Asianet News Hindi

दुल्हन के घर एक साथ बारात लेकर पहुंचे 6 दूल्हे, फिर जो नजारा देखने को मिला वो हैरान करने वाला था

First Published Mar 28, 2021, 8:32 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp


भोपाल (मध्य प्रदेश). शादियों का सीजन शुरू हो गया, रोज हजारों बारात लग रही हैं। लेकिन राजधानी भोपाल में एक शादी के दौरान अजीबो-गरीब मामला सामने आया है। जिसे शायद ही किसी ने कभी सुना और देखा होगा। यहां एक दुल्हन को लेने के लिए 6 दूल्हे बारात लेकर पहुंचे हुए थे। लेकिन वहां दुल्हन एक को भी नहीं मिली। ऐसे में सभी दूल्हे थाने पहुंच गए और पुलिस से मदद मांगने लगे। पढ़िए हैरान कर देने वाली यह खबर...


दरअसल, यह अनोखा मामला राजधानी भोपाल कोलार इलाके में में शुक्रवार को सामने आया। जहां एक जन कल्याण समिति के दफ्तर में  बारी- बारी एक ही दिन 6 दूल्हे बारात लेकर पहुंचे हुए थे। लेकिन वहां पर ना तो दुल्हन मिली और ना ही उसके घरवाले, बल्कि मंडप की जगह पर ताला लटका मिला। हरदा के रहने वाले एक दू्ल्हे ने पड़ोस में जानकारी और पूछा तो पता चला कि यहां कोई संस्था नहीं है। अब तक वह समझ चुके थे कि उनके साथ ठगी हुई है। सभी ने संस्था के खिलाफ पुलिस ने 
धोखाधड़ी की शिकायत दर्ज करवाई। (प्रतीकात्मक तस्वीर)


दरअसल, यह अनोखा मामला राजधानी भोपाल कोलार इलाके में में शुक्रवार को सामने आया। जहां एक जन कल्याण समिति के दफ्तर में  बारी- बारी एक ही दिन 6 दूल्हे बारात लेकर पहुंचे हुए थे। लेकिन वहां पर ना तो दुल्हन मिली और ना ही उसके घरवाले, बल्कि मंडप की जगह पर ताला लटका मिला। हरदा के रहने वाले एक दू्ल्हे ने पड़ोस में जानकारी और पूछा तो पता चला कि यहां कोई संस्था नहीं है। अब तक वह समझ चुके थे कि उनके साथ ठगी हुई है। सभी ने संस्था के खिलाफ पुलिस ने 
धोखाधड़ी की शिकायत दर्ज करवाई। (प्रतीकात्मक तस्वीर)


सभी दूल्हों ने पुलिस को अपनी आपबीती बताते हुए कहा कि कुछ दिन पहले जन कल्याण समिति के लोगों ने उनसे एक लड़की से मिलवाकर उनसे शादी कराने के लिए 20-20 हजार रुपये लिए थे। सभी दूल्हों के परिवार वालों को बारी-बारी अपने ऑफिस बुलाया और शुभ मुहूर्त की बात कहते हुए  शादी की तारीख  25 मार्च की तय कर दी थी। लेकिन जब वह यहां पहुंचे तो ताला लटका मिला। (प्रतीकात्मक तस्वीर)
 


सभी दूल्हों ने पुलिस को अपनी आपबीती बताते हुए कहा कि कुछ दिन पहले जन कल्याण समिति के लोगों ने उनसे एक लड़की से मिलवाकर उनसे शादी कराने के लिए 20-20 हजार रुपये लिए थे। सभी दूल्हों के परिवार वालों को बारी-बारी अपने ऑफिस बुलाया और शुभ मुहूर्त की बात कहते हुए  शादी की तारीख  25 मार्च की तय कर दी थी। लेकिन जब वह यहां पहुंचे तो ताला लटका मिला। (प्रतीकात्मक तस्वीर)
 


पुलिस ने जांच शुरु की तो पता चला कि यह लोग धोखाधड़ी करते हुए फर्जी दुल्हन बनाकर पैसा कमाते हैं। जब दूल्हों ने इनके नंबर दिए तो वह भी फर्जी निकले। आरोपियों के बताए पते पर छापेमारी की गई तो तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया। इसमें एक महिला और दो पुरुष हैं। यह लोग ऐसे लोगों को अपने जाल में फंसाते थे जिनकी शादियां नहीं हो रही हैं। खासकर वह गांव  में जाकर उनके परिवारों से संपर्क करते थे। इसके अलावा वह परिचय सम्मेलन की लिस्ट से डाटा चुराकर वहां से फोन नंबर निकालकर कॉल करते थे।


पुलिस ने जांच शुरु की तो पता चला कि यह लोग धोखाधड़ी करते हुए फर्जी दुल्हन बनाकर पैसा कमाते हैं। जब दूल्हों ने इनके नंबर दिए तो वह भी फर्जी निकले। आरोपियों के बताए पते पर छापेमारी की गई तो तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया। इसमें एक महिला और दो पुरुष हैं। यह लोग ऐसे लोगों को अपने जाल में फंसाते थे जिनकी शादियां नहीं हो रही हैं। खासकर वह गांव  में जाकर उनके परिवारों से संपर्क करते थे। इसके अलावा वह परिचय सम्मेलन की लिस्ट से डाटा चुराकर वहां से फोन नंबर निकालकर कॉल करते थे।


गिरोह का खुलासा हुआ तो पता चला कि यह लोग 200 से 500 रुपए देकर एक लड़कियों को अपने ऑफिस लाते थे। इसके बाद लड़कों को कॉल कर बुलाते और उनको लड़की से मुलाकात कराते। जिस लड़की को बुलाते उसे पूरी योजना बता देते थे। जिसके बाद जब लड़की पसंद आ जाती थी तो उनसे रजिस्ट्रेशन ते नाम पक 20 हजार वसूलते थे।
 


गिरोह का खुलासा हुआ तो पता चला कि यह लोग 200 से 500 रुपए देकर एक लड़कियों को अपने ऑफिस लाते थे। इसके बाद लड़कों को कॉल कर बुलाते और उनको लड़की से मुलाकात कराते। जिस लड़की को बुलाते उसे पूरी योजना बता देते थे। जिसके बाद जब लड़की पसंद आ जाती थी तो उनसे रजिस्ट्रेशन ते नाम पक 20 हजार वसूलते थे।
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios