Asianet News Hindi

इस IPS को पुलिस विभाग मानता है आइकॉन, जान छिड़कती हैं लड़कियां..डेट करने के लिए घर से भाग जातीं

First Published Oct 2, 2020, 11:45 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

ग्वालियर, अक्सर अपनी फिटनेस को लेकर चर्चा में रहने वाले  IPS अधिकारी सचिन अतुलकर का एक बार फिर नई जिम्मेदारी दी गई है। उनको ग्वालियर का DIG बनाया गया है। बता दें कि इससे पहले वो SAF की 7वीं बटालियन में पदस्थ थे। वह एसपी उज्जैन के रूप में भी सेवाएं दे चुके हैं।  2007 बैच के IPS सचिन अतुलकर फिटनेस के मामले में पुलिस डिपार्टमेंट के अफसर-कर्मचारियों के आइकॉन हैं। आइए जानते हैं इनके बारे में...
 

IPS सचिन अतुलकर महज 22 साल की उम्र में आईपीएस बनने वाले अतुलकर ने अपनी ज्वाइनिंग के बाद से ही युवाओं बीच काफी लोकप्रियता हासिल कर ली थी। सचिन अतुलकर अपनी फिटनेस को लेकर काफी सतर्क रहते हैं, यही वजह है कि उनका अंदाज किसी फिल्मी स्टार की तरह नज़र आता है।

IPS सचिन अतुलकर महज 22 साल की उम्र में आईपीएस बनने वाले अतुलकर ने अपनी ज्वाइनिंग के बाद से ही युवाओं बीच काफी लोकप्रियता हासिल कर ली थी। सचिन अतुलकर अपनी फिटनेस को लेकर काफी सतर्क रहते हैं, यही वजह है कि उनका अंदाज किसी फिल्मी स्टार की तरह नज़र आता है।

बता दें कि वैलेंटाइन डे आते ही इस आईपीएस ऑफिसर के सोशल मीडिया पर अकाउंट पर लड़कियों के मैसेज की झड़ी लग जाती थी। कोई इन्हें सिंघम तो कोई सिंबा के नाम से पुकारता है। इंस्टाग्राम पर ये जैसे ही कोई तस्वीर पोस्ट करते, उस पर कमेंट के जरिए शादी के प्रस्ताव आने लगते। साल 2018 में पजांब से एक लड़की उनसे मिलवे के लिए एमपी आई थी। जब उसको मिलने नहीं दिया तो वह आत्महत्या करने की धमकी भी देने लगी थी। सचिन जहां भी जाते हैं, वहां उनके साथ सेल्फी लेने वालों की होड़ सी लग जाती है।
 

बता दें कि वैलेंटाइन डे आते ही इस आईपीएस ऑफिसर के सोशल मीडिया पर अकाउंट पर लड़कियों के मैसेज की झड़ी लग जाती थी। कोई इन्हें सिंघम तो कोई सिंबा के नाम से पुकारता है। इंस्टाग्राम पर ये जैसे ही कोई तस्वीर पोस्ट करते, उस पर कमेंट के जरिए शादी के प्रस्ताव आने लगते। साल 2018 में पजांब से एक लड़की उनसे मिलवे के लिए एमपी आई थी। जब उसको मिलने नहीं दिया तो वह आत्महत्या करने की धमकी भी देने लगी थी। सचिन जहां भी जाते हैं, वहां उनके साथ सेल्फी लेने वालों की होड़ सी लग जाती है।
 


सचिन अतुलकरअपनी फिटनेस को बहुत अधिक महत्व देते हैं, इसलिए वे खुद को फिट रखने के लिए योग और जिम दोनों का सहारा लेते हैं! खबरों की मानें तो सचिन हर दिन लगभग दो घंटे एक्सरसाइज करते हैं! इन दो घंटों में वे जिम में पसीना बहाने के साथ योग भी करते हैं।


सचिन अतुलकरअपनी फिटनेस को बहुत अधिक महत्व देते हैं, इसलिए वे खुद को फिट रखने के लिए योग और जिम दोनों का सहारा लेते हैं! खबरों की मानें तो सचिन हर दिन लगभग दो घंटे एक्सरसाइज करते हैं! इन दो घंटों में वे जिम में पसीना बहाने के साथ योग भी करते हैं।

सचिन अतुलकर शिवभक्त माने जाते हैं। सचिन अतुलकर 2018 में आयोजित IPS मीट के दौरान बाहुबली बनकर सामने आए थे। उन्होंने बाहुबली स्टाइल में शिवलिंग भी उठाया था।

सचिन अतुलकर शिवभक्त माने जाते हैं। सचिन अतुलकर 2018 में आयोजित IPS मीट के दौरान बाहुबली बनकर सामने आए थे। उन्होंने बाहुबली स्टाइल में शिवलिंग भी उठाया था।


8 अगस्त 1984 को भागलपुर में जन्मे सचिन अतुलकर अपनी फिटनेस को लेकर यूथ आइकॉन बने हुए हैं। उनके पिता भारतीय वन सेवा से रिटायर्ड हैं। वहीं भाई आर्मी में है।


8 अगस्त 1984 को भागलपुर में जन्मे सचिन अतुलकर अपनी फिटनेस को लेकर यूथ आइकॉन बने हुए हैं। उनके पिता भारतीय वन सेवा से रिटायर्ड हैं। वहीं भाई आर्मी में है।


सचिन अतुलकर ने सिविल सेवा परीक्षा 2006 में 258 रैंक प्राप्त की थी। उन्होंने ग्रेजुएशन बी. कॉम किया हुआ है। इसके बाद वो यूपीएससी की तैयारी करने में जुट गए। उन्होंने सिविल सेवा परीक्षा 2006 में 258 रैंक प्राप्त की थी।


सचिन अतुलकर ने सिविल सेवा परीक्षा 2006 में 258 रैंक प्राप्त की थी। उन्होंने ग्रेजुएशन बी. कॉम किया हुआ है। इसके बाद वो यूपीएससी की तैयारी करने में जुट गए। उन्होंने सिविल सेवा परीक्षा 2006 में 258 रैंक प्राप्त की थी।


सचिन अतुलकर अपनी सोशल लाइफ के कारण भी सुर्खियों में रहते हैं। वे सोशल मीडिया पर भी बराबर सक्रिय रहते हैं।


सचिन अतुलकर अपनी सोशल लाइफ के कारण भी सुर्खियों में रहते हैं। वे सोशल मीडिया पर भी बराबर सक्रिय रहते हैं।


सचिन अतुलकर अपनी सोशल लाइफ के कारण भी सुर्खियों में रहते हैं। वे सोशल मीडिया पर भी बराबर सक्रिय रहते हैं।
 


सचिन अतुलकर अपनी सोशल लाइफ के कारण भी सुर्खियों में रहते हैं। वे सोशल मीडिया पर भी बराबर सक्रिय रहते हैं।
 

 सचिन  999 में राष्ट्रीय स्तर पर क्रिकेट खेल चुके हैं। उन्हें 2010 में घुड़सवारी के राष्ट्रीय स्तर पर शो-जंपिंग में गोल्ड मेडल मिला था।
 

 सचिन  999 में राष्ट्रीय स्तर पर क्रिकेट खेल चुके हैं। उन्हें 2010 में घुड़सवारी के राष्ट्रीय स्तर पर शो-जंपिंग में गोल्ड मेडल मिला था।
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios