Asianet News Hindi

सबसे अनूठा रिश्ता: टीआई ने बेसहारा बुजुर्ग महिला को बनाया अपनी मां, मदर्स डे पर दिया सबसे अनोखा तोहफा

First Published May 9, 2021, 5:25 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp


इंदौर (मध्य प्रदेश). हर साल मई के दूसरे रविवार को मदर्स डे (Mothers Day) मनाया जाता है। वैसे तो मां के लिए हर दिन खास और स्पेशल होता है, लेकिन मदर्स डे पर खुशियां दोगुनी हो जाती हैं। क्योंकि मां से बड़ा इस दुनिया में और कोई रिश्ता नहीं होता। इसी बीच इंदौर से एक दिल को भावुक कर देने वाली कहानी सामने आई है। जहां एक बुजुर्ग महिला और टीआई के बीच कोई रिश्ता नहीं होते हुए भी मां-बेटे का रिश्ता बन गया। यह पुलिस अफसर बुजुर्ग महिला के एक फोन पर उससे मिलने के लिए दौड़े चला आता है। आइए जानते हैं ऐसी मां-बेटे की कहानी...


दरअसल, 5 साल पहले इंदौर के तुकोगंज थाने में 70 वर्षीय महिला सुहासिनी तलवार अपने साथ हुई धोखाधड़ी की शिकायत लेकर पहुंची हुई थीं। इसी दौरान उनकी मुलाकत थाना प्रभारी तहजीब काजी से हुई। महिला ने अपनी दर्दभरी कहानी सुनाते हुए रोने लगीं और कहा बेटा तुम मेरे बेटे जैसे हो कम से कम तुम तो मेरी मदद करो। इसके बाद दोनों के बीच मां-बेटे का रिश्ता बन गया।
 


दरअसल, 5 साल पहले इंदौर के तुकोगंज थाने में 70 वर्षीय महिला सुहासिनी तलवार अपने साथ हुई धोखाधड़ी की शिकायत लेकर पहुंची हुई थीं। इसी दौरान उनकी मुलाकत थाना प्रभारी तहजीब काजी से हुई। महिला ने अपनी दर्दभरी कहानी सुनाते हुए रोने लगीं और कहा बेटा तुम मेरे बेटे जैसे हो कम से कम तुम तो मेरी मदद करो। इसके बाद दोनों के बीच मां-बेटे का रिश्ता बन गया।
 


टीआई  तहजीब काजी को जब कभी समय मिलता है वह बुजुर्ग महिला यानि उनकी मां से मिलने के लिए जाते हैं। कई बार तो महिला खुद टीआई से मिलने के लिए थाने चली आती हैं। दोनों को साथ देखकर सभी यह कहते हैं कि सचमुच यह मां-बेटे हैं।
 


टीआई  तहजीब काजी को जब कभी समय मिलता है वह बुजुर्ग महिला यानि उनकी मां से मिलने के लिए जाते हैं। कई बार तो महिला खुद टीआई से मिलने के लिए थाने चली आती हैं। दोनों को साथ देखकर सभी यह कहते हैं कि सचमुच यह मां-बेटे हैं।
 


मदर्स डे के मौके पर टीआई  तहजीब काजी केक लेकर अचानक सुहासिनी तलवार के घर पहुंचे हुए थे। जहां महिला ने केक काटकर टीआई का मुंह मीठा काराय। दोनों के बीच काफी लंबे समय तक बातचीत भी हुई। 
 


मदर्स डे के मौके पर टीआई  तहजीब काजी केक लेकर अचानक सुहासिनी तलवार के घर पहुंचे हुए थे। जहां महिला ने केक काटकर टीआई का मुंह मीठा काराय। दोनों के बीच काफी लंबे समय तक बातचीत भी हुई। 
 


बातचीत के दौरान बुजुर्ग महिला टीआई से पूछा कि बेटा ये बताओ कि वैक्सीनेशन खतरनाक तो नहीं है। इसे लगवाने से में बीमार तो नहीं होंगी। इतना सुनते ही टाई ने कहा कि मां आपने अभी तक वैक्सीन नहीं लगवाई। में कल ही आपके लिए अपनी कार भेजता हूं, जिसमें बैठकर आप वैक्सीन लगवा लेना। इस तरह मदर्स डे पुलिसवाले बेटे ने अपनी मां को एक अलग तोहफा दिया है।
 


बातचीत के दौरान बुजुर्ग महिला टीआई से पूछा कि बेटा ये बताओ कि वैक्सीनेशन खतरनाक तो नहीं है। इसे लगवाने से में बीमार तो नहीं होंगी। इतना सुनते ही टाई ने कहा कि मां आपने अभी तक वैक्सीन नहीं लगवाई। में कल ही आपके लिए अपनी कार भेजता हूं, जिसमें बैठकर आप वैक्सीन लगवा लेना। इस तरह मदर्स डे पुलिसवाले बेटे ने अपनी मां को एक अलग तोहफा दिया है।
 


बता दें कि कुछ दिन पहले टीआई तहजीब काजी कोरोना से संक्रमित हो गए थे। उनके लंग्स में 60 फीसदी इंफेक्शन हो गया था, लेकिन उन्होंने हिम्मत नहीं हारी और आत्मविश्वास और कसरत से कोरोना को मात देकर वापस लौटे।
 


बता दें कि कुछ दिन पहले टीआई तहजीब काजी कोरोना से संक्रमित हो गए थे। उनके लंग्स में 60 फीसदी इंफेक्शन हो गया था, लेकिन उन्होंने हिम्मत नहीं हारी और आत्मविश्वास और कसरत से कोरोना को मात देकर वापस लौटे।
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios