Asianet News Hindi

चिप्स खाने की वजह से हुई दो दलित लड़कियों की मौत? उन्नाव केस में स्निफर डॉग के जरिए बड़ा खुलासा

First Published Feb 19, 2021, 1:04 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

उत्तर प्रदेश के उन्नाव में दो दलित लड़कियों की संदिग्ध हालत में हुई मौत की गुत्थी सुलझाने में लगी पुलिस को बड़ा सुराग मिला है। स्निफर डॉग की मदद से पुलिस को एक ऐसी दुकान का पता चला है, जहां से घटना वाले दिन दोनों लड़कियों ने चिप्स खरीद कर खाया था। पुलिस ने दुकान के सारे चिप्स और नमकीन जप्त कर लिए हैं। शक है कि कहीं चिप्स या नमकीन में जहर तो नहीं था, क्योंकि यह पता चला है कि लड़कियों की बॉडी में जहर पाया गया था। 


जब घटना स्थल पर पहुंची फॉरेंसिक टीम
दरअसल, उन्नाव में दो लड़कियों के शव मिले थे। शरीर पर कहीं पर भी जोर-जबरदस्ती या चोट के निशान नहीं मिले हैं। हां, यह जरूर है कि दोनों लड़कियों के शरीर में जहरीला पदार्थ मिला है। इसी की पड़ताल करते हुए फॉरेंसिक टीम स्निफर डॉग लेकर उस गांव पहुंची, जहां घटना घटी थी। 
 


जब घटना स्थल पर पहुंची फॉरेंसिक टीम
दरअसल, उन्नाव में दो लड़कियों के शव मिले थे। शरीर पर कहीं पर भी जोर-जबरदस्ती या चोट के निशान नहीं मिले हैं। हां, यह जरूर है कि दोनों लड़कियों के शरीर में जहरीला पदार्थ मिला है। इसी की पड़ताल करते हुए फॉरेंसिक टीम स्निफर डॉग लेकर उस गांव पहुंची, जहां घटना घटी थी। 
 


एक दुकान की तरफ भागने लगा डॉग
घटनास्थल पर पहुंचने के बाद स्निफर डॉग एक दुकान की तरफ भागने लगा। जब पुलिस ने ये देखा तो उस दुकान की तरफ गए और दुकानदार से पूछताछ की। पूछताछ में पता चला कि घटना वाले दिन यानी बुधवार को दोपहर घर से निकलते वक्त लड़किों ने उसकी दुकान से नमकीन कै पैकेट लिए थे और खाया था। 


एक दुकान की तरफ भागने लगा डॉग
घटनास्थल पर पहुंचने के बाद स्निफर डॉग एक दुकान की तरफ भागने लगा। जब पुलिस ने ये देखा तो उस दुकान की तरफ गए और दुकानदार से पूछताछ की। पूछताछ में पता चला कि घटना वाले दिन यानी बुधवार को दोपहर घर से निकलते वक्त लड़किों ने उसकी दुकान से नमकीन कै पैकेट लिए थे और खाया था। 


पुलिस को शक, कहीं जहर तो नहीं
पुलिस को शक है कि कहीं चिप्स के पैकेट में जहर तो नहीं था। जांच के लिए पुलिस ने दुकान में रखे पैकेट और नमकीन के पैकेट को जब्त कर जांच के लिए लैब में भेज दिया है। 


पुलिस को शक, कहीं जहर तो नहीं
पुलिस को शक है कि कहीं चिप्स के पैकेट में जहर तो नहीं था। जांच के लिए पुलिस ने दुकान में रखे पैकेट और नमकीन के पैकेट को जब्त कर जांच के लिए लैब में भेज दिया है। 


अंतिम संस्कार में भारी पुलिसबल तैनात
दोनों लड़कियों का शुक्रवार को अंतिम संस्कार किया गया। अंतिम संस्कार के वक्त गांव में भारी पुलिसबल तैनात किए गए। दोनों मृतक लड़कियों के परिवार के सदस्यों की मौजूदगी में उन्नाव गांव में उनके घर से थोड़ी दूरी पर अंतिम संस्कार किया गया।


अंतिम संस्कार में भारी पुलिसबल तैनात
दोनों लड़कियों का शुक्रवार को अंतिम संस्कार किया गया। अंतिम संस्कार के वक्त गांव में भारी पुलिसबल तैनात किए गए। दोनों मृतक लड़कियों के परिवार के सदस्यों की मौजूदगी में उन्नाव गांव में उनके घर से थोड़ी दूरी पर अंतिम संस्कार किया गया।


तीन लड़कियां बेहोश मिली थीं 
उन्नाव के बबुरहा गांव में 17 फरवरी की शाम तीन लड़कियां काजल, कोमल और रोशनी संदेहास्पद परिस्थितियों में बेहोश मिली थीं। इलाज के दौरान काजल और कोमल की मौत हो गई है। रोशनी की हालत नाजुक है। उसका इलाज कानपुर के रीजेंसी अस्पताल में चल रहा है।


तीन लड़कियां बेहोश मिली थीं 
उन्नाव के बबुरहा गांव में 17 फरवरी की शाम तीन लड़कियां काजल, कोमल और रोशनी संदेहास्पद परिस्थितियों में बेहोश मिली थीं। इलाज के दौरान काजल और कोमल की मौत हो गई है। रोशनी की हालत नाजुक है। उसका इलाज कानपुर के रीजेंसी अस्पताल में चल रहा है।


मौत के कारण का पता नहीं चला
मृतक लड़कियों के पोस्टमार्टम से कोई बाहरी चोट नहीं मिली है। मौत के कारण का पता नहीं चला है। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में पॉइजनिंग की पुष्टि हुई है, लेकिन तीनों ने खुद जहर खाया या खिलाया गया, यह अभी भी एक बड़ा सवाल है।


मौत के कारण का पता नहीं चला
मृतक लड़कियों के पोस्टमार्टम से कोई बाहरी चोट नहीं मिली है। मौत के कारण का पता नहीं चला है। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में पॉइजनिंग की पुष्टि हुई है, लेकिन तीनों ने खुद जहर खाया या खिलाया गया, यह अभी भी एक बड़ा सवाल है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios