Asianet News Hindi

शहीद कैप्टन को भाई और बेटे ने साथ दी मुखाग्नि तो कांप गया हर किसी का कलेजा, प्लेन उड़ते ही हुआ क्रैश

First Published Mar 18, 2021, 6:59 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp


ग्वालियर (मध्य प्रदेश). एक दिन पहले मिग-21 बाइसन क्रैश में शही हुए ग्रुप कैप्टन आशीष गुप्ता का ग्वालियर में पूरे सैन्य सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। एयरफोर्स के जवानों ने उन्हें अंतिम सलामी दी है। वहीं जब कैप्टन के बेटे और छोटे भाई ने एक साथ मुखाग्नि दी तो यह भावुक सीन देख हर किसी का कलेजा फट गया।


दरअसल, बुधवार को ग्वालियर एयरबेस से उड़ान भरते ही मिग-21 बाइसन जमीन से टकराकर दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। जिसके बाद भारतीय वायुसेना के इस विमान में आग लग गई थी। जिसकी चपेट में आने से ग्रुप कैप्टन आशीष शहीद हो गए थे। हालांकी बाद में जांच अधिकारियों ने बताया कि फ्यूल रिफलिंग के बाद विमान में तकनीकी खराबी आ गई थी। जिसके चलते वह हादसे का शिकार हो गया।


दरअसल, बुधवार को ग्वालियर एयरबेस से उड़ान भरते ही मिग-21 बाइसन जमीन से टकराकर दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। जिसके बाद भारतीय वायुसेना के इस विमान में आग लग गई थी। जिसकी चपेट में आने से ग्रुप कैप्टन आशीष शहीद हो गए थे। हालांकी बाद में जांच अधिकारियों ने बताया कि फ्यूल रिफलिंग के बाद विमान में तकनीकी खराबी आ गई थी। जिसके चलते वह हादसे का शिकार हो गया।


बता दें कि ग्रुप कैप्टन आशीष गुप्ता मूल रूप से उत्तर प्रदेश के उरई के रहने वाले थे। उनका परिवार अभी अयोध्या में रहता है। वहीं  इन दिनों ग्वालियर में पदस्थ थे और वहीं पर अपनी पत्नी छाया गुप्ता साथ रहते थे। शहीद कैप्टन के पिता प्रकाश चंद्र गुप्ता कोऑपरेटिव बैंक अयोध्या में मैनेजर के पद से हाल ही में रिटायरमेंट लिया है।


बता दें कि ग्रुप कैप्टन आशीष गुप्ता मूल रूप से उत्तर प्रदेश के उरई के रहने वाले थे। उनका परिवार अभी अयोध्या में रहता है। वहीं  इन दिनों ग्वालियर में पदस्थ थे और वहीं पर अपनी पत्नी छाया गुप्ता साथ रहते थे। शहीद कैप्टन के पिता प्रकाश चंद्र गुप्ता कोऑपरेटिव बैंक अयोध्या में मैनेजर के पद से हाल ही में रिटायरमेंट लिया है।


ग्रुप कैप्टन आशीष गुप्ता का भारतीय वायु सेना में चयन 1999 में हुआ था। वर्तमान में वह मिग-21 स्क्वाड्रन के कमांडिंग आफिसर थे। कैप्टन आशीष के शहीद होने की जानकारी मिलते ही एमपी के सीएम शिवराज सिंह चौहान और सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भी दुख व्यक्त किया था। अंतिम संस्कार में सेंट्रल एयर कमांड के कई सीनियर ऑफिसर शामिल हुए।


ग्रुप कैप्टन आशीष गुप्ता का भारतीय वायु सेना में चयन 1999 में हुआ था। वर्तमान में वह मिग-21 स्क्वाड्रन के कमांडिंग आफिसर थे। कैप्टन आशीष के शहीद होने की जानकारी मिलते ही एमपी के सीएम शिवराज सिंह चौहान और सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भी दुख व्यक्त किया था। अंतिम संस्कार में सेंट्रल एयर कमांड के कई सीनियर ऑफिसर शामिल हुए।


ग्रुप कैप्टन आशीष गुप्ता शहीद होने की  खबर सुनते ही परिवार बिलख रहा है। पत्नी  छाया गुप्ता कभी बेहोश तो कभी होश आने पर अपने पांच साल और तीन साल के बेटे  टिन टिन और अतिन को गले लगाकर उनको चुप कराती।


ग्रुप कैप्टन आशीष गुप्ता शहीद होने की  खबर सुनते ही परिवार बिलख रहा है। पत्नी  छाया गुप्ता कभी बेहोश तो कभी होश आने पर अपने पांच साल और तीन साल के बेटे  टिन टिन और अतिन को गले लगाकर उनको चुप कराती।


वहीं शहीद जवान के  छोटे भाई अमित गुप्ता ने कहा कि मेरे भाई ने देश के लिए कुर्बानी दी है, देशवासी इस दुख सहन करने की शक्ति परिवार वालों को दे। 
 


वहीं शहीद जवान के  छोटे भाई अमित गुप्ता ने कहा कि मेरे भाई ने देश के लिए कुर्बानी दी है, देशवासी इस दुख सहन करने की शक्ति परिवार वालों को दे। 
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios