Asianet News Hindi

जब फिल्में छीन लिए जाने से फूट-फूटकर रोई थीं प्रियंका, नेपोटिज्म पर कही थी इतनी बड़ी बात

First Published Jun 30, 2020, 1:09 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंबई. सुशांत सिंह राजपूत के सुसाइड के बाद से बॉलीवुड में नेपोटिज्म पर बड़ी बहस छिड़ गई है। हर कोई भाई-भतीजावाद को लेकर करण जौहर, सलमान खान और एकता कपूर जैसे स्टार्स को घेर रहा है। ऐसे में सोशल मीडिया पर प्रियंका चोपड़ा का एक इंटरव्यू का पुराना वीडियो वायरल हो रहा है। इसमें वो इंडस्ट्री में नेपोटिज्म को लेकर अपने करियर के शुरुआती दिनों में आई समस्याओं के बारे में बता रही हैं। 'देसी गर्ल' बताती हैं कि 'उनसे फिल्में छीन ली गई थीं।'

प्रियंका चोपड़ा ये पुराना इंटरव्यू जबरदस्त सुर्खियां बटोर रहा है, जिसमें उन्होंने अपने साथ हुई एक ऐसी ही घटना का जिक्र किया था कि उनके हाथ से फिल्म छीन कर किसी और को दे दी गई थी।

प्रियंका चोपड़ा ये पुराना इंटरव्यू जबरदस्त सुर्खियां बटोर रहा है, जिसमें उन्होंने अपने साथ हुई एक ऐसी ही घटना का जिक्र किया था कि उनके हाथ से फिल्म छीन कर किसी और को दे दी गई थी।

प्रियंका का पुराना वीडियो इसलिए वायरल हो रहा है, क्योंकि वह इसमें नेपोटिज्म के मुद्दे पर खुलकर बोलती दिख रही हैं। वो इसमें ये भी कहती दिख रही हैं कि जिन्हें एक्टिंग विरासत में मिली हो, उस फैमिली में जन्म लेना कोई गलत नहीं। 

प्रियंका का पुराना वीडियो इसलिए वायरल हो रहा है, क्योंकि वह इसमें नेपोटिज्म के मुद्दे पर खुलकर बोलती दिख रही हैं। वो इसमें ये भी कहती दिख रही हैं कि जिन्हें एक्टिंग विरासत में मिली हो, उस फैमिली में जन्म लेना कोई गलत नहीं। 

प्रियंका स्टार किड्स और आउटसाइडर को लेकर कहती हैं कि जिनका बॉलीवुड से पहले कोई ताल्लुक ना रहा हो उनके लिए इंडस्ट्री में एंट्री करना काफी मुश्किल काम है। वहीं, स्टार किड्स को लेकर प्रियंका ने कहा था कि स्टार किड्स के लिए फैमिली के नाम को बनाए रखने का प्रेशर अलग होता है और उनका मानना है कि हर एक्टर की अपनी अलग जर्नी होती है।

प्रियंका स्टार किड्स और आउटसाइडर को लेकर कहती हैं कि जिनका बॉलीवुड से पहले कोई ताल्लुक ना रहा हो उनके लिए इंडस्ट्री में एंट्री करना काफी मुश्किल काम है। वहीं, स्टार किड्स को लेकर प्रियंका ने कहा था कि स्टार किड्स के लिए फैमिली के नाम को बनाए रखने का प्रेशर अलग होता है और उनका मानना है कि हर एक्टर की अपनी अलग जर्नी होती है।

प्रियंका इंडस्ट्री में करियर के शुरुआती दिनों की मुश्किलों के बारे में बात करते हुए कहती हैं कि उन्हें कई फिल्मों से सिर्फ इसलिए निकाल दिया गया था क्योंकि इसके लिए किसी और को रेकमेंड किया गया था। वह बहुत रोईं, लेकिन फिर एक्ट्रेस ने खुद को संभाला और इस पर काबू पा लिया।

प्रियंका इंडस्ट्री में करियर के शुरुआती दिनों की मुश्किलों के बारे में बात करते हुए कहती हैं कि उन्हें कई फिल्मों से सिर्फ इसलिए निकाल दिया गया था क्योंकि इसके लिए किसी और को रेकमेंड किया गया था। वह बहुत रोईं, लेकिन फिर एक्ट्रेस ने खुद को संभाला और इस पर काबू पा लिया।

इंटरव्यू में एक्ट्रेस कहती हैं कि भले ही उन्हें असफल होमे का डर नहीं था, लेकिन जब उनके साथ ऐसा होता था तो उन्हें काफी गुस्सा आता था। प्रियंका ने इंडस्ट्री के कॉम्पिटिशन के बारे में बात करते हुए आगे कहा था कि सिलेब्रिटीज की लाइफ को उन्होंने मैराथन रेस की तरह देखा है, जिनपर कई जिम्मेदारियां हैं। उन्होंने कहा कि कैसे जब एक सिलेब्रिटी की तबीयत खराब हो जाती तो कैसे सेट पर काम करने वाले 300 लोगों को उस दिन के पैसे नहीं मिलते हैं।

इंटरव्यू में एक्ट्रेस कहती हैं कि भले ही उन्हें असफल होमे का डर नहीं था, लेकिन जब उनके साथ ऐसा होता था तो उन्हें काफी गुस्सा आता था। प्रियंका ने इंडस्ट्री के कॉम्पिटिशन के बारे में बात करते हुए आगे कहा था कि सिलेब्रिटीज की लाइफ को उन्होंने मैराथन रेस की तरह देखा है, जिनपर कई जिम्मेदारियां हैं। उन्होंने कहा कि कैसे जब एक सिलेब्रिटी की तबीयत खराब हो जाती तो कैसे सेट पर काम करने वाले 300 लोगों को उस दिन के पैसे नहीं मिलते हैं।

प्रियंका चोपड़ा ने नेपोटिज्म और बॉलीवुड को जोड़ते हुए कहा कि ये दोनों ही साथ-साथ चलते हैं, लेकिन पिछले कुछ साल में ऐसे एक्टर सामने आए हैं जो इसे तोड़ने में सफल रहे हैं उन एक्टर्स ने अपनी अलग पहचान बनाई है और यही वो भी करने की कोशिश कर रही हैं।

प्रियंका चोपड़ा ने नेपोटिज्म और बॉलीवुड को जोड़ते हुए कहा कि ये दोनों ही साथ-साथ चलते हैं, लेकिन पिछले कुछ साल में ऐसे एक्टर सामने आए हैं जो इसे तोड़ने में सफल रहे हैं उन एक्टर्स ने अपनी अलग पहचान बनाई है और यही वो भी करने की कोशिश कर रही हैं।

प्रियंका चोपड़ा शुरुआती दिनों के बारे में बात  करते हुए कहा था कि उनके लिए ये बहुत मुश्किल था। वो यहां किसी को नहीं जानती थीं, जब उन्होंने यहां कदम रखा तब हर कोई यहां एक-दूसरे का दोस्त था। वो नेटवर्किंग में बहुत अच्छी नहीं थीं, ज्यादा पार्टीज में भी नहीं जाती थीं, इसलिए उनके लिए भी थोड़ा मुश्किल था। फिर उन्होंने सच्चाई को स्वीकार किया और फैसला किया कि उन्हें इन सब चीजों से डरना नहीं है।

प्रियंका चोपड़ा शुरुआती दिनों के बारे में बात  करते हुए कहा था कि उनके लिए ये बहुत मुश्किल था। वो यहां किसी को नहीं जानती थीं, जब उन्होंने यहां कदम रखा तब हर कोई यहां एक-दूसरे का दोस्त था। वो नेटवर्किंग में बहुत अच्छी नहीं थीं, ज्यादा पार्टीज में भी नहीं जाती थीं, इसलिए उनके लिए भी थोड़ा मुश्किल था। फिर उन्होंने सच्चाई को स्वीकार किया और फैसला किया कि उन्हें इन सब चीजों से डरना नहीं है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios