Asianet News Hindi

अंदर मम्मी-पापा की हो रही हत्या बाहर कुत्ता घुमा रही बेटी..दोस्त को मैसेज किया किसी को कुछ पता न चले

First Published Dec 17, 2020, 7:57 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp


इंदौर. (मध्य प्रदेश). इंदौर के आरक्षक आरक्षक ज्योति प्रसाद शर्मा और उनकी पत्नी की हत्या में पुलिस नए-नए खुलासे कर रही है। इस दोहरे हत्याकांड में शक की सुई मृतक की 15 साल की बेटी और उसके दोस्तों की ओर घूम रही है। पड़ताल में सामने आ रहा है कि इस घटना को अंजाम देने की प्लानिंग कई दिनों से की जा रही थी। पड़ोसियों ने बताया कि जिस वक्त यह घटना घटी उस दौरान बेटी कुत्ते को घुमा रही थी और उसी समय उसके घर से चीखने की आवाजें भी सुनाई दे रहीं थीं। ऐसा लग रहा था कि बेटी के दोस्त ही वारदात को अंदर अंजाम दे रहे हों और वह शोर सुनने के लिए बाहर पहरा दे रही थी।


एरोड्रम थाना पुलिस ने इस मामले में दो युवकों को चिह्नित किया है। लेकिन उनको पुलिस ने अभी गिरफ्तार नहीं किया है। चिह्नित किए इन दो युवकों में से एक मृतक आरक्षक ज्योति प्रसाद की बेटी का दोस्त है, जिसका नाम डीजे बताया जा रहा है। पड़ोसियों का एक युवक के बारे में कहना कि दोनों की दोस्ती को लेकर आरक्षक ने विरोध किया था। लेकिन बेटी इसके बाद भी उससे मिलती रही। इसके अलावा पुलिस को एक लेटर भी मिला है। जिसमें बेटी ने पिता पर कई तरह के आरोप लगाए हैं। इस लिहाज से बेटी पर ही शक है कि कहीं उसने हो तो नहीं अपने माता-पिता को मरवा डाला हो


एरोड्रम थाना पुलिस ने इस मामले में दो युवकों को चिह्नित किया है। लेकिन उनको पुलिस ने अभी गिरफ्तार नहीं किया है। चिह्नित किए इन दो युवकों में से एक मृतक आरक्षक ज्योति प्रसाद की बेटी का दोस्त है, जिसका नाम डीजे बताया जा रहा है। पड़ोसियों का एक युवक के बारे में कहना कि दोनों की दोस्ती को लेकर आरक्षक ने विरोध किया था। लेकिन बेटी इसके बाद भी उससे मिलती रही। इसके अलावा पुलिस को एक लेटर भी मिला है। जिसमें बेटी ने पिता पर कई तरह के आरोप लगाए हैं। इस लिहाज से बेटी पर ही शक है कि कहीं उसने हो तो नहीं अपने माता-पिता को मरवा डाला हो


पुलिस को घटनास्थल से दो मोबाइल फोन मिले हैं। जिसमें बेटी ने अपना एक मोबाइल पहले बंद कर दिया था, वहीं दूसरे से अपने दोस्त को मैसेज किया था। जिसमें बार-बार यह लिखा गया था कि तुम्हारे माता-पिता को देखना कुछ पता नहीं चले। इसमें से एक मोबाइल टूटा हुआ है।


पुलिस को घटनास्थल से दो मोबाइल फोन मिले हैं। जिसमें बेटी ने अपना एक मोबाइल पहले बंद कर दिया था, वहीं दूसरे से अपने दोस्त को मैसेज किया था। जिसमें बार-बार यह लिखा गया था कि तुम्हारे माता-पिता को देखना कुछ पता नहीं चले। इसमें से एक मोबाइल टूटा हुआ है।


पुलिस ने आरक्षक ज्योति प्रसाद शर्मा के नाबालिग बेटे और उसके दोस्तों से भी इस मामले में बात की। तो उन्होंने डीजे नाम के युवक का नाम बताया था। जिससे मृतक की बेटी की दोस्ती थी। पुलिस ने जब डीजे के  घर पर दबिश दी तो वह पहले ही भाग निकला। साथ ही अपना मोबाइल बंद कर लिया। इसलिए पुलिस को शक है कि कहीं बेटी ने अपने इसी दोस्त के साथ मिलकर वारदात को अंजाम दिया होगा।
 


पुलिस ने आरक्षक ज्योति प्रसाद शर्मा के नाबालिग बेटे और उसके दोस्तों से भी इस मामले में बात की। तो उन्होंने डीजे नाम के युवक का नाम बताया था। जिससे मृतक की बेटी की दोस्ती थी। पुलिस ने जब डीजे के  घर पर दबिश दी तो वह पहले ही भाग निकला। साथ ही अपना मोबाइल बंद कर लिया। इसलिए पुलिस को शक है कि कहीं बेटी ने अपने इसी दोस्त के साथ मिलकर वारदात को अंजाम दिया होगा।
 


पुलिस को सिपाही के पिता हरिप्रसाद ने बताया कि उनकी पोती सुबह 4 बजे कुत्ता घुमाने निकली थी। मैंने उसको टोकना चाहा कि इतनी ठंड में कुत्ता क्यों घुमा रही है। लेकिन फिर वह जाकर सो गए। वहीं मृतक के किराएदार का कहना है कि मुझे सुबह करीब 5 बजे किसी के चीखने की आवाज सुनाई दी थी। फिर मैंने सोचा कि यूं ही आपसी पारिवारिक विवाद हो रहा होगा। प्रारंभिक तौर पर पुलिस की शक की सुई पुलिसकर्मी की 15 साल की बेटी और उसके दोस्तों की ओर घूम रही है।


पुलिस को सिपाही के पिता हरिप्रसाद ने बताया कि उनकी पोती सुबह 4 बजे कुत्ता घुमाने निकली थी। मैंने उसको टोकना चाहा कि इतनी ठंड में कुत्ता क्यों घुमा रही है। लेकिन फिर वह जाकर सो गए। वहीं मृतक के किराएदार का कहना है कि मुझे सुबह करीब 5 बजे किसी के चीखने की आवाज सुनाई दी थी। फिर मैंने सोचा कि यूं ही आपसी पारिवारिक विवाद हो रहा होगा। प्रारंभिक तौर पर पुलिस की शक की सुई पुलिसकर्मी की 15 साल की बेटी और उसके दोस्तों की ओर घूम रही है।


दरअसल, यह खौफनाक घटना इंदौर शहर के एरोड्रम पुलिस थाने क्षेत्र में गुरुवार सुबह सामने आई। जहां पर पुलिसकर्मी ज्योति प्रसाद शर्मा व उनकी पत्नी नीलम की लाश मिली। दोनों की हत्या हमलावरों ने चाकू से गोदकर की है। हैरानी की बात यह है कि घटना के वक्त से मृतक दंपति की 17 वर्षीय बेटी घर से गायब है। मामले का पता उस दौरान चला जब उनका बेटा पास में रह रहे दादा-दादी के पास से अपने घर आया। जैसे ही उसने कमरे का दरवाजा खोला तो वह मम्मी-पापा को खून से लथपथ देख चीखने लगा। चीख की आवाज सुन परिजन और पड़ोसी दौड़कर वहां पहुंचे। 


दरअसल, यह खौफनाक घटना इंदौर शहर के एरोड्रम पुलिस थाने क्षेत्र में गुरुवार सुबह सामने आई। जहां पर पुलिसकर्मी ज्योति प्रसाद शर्मा व उनकी पत्नी नीलम की लाश मिली। दोनों की हत्या हमलावरों ने चाकू से गोदकर की है। हैरानी की बात यह है कि घटना के वक्त से मृतक दंपति की 17 वर्षीय बेटी घर से गायब है। मामले का पता उस दौरान चला जब उनका बेटा पास में रह रहे दादा-दादी के पास से अपने घर आया। जैसे ही उसने कमरे का दरवाजा खोला तो वह मम्मी-पापा को खून से लथपथ देख चीखने लगा। चीख की आवाज सुन परिजन और पड़ोसी दौड़कर वहां पहुंचे। 

 पुलिस आसपास सीसीटीवी कैमरे और अन्य जानकारी जुटा रही है। पुलिस घर से सबूत के रूप में जब्त सामान लेकर जाती हुई।

 पुलिस आसपास सीसीटीवी कैमरे और अन्य जानकारी जुटा रही है। पुलिस घर से सबूत के रूप में जब्त सामान लेकर जाती हुई।


पुलिसकर्मी ज्योति प्रसाद शर्मा व उनकी पत्नी नीलम की लाश यहीं पर मिली थी। तस्वीर में आप देख सकते हैं कि किस तरह से खून से सना था पूरा कमरा।
 


पुलिसकर्मी ज्योति प्रसाद शर्मा व उनकी पत्नी नीलम की लाश यहीं पर मिली थी। तस्वीर में आप देख सकते हैं कि किस तरह से खून से सना था पूरा कमरा।
 

हत्या के बाद मातम मनाते हुए मृतक सिपाही के परिजन, इसके अलावा वह बेटी को खोजते रहे, लेकिन उसका कहीं कोई पता नहीं चला।

हत्या के बाद मातम मनाते हुए मृतक सिपाही के परिजन, इसके अलावा वह बेटी को खोजते रहे, लेकिन उसका कहीं कोई पता नहीं चला।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios