर की साइज 40/38 हो गई थी। मुझे अपने लिए XXL कपड़े खरीदने से नफरत होने लगी। सबसे खराब तब लगता जब शोरूम में कोई सेल्समैन यह कह देता कि ‘आपका साइज नहीं है मैम’। (प्रतिकात्मक तस्वीर)

 

अगर आप भी मोटापे से परेशान हैं और वजन घटाना चाहते हैं तो निकिता की यह कहानी आपके लिए प्रेरणादायक साबित हो सकती है। (प्रतिकात्मक तस्वीर)

 

अगर आप भी मोटापे से परेशान हैं और वजन घटाना चाहते हैं तो निकिता की यह कहानी आपके लिए प्रेरणादायक साबित हो सकती है। (प्रतिकात्मक तस्वीर)

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios