Asianet News Hindi

न्यूयॉर्क के एक कपल से प्रभावित होकर चचेरी बहनों ने की समलैंगिक शादी,परिवार वालों ने बनाया दबाव तो ली ये फैसला

First Published Dec 7, 2020, 6:07 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

झारखंड। समलैंगिक शादी करने वाली और रिश्ते में चचेरी बहन लगने वाली लड़कियों ने खुलासा किया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक उनका कहना है कि उन्हें भली-भांति पता था कि समलैंगिक संबंधों को कानूनी संरक्षण प्राप्त है। लेकिन, न्यूयॉर्क की अंजलि चक्रवर्ती और सूफी सन्डल्स लैसबियन कपल से प्रभावित होकर अपने प्यार को मुकाम तक पहुंचाने की ठानी है। अब वे एक दूसरे का सहारा हैं। भले ही चाहे जितनी भी बाधाएं आएं, वे हमेशा साथ रहेंगे। बता दें कि 8 नवंबर को कोडरमा में ही शिव मंदिर में विवाह किया था। फिलहाल, वे पहचान छिपाकर दूसरे जगह रह रही थी। लेकिन, परिवार वालों ने उन्हें पकड़ लिया है। लेकिन, वे अपनी जिद पर अड़ी रही। आखिर में दोनों अलग घर लेकर रहने का फैसला किया है। 

दोनों बहनें झुमरी तिलैया की रहने वाली हैं। रिश्ते में चचेरी बहन लगती हैं। एक की उम्र 24 साल, तो दूसरी 20 साल की है। एक ने ग्रेजुएशन तक की पढ़ाई पूरी की है, दूसरी ने इंटर तक की है।

दोनों बहनें झुमरी तिलैया की रहने वाली हैं। रिश्ते में चचेरी बहन लगती हैं। एक की उम्र 24 साल, तो दूसरी 20 साल की है। एक ने ग्रेजुएशन तक की पढ़ाई पूरी की है, दूसरी ने इंटर तक की है।


बताते हैं कि दोनों के बीच पांच साल से प्यार पनप रहा था। घर भी आस-पास ही हैं। जिन्होंने पिछले महीने दोनों ने चुपचाप शादी कर ली। 
 


बताते हैं कि दोनों के बीच पांच साल से प्यार पनप रहा था। घर भी आस-पास ही हैं। जिन्होंने पिछले महीने दोनों ने चुपचाप शादी कर ली। 
 


कपल का कहना है कि जितनी भी मुश्किल आ जाए, वे हमेशा एक दूसरे के साथ रहेंगी। उन्होंने यह भी कहा कि उन्हें लेस्बियन कपल कहलाने में किसी तरह की शर्मिंदगी महसूस नहीं होती।


कपल का कहना है कि जितनी भी मुश्किल आ जाए, वे हमेशा एक दूसरे के साथ रहेंगी। उन्होंने यह भी कहा कि उन्हें लेस्बियन कपल कहलाने में किसी तरह की शर्मिंदगी महसूस नहीं होती।


जब परिवार के लोगों को इनके समलैंगिक संबंध के बारे में पता चला तो दोनों बहनों को समझाने का काफी प्रयास किया गया। लेकिन, वे अपने रिश्ते को लेकर अड़ी रही। बाद में परिवार के दबाव के चलते दोनों अलग घर लेकर रहने का फैसला लेना पड़ा।


जब परिवार के लोगों को इनके समलैंगिक संबंध के बारे में पता चला तो दोनों बहनों को समझाने का काफी प्रयास किया गया। लेकिन, वे अपने रिश्ते को लेकर अड़ी रही। बाद में परिवार के दबाव के चलते दोनों अलग घर लेकर रहने का फैसला लेना पड़ा।


बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने समलैंगिक संबंधों को अप्राकृतिक अपराध की श्रेणी में रखने वाली धारा को संशोधित कर समलैंगिक संबंधों को मान्यता दी है। ऐसे में समलैंगिक जोड़े को अगर किसी तरह की परेशानी होती है, तो वह जिला प्रशासन के संरक्षण में जा सकते हैं।

(फोटो सोर्स- आजतक)


बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने समलैंगिक संबंधों को अप्राकृतिक अपराध की श्रेणी में रखने वाली धारा को संशोधित कर समलैंगिक संबंधों को मान्यता दी है। ऐसे में समलैंगिक जोड़े को अगर किसी तरह की परेशानी होती है, तो वह जिला प्रशासन के संरक्षण में जा सकते हैं।

(फोटो सोर्स- आजतक)

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios