Asianet News Hindi

शादी के 12 दिन बाद ही दुल्हन का उजड़ गया सुहाग, दोनों हर दिन बना रहे थे हनीमून पर जाने का प्लान

First Published Feb 26, 2020, 7:51 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुलताई. (मध्य प्रदेश). एक परिवार में शादी खुशियां मातम में बदल गईं। कल तक जहां शादी की शहनाई और बैंड-बाजे की आवाज सुनाई दे रही थी। अब वहां सिर्फ मौत की चीखें सुनाई दे रही हैं। मुलताई में एक नवविवाहिता दुल्हन के हाथों की मेहंदी अभी ठीक से उतर भी नहीं पाई थी कि उसका सुहाग उजड़ गया। दरअसल, सोमवार के दिन आर्मी जवान दुर्गेश हिंगवे की सड़क हादसे में सोमवार रात मौत हो गई। मृतक की शादी को अभी 12 दिन हुए थे कि वो इस दुनिया से अलविदा कह गया।

बता दें कि जवान दुर्गेश हिंगवे मुलताई का रहने वाला था। वह सोमवार रात को अपने गांव बरई में खाना खाने के बाद सड़क पर टहलने के लिए निकला था। इसी दौरान सामने से आ रहे एक अज्ञात वाहन ने उसको टक्कर मार दी। जहां उसके घरवाले उसे अस्पताल लेकर गए। लेकिन इलाज के दौरान उसने दम तोड़ दिया।

बता दें कि जवान दुर्गेश हिंगवे मुलताई का रहने वाला था। वह सोमवार रात को अपने गांव बरई में खाना खाने के बाद सड़क पर टहलने के लिए निकला था। इसी दौरान सामने से आ रहे एक अज्ञात वाहन ने उसको टक्कर मार दी। जहां उसके घरवाले उसे अस्पताल लेकर गए। लेकिन इलाज के दौरान उसने दम तोड़ दिया।

दुर्गेश पोस्टिंग अभी लेह-लद्दाख में थी। वह अपनी शादी में करीब 50 दिन की छुट्टी लेकर आया था। 12 फरवरी को उसकी शादी हुई थी। पत्नी ने जैसे ही यह खबर सुनी कि वह बेहोश हो गई। होश आया तो बोली-अभी हम दोनों अपनी जिंदगी के नए-नए सपने देख रहे थे कि आप मुझको छोड़कर चले गए।

दुर्गेश पोस्टिंग अभी लेह-लद्दाख में थी। वह अपनी शादी में करीब 50 दिन की छुट्टी लेकर आया था। 12 फरवरी को उसकी शादी हुई थी। पत्नी ने जैसे ही यह खबर सुनी कि वह बेहोश हो गई। होश आया तो बोली-अभी हम दोनों अपनी जिंदगी के नए-नए सपने देख रहे थे कि आप मुझको छोड़कर चले गए।

मंगलवार को दुर्गेश का अंतिम संस्कार हुआ। इस दौरान आमला एयरफोर्स से आए सैनिक दल के साथ मुलताई पुलिस थाने के एसआई राजेंद्र सयदे सहित पुलिस बल ने दुर्गेश को अंतिम सलामी दी।

मंगलवार को दुर्गेश का अंतिम संस्कार हुआ। इस दौरान आमला एयरफोर्स से आए सैनिक दल के साथ मुलताई पुलिस थाने के एसआई राजेंद्र सयदे सहित पुलिस बल ने दुर्गेश को अंतिम सलामी दी।

जवान की मौत की खबर से पूरे गांव में मातम पसरा हुआ है। वहीं ग्रामीणों का कहना था कि दुर्गेश बहुत ही मिलनसार था और सभी की मदद करता था। अभी घर से रिश्तेदार भी नहीं गए थे कि परिवार में मातम का माहौल हो गया है। वो तो पत्नी के साथ हनीमून पर जाने की प्लानिंग कर रहा था। लेकिन सब धरा का धरा रह गया।

जवान की मौत की खबर से पूरे गांव में मातम पसरा हुआ है। वहीं ग्रामीणों का कहना था कि दुर्गेश बहुत ही मिलनसार था और सभी की मदद करता था। अभी घर से रिश्तेदार भी नहीं गए थे कि परिवार में मातम का माहौल हो गया है। वो तो पत्नी के साथ हनीमून पर जाने की प्लानिंग कर रहा था। लेकिन सब धरा का धरा रह गया।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios