Asianet News Hindi

तस्वीरों में देखिए CM शिवराज का निकला लेडी स्पेशल काफिला, कार चलाने से ट्रैफिक और मंच तक सिर्फ वुमेन

First Published Mar 8, 2021, 11:48 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

भोपाल. 8 मार्च यानि आज अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस है। जो नारी शक्ति को सलाम करते हुए महिलाओं की उपलब्धियों को सेलिब्रेट किया जाता है। वह आज हर मोर्चे पर पुरुषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चल रही हैं। घरों में गृहिणी, कार्यस्थलों पर, कहीं नर्स के रूप में, कहीं टीचर के रूप में तो कहीं पुलिस में वो किसी न किसी रूप में अपनी मिसाल पेश कर रही हैं। ऐसे में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का आज का दिन सबसे अलग होने जा रहा है। क्योंकि वुमेन्स डे पर सीएम सुरक्षा की पूरी जिम्मेदारी महिलाओं पर होगी, यहां तक कि उनके काफिल में चलने वाली पुलिस से लेकर ड्राइवर भी महिला ही होंगी। दिनभर की सुरक्षा 40 महिला पुलिस अफसरों के जिम्मे होगी। साथ ही उनकी कार भी एक लेडी पुलिस अफसर चलाएंगी। आइए जानते हैं उनके काफिले के बारे में...
 


दरअसल, महिला दिवस पर सीएम शिवराज सिंह चौहान भोपाल के स्मार्ट सिटी रोड पर महिला पत्रकारों से बातचीत करते हुए शरूआत करेंगे। जहां वह महिलाओं से जुड़ी कई घोषणांए भी कर सकते हैं। इसके अलावा उनके काफिले और अन्य सुरक्षा व्यवस्था में 19 महिला सब इंस्पेक्टर और 8  महिला सिपाहियों को सौंपी गई है। जिसमें आरआई इरशद अली खान मुख्यमंत्री का वाहन पूरा दिन चलाएंगी।


दरअसल, महिला दिवस पर सीएम शिवराज सिंह चौहान भोपाल के स्मार्ट सिटी रोड पर महिला पत्रकारों से बातचीत करते हुए शरूआत करेंगे। जहां वह महिलाओं से जुड़ी कई घोषणांए भी कर सकते हैं। इसके अलावा उनके काफिले और अन्य सुरक्षा व्यवस्था में 19 महिला सब इंस्पेक्टर और 8  महिला सिपाहियों को सौंपी गई है। जिसमें आरआई इरशद अली खान मुख्यमंत्री का वाहन पूरा दिन चलाएंगी।


सीएम शिवराज सिंह चौहान आज पूरा दिन जहां भी दौरे पर या किसी कार्यक्रम में जाएंगे तो वहां पर  ट्रैफिक महिलाएं देखेंगी। इतना ही नहीं आज जो समारोह होगा उसका संचालन भी महिलाएं ही करेंगी। यानि मुख्य कार्यक्रम के मंच पर भी सीएम के अलावा सिर्फ महिलाएं होंगी। एडवांस सिक्योरिटी लाइजनिंग में भी स्पेशल लेडीज अफसर होंगी।
 


सीएम शिवराज सिंह चौहान आज पूरा दिन जहां भी दौरे पर या किसी कार्यक्रम में जाएंगे तो वहां पर  ट्रैफिक महिलाएं देखेंगी। इतना ही नहीं आज जो समारोह होगा उसका संचालन भी महिलाएं ही करेंगी। यानि मुख्य कार्यक्रम के मंच पर भी सीएम के अलावा सिर्फ महिलाएं होंगी। एडवांस सिक्योरिटी लाइजनिंग में भी स्पेशल लेडीज अफसर होंगी।
 


महिला दिवस के मौके पर सबसे बड़ा बदलाव विधानसभा में देखने को मिलेगा। जहां पर अध्यक्ष की आसंदी पर महिला सभापति को ज्यादा समय दिया जाएगा। इतना ही नहीं इस दौरान प्रश्नकाल व अन्य कार्यवाही में भी महिला विधायकों को सबसे ज्यादा समय के अलावा मौका दिया जाएगा।
 


महिला दिवस के मौके पर सबसे बड़ा बदलाव विधानसभा में देखने को मिलेगा। जहां पर अध्यक्ष की आसंदी पर महिला सभापति को ज्यादा समय दिया जाएगा। इतना ही नहीं इस दौरान प्रश्नकाल व अन्य कार्यवाही में भी महिला विधायकों को सबसे ज्यादा समय के अलावा मौका दिया जाएगा।
 


8 मार्च का दिन शिवराज सरकार से पूरी तरह से महिलाओं को समर्पित होगा। इस दिन महिला बाल विकास विभाग महिलाओं के मजबूत और सशक्त बनाने के उद्देश्य से अपराजिता अभियान की शरुआत करने जा रहा है। जिसके तहत सरकारी और उत्कृष्ट स्कूलों की कक्षा 9वीं से 12वीं तक की छात्राओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए मार्शल आर्ट्स की  ट्रेनिंग दी जाएगी।


8 मार्च का दिन शिवराज सरकार से पूरी तरह से महिलाओं को समर्पित होगा। इस दिन महिला बाल विकास विभाग महिलाओं के मजबूत और सशक्त बनाने के उद्देश्य से अपराजिता अभियान की शरुआत करने जा रहा है। जिसके तहत सरकारी और उत्कृष्ट स्कूलों की कक्षा 9वीं से 12वीं तक की छात्राओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए मार्शल आर्ट्स की  ट्रेनिंग दी जाएगी।

महिला दिवस के मौके पर सीएम शिवराज सिंह चौहान महिलाओं से संबंधित मामलों के लिए राज्य स्तरीय महिला सलाहकार मंडल बनाने की घोषणा कर सकते हैं। वहीं सरकारी अस्पतालों में 'दीदी की रसोई' नाम से कैंटीन खोलने और इनका संचालन स्व सहायता समूह को सौंपने की तैयारी की गई है। जिसके चलते जिला स्तर पर सरकारी कार्यालयों की कैंटीन भी इनको सौंपे जाने की घोषणा हो सकती है।

महिला दिवस के मौके पर सीएम शिवराज सिंह चौहान महिलाओं से संबंधित मामलों के लिए राज्य स्तरीय महिला सलाहकार मंडल बनाने की घोषणा कर सकते हैं। वहीं सरकारी अस्पतालों में 'दीदी की रसोई' नाम से कैंटीन खोलने और इनका संचालन स्व सहायता समूह को सौंपने की तैयारी की गई है। जिसके चलते जिला स्तर पर सरकारी कार्यालयों की कैंटीन भी इनको सौंपे जाने की घोषणा हो सकती है।


मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अचानक मुख्यमंत्री राजधानी के नेहरू नगर इलाके में पहुंचे। जहां उन्होंने महिला सफाई कर्मचारियों के साथ चौपाल लगाई और उनके साथ झाड़ू पकड़ सफाई भी करवाई। इसके अलावा सीएम ने महिलाओं से पूछा कि उनकी बेहतरी के लिए क्या हो सकता है तो जिसके लिए सुझाव मांगे।
 


मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अचानक मुख्यमंत्री राजधानी के नेहरू नगर इलाके में पहुंचे। जहां उन्होंने महिला सफाई कर्मचारियों के साथ चौपाल लगाई और उनके साथ झाड़ू पकड़ सफाई भी करवाई। इसके अलावा सीएम ने महिलाओं से पूछा कि उनकी बेहतरी के लिए क्या हो सकता है तो जिसके लिए सुझाव मांगे।
 


सीएम शिवराज से महिलाओं को महिला दिवस की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि मैं प्रदेश की अपनी बहनों के जीवन को सरल, सुगम और आनंददायी बनाने के लिए अनवरत प्रयत्नशील हूं। आपके हर सुख-दु:ख में मैं शामिल हूं, साथ हूं। 


सीएम शिवराज से महिलाओं को महिला दिवस की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि मैं प्रदेश की अपनी बहनों के जीवन को सरल, सुगम और आनंददायी बनाने के लिए अनवरत प्रयत्नशील हूं। आपके हर सुख-दु:ख में मैं शामिल हूं, साथ हूं। 


महिला सुरक्षाकर्मियों और महिला अधिकारियों के साथ कार से रवाना होकर नेहरू नगर चौराहे पर सफाई कामगार बहनों के साथ चर्चा की। सीएम ने कहा कि महिला चाहे किसी भी वर्ग की हो, किसी भी क्षेत्र में काम करने वाली हो, सबसे महत्वपूर्ण चीज़ यदि उनके लिए है, तो वो है सम्मान!


महिला सुरक्षाकर्मियों और महिला अधिकारियों के साथ कार से रवाना होकर नेहरू नगर चौराहे पर सफाई कामगार बहनों के साथ चर्चा की। सीएम ने कहा कि महिला चाहे किसी भी वर्ग की हो, किसी भी क्षेत्र में काम करने वाली हो, सबसे महत्वपूर्ण चीज़ यदि उनके लिए है, तो वो है सम्मान!

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios