Asianet News Hindi

इतना सारा पैसा कि पुलिस के गिनते-गिनते हाथ दु:ख गए, ऊपर लिखा था एक अजीब बैंक का नाम

First Published Jun 11, 2020, 4:54 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

पुणे, महाराष्ट्र. लॉकडाउन में लोग दाने-दाने को मोहताज हैं और 6 लोग संदूक में ढेर सारे नोट भरकर निकले थे। लेकिन उन्हें नहीं मालूम था कि कानून के हाथ काफी लंबे होते हैं। अब सभी पुलिस की गिरफ्त में हैं। बता दें कि पुणे की क्राइम ब्रांच ने 50 करोड़ रुपए से ज्यादा की फेक करेंसी पकड़ी है। इनमें डॉलर सहित कुछ अन्य देशों की करेंसी भी शामिल है। इनमें से ज्यादातर नोटों पर चिल्ड्रन बैंक ऑफ इंडिया लिखा हुआ था।  हालांकि अभी यह रहस्य बना हुआ है कि ऐसा क्यों किया गया? इसके पीछे क्या षड्यंत्र है, अभी पड़ताल की जा रही है। आशंका जताई जा रही है कि ऐसा ठगी के मकसद से किया गया होगा। इस मामल में पकड़े गए लोगों में एक सेना का जवान भी है। इसलिए आर्मी की इंटेलिजेंस भी जांच में जुट गई है।
 

पुणे के डीसीपी क्राइम ब्रांच बच्चन सिंह ने बताया कि उन्हें आर्मी इंटेलिजेंस से फेक करेंसी के बारे में सूचना मिली थी।

पुणे के डीसीपी क्राइम ब्रांच बच्चन सिंह ने बताया कि उन्हें आर्मी इंटेलिजेंस से फेक करेंसी के बारे में सूचना मिली थी।

क्राइम ब्रांच ने बड़ी होशियारी से दबिश देकर के विमाननगर इलाके के एक फ्लैट से 6 लोगों को गिरफ्तार किया। सेना का जवान इस गैंग का मास्टरमाइंड है।

क्राइम ब्रांच ने बड़ी होशियारी से दबिश देकर के विमाननगर इलाके के एक फ्लैट से 6 लोगों को गिरफ्तार किया। सेना का जवान इस गैंग का मास्टरमाइंड है।

डीसीपी के अनुसार जब्त फेक करेंसी में भारतीयों रुपए का मूल्य 43.4 करोड़ रुपए और अमेरिकी डॉलर का मूल्य 4.2 करोड़ रुपए है। 

डीसीपी के अनुसार जब्त फेक करेंसी में भारतीयों रुपए का मूल्य 43.4 करोड़ रुपए और अमेरिकी डॉलर का मूल्य 4.2 करोड़ रुपए है। 

पकड़े गए आरोपी-शेख अलीम (36), सुनील सारडा (40), अब्दुल गनी (43), अब्दुलगानी खान (18), रितेश रत्नाकर (34) और तुफेल अहमद (28) हैं। इसमें से शेख अलीम खान खड़की में बॉम्बे सैपर्स बटालियन में नायक के पद पर कार्यरत है।

पकड़े गए आरोपी-शेख अलीम (36), सुनील सारडा (40), अब्दुल गनी (43), अब्दुलगानी खान (18), रितेश रत्नाकर (34) और तुफेल अहमद (28) हैं। इसमें से शेख अलीम खान खड़की में बॉम्बे सैपर्स बटालियन में नायक के पद पर कार्यरत है।

रैकेट के लिंक का पता किया जा रहा है। नोटों के साथ एक बंदूक भी मिली।

रैकेट के लिंक का पता किया जा रहा है। नोटों के साथ एक बंदूक भी मिली।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios