Asianet News Hindi

कभी कार्टूनिस्ट थे बाला साहेब ठाकरे, जानिए उनसे जुड़ीं वे 8 बातें, जो उन्हें बनाती हैं 'टाइगर ऑफ मराठा'

First Published Nov 17, 2020, 8:09 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंबई. बाला साहेब ठाकरे की आज पुण्यतिथि है। 17 नवंबर 2012 को बाला साहेब का निधन हो गया था। बाल ठाकरे की शख्सियत का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि जब उनका निधन हुआ था, तो पूरी मुंबई थम गई थी। उनकी अंतिम यात्रा में 2 लाख से ज्यादा लोग शामिल हुए थे। बाल ठाकरे का जन्म 23 जनवरी 1926 को महाराष्ट्र के पुणे में हुआ था। उनके पिता का नाम प्रबोधनकार केशव सीताराम ठाकरे था। आईए जानते हैं बाला साहेब ठाकरे के बार में कुछ रोचक बातें...

बाल ठाकरे का जन्म मराठी परिवार में हुआ था। बाला साहेब एक कार्टूनिस्ट थे, बाद में वे एक कद्दावर नेता बने। उनकी छवि हिंदू राष्ट्रवादी नेता के तौर पर रही। ठाकरे ने अपने करियर की शुरुआत अंग्रेजी भाषा के दैनिक द फ्री प्रेस जर्नल में थी।

बाल ठाकरे का जन्म मराठी परिवार में हुआ था। बाला साहेब एक कार्टूनिस्ट थे, बाद में वे एक कद्दावर नेता बने। उनकी छवि हिंदू राष्ट्रवादी नेता के तौर पर रही। ठाकरे ने अपने करियर की शुरुआत अंग्रेजी भाषा के दैनिक द फ्री प्रेस जर्नल में थी।

बाला साहेब ठाकरे 1960 से राजनीति में सक्रिय हो गए। हालांकि, वे कभी चुनाव नहीं लड़े, लेकिन किंग मेकर की भूमिका में रहे।

बाला साहेब ठाकरे 1960 से राजनीति में सक्रिय हो गए। हालांकि, वे कभी चुनाव नहीं लड़े, लेकिन किंग मेकर की भूमिका में रहे।

बालासाहेब ठाकरे की शादी मीनाताई ठाकरे से हुई थी। उनके तीन बेटे हुए। बिंदुमाधव ठाकरे, जयदेव ठाकरे और उद्धव ठाकरे। उद्धव आज महाराष्ट्र में शिवसेना के नेतृत्व वाली गठबंधन सरकार में मुख्यमंत्री हैं।

बालासाहेब ठाकरे की शादी मीनाताई ठाकरे से हुई थी। उनके तीन बेटे हुए। बिंदुमाधव ठाकरे, जयदेव ठाकरे और उद्धव ठाकरे। उद्धव आज महाराष्ट्र में शिवसेना के नेतृत्व वाली गठबंधन सरकार में मुख्यमंत्री हैं।

बालासाहेब ठाकरे बेबाकी से जवाब देते थे। जब अयोध्या में बाबरी ढांचा गिराया गया था, तो पार्टियां इसकी जिम्मेदारी लेने से बच रही थीं। उस वक्त बाला साहेब ने खुलकर कहा था कि शिवसैनिकों ने मस्जिद गिराई है।

बालासाहेब ठाकरे बेबाकी से जवाब देते थे। जब अयोध्या में बाबरी ढांचा गिराया गया था, तो पार्टियां इसकी जिम्मेदारी लेने से बच रही थीं। उस वक्त बाला साहेब ने खुलकर कहा था कि शिवसैनिकों ने मस्जिद गिराई है।

 बाला साहेब ठाकरे ने एक बार सचिन तेंदुलकर का खुलकर विरोध किया था। दरअसल, सचिन ने कहा था कि महाराष्ट्र पर पूरे भारत का हक है, इसके जवाब में ठाकरे ने सलाह दी थी कि वे राजनीतिक बयानबाजी से दूर रहें, सिर्फ क्रिकेट ही खेलें।

 बाला साहेब ठाकरे ने एक बार सचिन तेंदुलकर का खुलकर विरोध किया था। दरअसल, सचिन ने कहा था कि महाराष्ट्र पर पूरे भारत का हक है, इसके जवाब में ठाकरे ने सलाह दी थी कि वे राजनीतिक बयानबाजी से दूर रहें, सिर्फ क्रिकेट ही खेलें।

बाला साहेब ने पूर्व पीएम इंदिरा गांधी का इमरजेंसी में खुलकर समर्थन किया था। जबकि वे विपक्ष में थे। 
 

बाला साहेब ने पूर्व पीएम इंदिरा गांधी का इमरजेंसी में खुलकर समर्थन किया था। जबकि वे विपक्ष में थे। 
 

बाला साहेब का फिल्मी जगत से बेहद करीबी रिश्ता रहा है। अभिनेता संजय दत्त जब टाडा के दौरान मुश्किल में थे, उस समय बाल ठाकरे ने उनकी मदद की थी। इसके अलावा दिलीप कुमार और अमिताभ बच्चन के भी बाल ठाकरे से काफी अच्छे रिश्ते रहे हैं।

बाला साहेब का फिल्मी जगत से बेहद करीबी रिश्ता रहा है। अभिनेता संजय दत्त जब टाडा के दौरान मुश्किल में थे, उस समय बाल ठाकरे ने उनकी मदद की थी। इसके अलावा दिलीप कुमार और अमिताभ बच्चन के भी बाल ठाकरे से काफी अच्छे रिश्ते रहे हैं।

1966 में जब पॉप स्टार माइकल जैक्शन भारत आए, तो उनका काफी विरोध हुआ था। इसके बाद बाल ठाकरे ने खुलकर जैक्शन का समर्थन किया था और विरोधियों को शांत कराया था। 

1966 में जब पॉप स्टार माइकल जैक्शन भारत आए, तो उनका काफी विरोध हुआ था। इसके बाद बाल ठाकरे ने खुलकर जैक्शन का समर्थन किया था और विरोधियों को शांत कराया था। 

पत्नी मीनाताई ठाकरे के साथ बाल ठाकरे।

पत्नी मीनाताई ठाकरे के साथ बाल ठाकरे।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios