Asianet News Hindi

6 माह के बच्चे को चुरा बहू सास से बोली-मुझे डिलीवरी हुई, खाकी के कमाल से खुश हो दादा चरणों में जा गिरा

First Published Feb 4, 2021, 6:51 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

सागर (मध्य प्रदेश). अक्सर बच्चा चोरी होने की खबरें सामने आती रहती हैं। लेकिन मध्य प्रदेश के सागर से इस मामले में हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। जहां एक महिला ने  6 माह के मासूम बच्चे को चुरा लिया और सास के पास जाकर बोली-देख लो आपके नाती को, मेरी आज ही डिलेवरी हुई है। हालांकि, पुलिस ने अपनी सूझबूझ से गायब हुए मासूम को मजह 7 घंटे में ढूंढ लिया। जब लेडी टीआई उसे लेकर उसके असली मां-बाप के पास लेकर पहुंची तो बच्चे के दादा को इतनी खुशी हुई कि उनसे रहा नहीं गया और महिला अफसर के कदमों गिरकर धन्यवाद देने लगे। यह मार्मिक सीन देख पुलिस वालों की आंखें भी नम हो गईं।


दरअसल, सोमवार को सागर जिला अस्पताल में एक आठ साल की बच्ची अपने 6 माह के भाई को गोद में लेकर घुमा रही थी। इसी दौरान वहां मौजूद एक महिला की नजर बच्ची पर पड़ी तो उसने उसे चोरी करने का प्लान बना लिया। जहां महिला ने बच्ची को  बिस्किट लाने के लिए 20 रुपए दिए तो वह बच्चे को उसे सौंपकर दुकान चली गई। इतने में युवती मासूम को लेकर गायब हो गई।


दरअसल, सोमवार को सागर जिला अस्पताल में एक आठ साल की बच्ची अपने 6 माह के भाई को गोद में लेकर घुमा रही थी। इसी दौरान वहां मौजूद एक महिला की नजर बच्ची पर पड़ी तो उसने उसे चोरी करने का प्लान बना लिया। जहां महिला ने बच्ची को  बिस्किट लाने के लिए 20 रुपए दिए तो वह बच्चे को उसे सौंपकर दुकान चली गई। इतने में युवती मासूम को लेकर गायब हो गई।


जब इसकी जानकारी पीड़ित परिवार को लगी तो वह बिलखते हुए गोपालगंज पुलिस के पास पहुंचे। जहां जरूवाखेड़ा के पालीतोड़ा गांव के रहने वाले मनोज अहिरवार ने बताया कि वह अपनी पत्नी की तबीयत  खराब होने पर अस्पताल लेकर आए थे। उनके साथ उनकी आठ साल की भतीजी शिवानी और एक 6 माह का बेटा भी साथ आया हुआ था। शिवानी 6 माह के बेटे को लेकर बाहर घूमने के लिए गई। लेकिन एक महिला उसे लेकर कहीं गायब हो गई।


जब इसकी जानकारी पीड़ित परिवार को लगी तो वह बिलखते हुए गोपालगंज पुलिस के पास पहुंचे। जहां जरूवाखेड़ा के पालीतोड़ा गांव के रहने वाले मनोज अहिरवार ने बताया कि वह अपनी पत्नी की तबीयत  खराब होने पर अस्पताल लेकर आए थे। उनके साथ उनकी आठ साल की भतीजी शिवानी और एक 6 माह का बेटा भी साथ आया हुआ था। शिवानी 6 माह के बेटे को लेकर बाहर घूमने के लिए गई। लेकिन एक महिला उसे लेकर कहीं गायब हो गई।

मामले की जानकारी जब गोपालगंज टीआई उपमा सिंह को लगी तो वह मौके पर पहुंची। उसके कुछ देर बाद जिले के एसपी विक्रम सिंह कुशवाहा और सीएसपी प्रजापति भी मौके पर पहुंची। बच्ची के माता-पिता और बच्ची शिवानी के बयान लेकर तलाश शुरू कर दी। एसपी विक्रम सिंह कुशवाहा और सीएसपी प्रजापति भी मौके पर पहुंचे और लड़के की मां पिता और शिवानी के बयान लिए। पूरे शहर में नाकेबंदी कर दी गई ।  आसपास दुकानदारों से बच्चे के पिता से उसकी फोटो लेकर उसकी तलाश में जुट गई थी। वहीं अस्पताल में लगे सीसीटीवी कैमरों की रिकॉर्डिंग देखी गई, लेकिन कैमरे बंद होने के कारण कोई फुटेज हाथ नहीं लगा।

मामले की जानकारी जब गोपालगंज टीआई उपमा सिंह को लगी तो वह मौके पर पहुंची। उसके कुछ देर बाद जिले के एसपी विक्रम सिंह कुशवाहा और सीएसपी प्रजापति भी मौके पर पहुंची। बच्ची के माता-पिता और बच्ची शिवानी के बयान लेकर तलाश शुरू कर दी। एसपी विक्रम सिंह कुशवाहा और सीएसपी प्रजापति भी मौके पर पहुंचे और लड़के की मां पिता और शिवानी के बयान लिए। पूरे शहर में नाकेबंदी कर दी गई ।  आसपास दुकानदारों से बच्चे के पिता से उसकी फोटो लेकर उसकी तलाश में जुट गई थी। वहीं अस्पताल में लगे सीसीटीवी कैमरों की रिकॉर्डिंग देखी गई, लेकिन कैमरे बंद होने के कारण कोई फुटेज हाथ नहीं लगा।


पुलिस ने पूरे जिले में पुलिस को अलर्ट कर सर्चिंग अभियान चलाया। आसपास के थानों में बच्चे की फोटो जारी कर गांव में खोजना शुरू किया। इसी बीच राख गांव में पुलिस को बच्चा मिल गया। जब टीआई उपमा सिंह बच्चे को लेकर उसके गांव देने पहुंची तो परिवार की आंखों से आंसू निकल आए, खाकी वर्दी को कमाल को देखते हुए पूरे गांव के लोगों ने ताली बजाकर उनका धन्यवाद दिया। वहीं बच्चे के दाद तो इतने भावुक हो गए कि वह महिला अफसर के चरणों में गिरकर उन्हें आभार देने लगे। 


पुलिस ने पूरे जिले में पुलिस को अलर्ट कर सर्चिंग अभियान चलाया। आसपास के थानों में बच्चे की फोटो जारी कर गांव में खोजना शुरू किया। इसी बीच राख गांव में पुलिस को बच्चा मिल गया। जब टीआई उपमा सिंह बच्चे को लेकर उसके गांव देने पहुंची तो परिवार की आंखों से आंसू निकल आए, खाकी वर्दी को कमाल को देखते हुए पूरे गांव के लोगों ने ताली बजाकर उनका धन्यवाद दिया। वहीं बच्चे के दाद तो इतने भावुक हो गए कि वह महिला अफसर के चरणों में गिरकर उन्हें आभार देने लगे। 

पूछताछ में महिला ने बताया कि उसकी शादी को 6 साल से ज्यादा का समय हो गया है। लेकिन उसके कोई संतान नहीं हुई, जिसकी वजह से सुसरालवाले उसे ताने मारते हैं। इस बात को लेकर लगातार परेशान थी कि कहीं कोई बच्चा तो मिल जाए। फिर मैंने जब अस्पताल में लड़की को बच्चे को लिए हुए देखा तो उसे चुराने का मन बना लिया। लड़की को बहला-फुसलाकर बच्चे को लेकर भाग गई। महिला ने बताया कि इसके बाद उसे लेकर अपनी सास के पास पहुंची और कहने लगी देखो सासू मां आपका नाती आ गया। मेरी आज ही अस्पताल में  डिलेवरी हुई है।

पूछताछ में महिला ने बताया कि उसकी शादी को 6 साल से ज्यादा का समय हो गया है। लेकिन उसके कोई संतान नहीं हुई, जिसकी वजह से सुसरालवाले उसे ताने मारते हैं। इस बात को लेकर लगातार परेशान थी कि कहीं कोई बच्चा तो मिल जाए। फिर मैंने जब अस्पताल में लड़की को बच्चे को लिए हुए देखा तो उसे चुराने का मन बना लिया। लड़की को बहला-फुसलाकर बच्चे को लेकर भाग गई। महिला ने बताया कि इसके बाद उसे लेकर अपनी सास के पास पहुंची और कहने लगी देखो सासू मां आपका नाती आ गया। मेरी आज ही अस्पताल में  डिलेवरी हुई है।


बता दें कि जब महिला कांस्टेबल ने बच्चे की मां रबीनी को उसका बेटा सौंपा तो वह रोने लगी। कहने लगी मैडम आपने हमारी सांसे लौटा दीं। हम तो पता नहीं क्या क्या सोचने लगे थे कि अब नहीं मिलेगा मेरा बेटा। लेकिन आपने सकुशल हमारे लाल से मिलवा दिया।


बता दें कि जब महिला कांस्टेबल ने बच्चे की मां रबीनी को उसका बेटा सौंपा तो वह रोने लगी। कहने लगी मैडम आपने हमारी सांसे लौटा दीं। हम तो पता नहीं क्या क्या सोचने लगे थे कि अब नहीं मिलेगा मेरा बेटा। लेकिन आपने सकुशल हमारे लाल से मिलवा दिया।


लेकिन जब चोर महिल ने कहा कि मुझे डिलेवरी हुई है और यह मेरा बच्चा है तो सास को कुछ शक हुआ। यह बात धीरे-धीरे पूरे गांव में फैल गई है, उनको लगा कि यह कैसे हो सकता है कि यह तो गर्भवती भी नहीं थी और इसे बच्चे कैसे हो गया। फिर क्या था गांव के लोगों ने इसकी जानकारी स्थानीय पुलिस को दी।
 


लेकिन जब चोर महिल ने कहा कि मुझे डिलेवरी हुई है और यह मेरा बच्चा है तो सास को कुछ शक हुआ। यह बात धीरे-धीरे पूरे गांव में फैल गई है, उनको लगा कि यह कैसे हो सकता है कि यह तो गर्भवती भी नहीं थी और इसे बच्चे कैसे हो गया। फिर क्या था गांव के लोगों ने इसकी जानकारी स्थानीय पुलिस को दी।
 

फिल्मी अंदाज में जिस तरह से गोपालगंज टीआई उपमा सिंह ने बच्चे को खोज निकाला है, पूरे जिले में आज हर कोई उनको सलाम कर रहा है।

फिल्मी अंदाज में जिस तरह से गोपालगंज टीआई उपमा सिंह ने बच्चे को खोज निकाला है, पूरे जिले में आज हर कोई उनको सलाम कर रहा है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios