Asianet News Hindi

यहां मुर्गे-मुर्ग‍ियों को लूटने की मची होड़, कोई जिंदा तो कोई मरी ही ले गया..तस्वीर देख कहेंगे गजब

First Published Dec 29, 2020, 5:46 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बड़वानी (मध्य प्रदेश). अक्सर लोगों से सुना है कि फ्री में तो कोई सड़ा गधा भी ले जाता है। ऐसा ही एक अनोखा मामला बड़वानी में देखने को मिला, जहां ग्रामीणों में मुर्गियों को लूटने की होड़ मच गई। कोई बाइक से जिंदा मुर्गा-मुर्गी को ले भागा तो कोई मरे को ले रफूचक्कर हो गया। बताया जाता है कि इस पिकअप वाहन में करीब 1500 से ज्यादा मुर्गियां थीं।
 


दरअसल, यह अनोखा सीन बडवानी जिले के सेंधवा कुशलगढ़ स्टेट हाईवे के दोंडवाड़ा गांव के पास देखने को मिला। जहां मुर्गियों से भरा एक पिकअप अचान पलट गया था। जैसे ही यह खबर लोगों पता चलती तो आसपास के गांव वाले मौके पर पहुंचे और मुर्गे-मुर्ग‍ियों को लूटने होड़ मच गई। जिसके हाथ में जितनी मुर्गियां आईं वो ले भागा। इतना ही नहीं किसी के हाथ जिंदा तो किसी को मरी मुर्गी हाथ लगी।


दरअसल, यह अनोखा सीन बडवानी जिले के सेंधवा कुशलगढ़ स्टेट हाईवे के दोंडवाड़ा गांव के पास देखने को मिला। जहां मुर्गियों से भरा एक पिकअप अचान पलट गया था। जैसे ही यह खबर लोगों पता चलती तो आसपास के गांव वाले मौके पर पहुंचे और मुर्गे-मुर्ग‍ियों को लूटने होड़ मच गई। जिसके हाथ में जितनी मुर्गियां आईं वो ले भागा। इतना ही नहीं किसी के हाथ जिंदा तो किसी को मरी मुर्गी हाथ लगी।


पिकअप चालक सनाउल्लाह ने बताया कि वह मालेगांव महाराष्ट्र से मुर्गियां लेकर खिलचीपुर जा रहा था। इसी दौरान दोंडावाड़ा के पास बीच सड़क पर अचानक गाय सामने आ गई। उसे बचाने के चक्कर में पिकअप अनियंत्रित होकर पलट गया। 


पिकअप चालक सनाउल्लाह ने बताया कि वह मालेगांव महाराष्ट्र से मुर्गियां लेकर खिलचीपुर जा रहा था। इसी दौरान दोंडावाड़ा के पास बीच सड़क पर अचानक गाय सामने आ गई। उसे बचाने के चक्कर में पिकअप अनियंत्रित होकर पलट गया। 


चालक ने बताया कि गाड़ी के पलटने के बाद करीब 1000 मुर्गियां तुरंत मर गईं। जबकि 300 से 400 मुर्गी जिंदा बची थीं, लेकिन ग्रामीण अपने घरों से बाहर निकले और मुर्गियां पर टूट पड़े। आलम यह था कि लोग एक दूसरे से लड़न को तैयार हो गए।


चालक ने बताया कि गाड़ी के पलटने के बाद करीब 1000 मुर्गियां तुरंत मर गईं। जबकि 300 से 400 मुर्गी जिंदा बची थीं, लेकिन ग्रामीण अपने घरों से बाहर निकले और मुर्गियां पर टूट पड़े। आलम यह था कि लोग एक दूसरे से लड़न को तैयार हो गए।

लोगों की भीड़ देख जब मैंने पुलिस को फोन लगाया तो किसी ने फोन नहीं उठाया और मौके पर पुलिस भी नहीं पहुंची। जिसकी वजह से और लोग मुर्गियां लेकर भाग खड़े हुए।

लोगों की भीड़ देख जब मैंने पुलिस को फोन लगाया तो किसी ने फोन नहीं उठाया और मौके पर पुलिस भी नहीं पहुंची। जिसकी वजह से और लोग मुर्गियां लेकर भाग खड़े हुए।

खबर लगते ही आसपास गांव के लोग बाइक से मुर्गियों पहुंचने लगे, तस्वीर में आप साफ देख सकते हैं।

खबर लगते ही आसपास गांव के लोग बाइक से मुर्गियों पहुंचने लगे, तस्वीर में आप साफ देख सकते हैं।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios