Asianet News Hindi

कोरोना संकट में मालामाल हुई झारखंड सरकार, मिला 250 किलो सोने का खजाना..

First Published Jun 4, 2020, 1:15 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

जमशेदपुर (झारखंड). कोरोना संक्रमण काल के दौरान पूरा देश आर्थिक संकट के दौर से गुजर रहा है। आर्थिक स्थिति की डामाडोल हालातों को देखते हुए झारखण्ड सरकार के लिए एक राहत की खबर मिली है। जहां  पूर्वी सिंहभूम जिले में  250 किलो सोने का भंडार मिला है। राज्य सरकार के इस खजाने से 120 करोड़ रुपए आने की संभावना है।


यहां मिला है सोने का यह भंडार: दरअसल, यह सोना पूर्वी सिंहभूम जिले के भीतरडारी में मिला है। सोने की भंडार का पता लगाने का काम भारतीय भूगर्भ सर्वेक्षण विभाग के निदेशक  पंकज कुमार सिंह के निर्देशन में चल रहा था। जहां उनकी टीम को अलग-अलग गुणवत्ता वाले गोल्ड का पता चला है। उन्होंने के विभाग के उप महानिदेशक जनार्दन प्रसाद के साथ मिलकर राज्य के खान सचिव अबूबकर सिद्दीकी को खान में सोने का भंडार मिलने को लेकर एक रिपोर्ट सौंपी है। 


यहां मिला है सोने का यह भंडार: दरअसल, यह सोना पूर्वी सिंहभूम जिले के भीतरडारी में मिला है। सोने की भंडार का पता लगाने का काम भारतीय भूगर्भ सर्वेक्षण विभाग के निदेशक  पंकज कुमार सिंह के निर्देशन में चल रहा था। जहां उनकी टीम को अलग-अलग गुणवत्ता वाले गोल्ड का पता चला है। उन्होंने के विभाग के उप महानिदेशक जनार्दन प्रसाद के साथ मिलकर राज्य के खान सचिव अबूबकर सिद्दीकी को खान में सोने का भंडार मिलने को लेकर एक रिपोर्ट सौंपी है। 

सात और स्थानों पर सोने की खान: इस रिपोर्ट में लिखा है कि झारखंड देश के गोल्ड स्पॉट वाले स्टेट के रूप में विकसित हो रहा है। इससे पहले भी लावा, कुंदरकोचा, पहाड़डीहा और परासी में सोने की भंडारों का पता लगाया जा चुका है। अब तक प्रदेश में सात और स्थानों पर सोने की खान के संकेत मिल चुके हैं। आने वाले दिनों में यहां सोने का पता और लगाया जा सकता है।

सात और स्थानों पर सोने की खान: इस रिपोर्ट में लिखा है कि झारखंड देश के गोल्ड स्पॉट वाले स्टेट के रूप में विकसित हो रहा है। इससे पहले भी लावा, कुंदरकोचा, पहाड़डीहा और परासी में सोने की भंडारों का पता लगाया जा चुका है। अब तक प्रदेश में सात और स्थानों पर सोने की खान के संकेत मिल चुके हैं। आने वाले दिनों में यहां सोने का पता और लगाया जा सकता है।

सात और स्थानों पर सोने की खान: इस रिपोर्ट में लिखा है कि झारखंड देश के गोल्ड स्पॉट वाले स्टेट के रूप में विकसित हो रहा है। इससे पहले भी लावा, कुंदरकोचा, पहाड़डीहा और परासी में सोने की भंडारों का पता लगाया जा चुका है। अब तक प्रदेश में सात और स्थानों पर सोने की खान के संकेत मिल चुके हैं। आने वाले दिनों में यहां सोने का पता और लगाया जा सकता है।

सात और स्थानों पर सोने की खान: इस रिपोर्ट में लिखा है कि झारखंड देश के गोल्ड स्पॉट वाले स्टेट के रूप में विकसित हो रहा है। इससे पहले भी लावा, कुंदरकोचा, पहाड़डीहा और परासी में सोने की भंडारों का पता लगाया जा चुका है। अब तक प्रदेश में सात और स्थानों पर सोने की खान के संकेत मिल चुके हैं। आने वाले दिनों में यहां सोने का पता और लगाया जा सकता है।

यहां भी चल रही खोज: बता दें कि रांची से लेकर तमाड़ के बीच भी सोने की खानों की खोज का काम काफी लंबे समय से चल रहा है। जल्द ही वहां भी कामयाबी मिलेगी।

यहां भी चल रही खोज: बता दें कि रांची से लेकर तमाड़ के बीच भी सोने की खानों की खोज का काम काफी लंबे समय से चल रहा है। जल्द ही वहां भी कामयाबी मिलेगी।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios