Asianet News Hindi

जब राष्ट्रगान बज रहा था, तब मोबाइल पर बतियाने में लगी थी 'अमीर पिता' की ये MLA बेटी

First Published Jan 8, 2021, 3:35 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

कोलकाता, पश्चिम बंगाल. कुछ महीने में यहां होने जा रहे विधानभा चुनाव के पहले ही तृणमूल कांग्रेस में भगदड़ मच गई है। कुछ दिन पहले बल्ली विधानसभा से विधायक वैशाली डालमिया ने भी पार्टी से किनारा कर लिया। वैशाली भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड(BCCI) के अध्यक्ष रहे और जाने-माने बिजनेसमैन स्वर्गीय जगमोहन डालमिया की बेटी हैं। जगमोहन वर्तमान बोर्ड प्रेसिडेंट सौरव गांगुली के करीबी माने जाते थे। हमेशा मुस्कराती रहने वालीं वैशाली को अब अपनी पार्टी का वर्क कल्चर रास नहीं आया। सिंगल मदर वैशाली जब 2006 में विधायक चुनी गई थीं, तब उन्होंने एक विवाद खड़ा किया था। यह मामला था एक कार्यक्रम के दौरान राष्ट्रगान के बीच फोन पर बतियाने का। जानते हैं वैशाली के बारे में...

तृणमूल कांग्रेस से नाराज वैशाली डालमिया दिसंबर, 2016 को तब विवादों में आई थीं, जब उन पर राष्ट्रगान के अपमान का आरोप लगा था। हावड़ा में एक फुटबॉल टूर्नामेंट का आयोजन किया गया था। इसमें वैशाली भी मौजूद थीं। वे राष्ट्रगान के बीच फोन पर बतियाती रहीं। अब जानते हैं वैशाली की फैमिली के बारे में...
(FILE फोटो)

तृणमूल कांग्रेस से नाराज वैशाली डालमिया दिसंबर, 2016 को तब विवादों में आई थीं, जब उन पर राष्ट्रगान के अपमान का आरोप लगा था। हावड़ा में एक फुटबॉल टूर्नामेंट का आयोजन किया गया था। इसमें वैशाली भी मौजूद थीं। वे राष्ट्रगान के बीच फोन पर बतियाती रहीं। अब जानते हैं वैशाली की फैमिली के बारे में...
(FILE फोटो)

वैशाली डालमिया का जन्म 1969 को माना जाता है। वे बल्ली विधानसभा क्षेत्र से तृणमूल कांग्रेस की विधायक हैं। वैशाली ने 2016 में राजनीति में कदम रखा था। (FILE फोटो- सौरव गांगुली के साथ वैशाली)

वैशाली डालमिया का जन्म 1969 को माना जाता है। वे बल्ली विधानसभा क्षेत्र से तृणमूल कांग्रेस की विधायक हैं। वैशाली ने 2016 में राजनीति में कदम रखा था। (FILE फोटो- सौरव गांगुली के साथ वैशाली)

वैशाली ने रांची यूनिवर्सिटी से 1992 में ग्रेजुएशन किया था। करीब 52 वर्षीय वैशाली अमीर पिता की करोड़पति बेटी हैं। अपने पहले ही इलेक्शन में उन्होंने चुनाव आयोग के समक्ष पेश शपथ पत्र में एक करोड़ की प्रॉपर्टी घोषित की थी। हालांकि उन्होंने खुद को 40 लाख रुपए का कर्जदार भी बताया था।
(FILE फोटो-तृणमूल कांग्रेस की सर्वेसर्वा ममता बैनर्जी के साथ वैशाली)

वैशाली ने रांची यूनिवर्सिटी से 1992 में ग्रेजुएशन किया था। करीब 52 वर्षीय वैशाली अमीर पिता की करोड़पति बेटी हैं। अपने पहले ही इलेक्शन में उन्होंने चुनाव आयोग के समक्ष पेश शपथ पत्र में एक करोड़ की प्रॉपर्टी घोषित की थी। हालांकि उन्होंने खुद को 40 लाख रुपए का कर्जदार भी बताया था।
(FILE फोटो-तृणमूल कांग्रेस की सर्वेसर्वा ममता बैनर्जी के साथ वैशाली)

वैशाली के एक भाई हैं। अभिषेक डालमिया पिछले साल फरवरी में बंगाल क्रिकेट संघ के सबसे कम उम्र के अध्यक्ष चुने गए थे। तब उनकी उम्र 38 साल थी। वैशाली मारवाड़ी फैमिली से आती हैं।
(FILE फोटो-पिछले इलेक्शन के दौरान वैशाली)

वैशाली के एक भाई हैं। अभिषेक डालमिया पिछले साल फरवरी में बंगाल क्रिकेट संघ के सबसे कम उम्र के अध्यक्ष चुने गए थे। तब उनकी उम्र 38 साल थी। वैशाली मारवाड़ी फैमिली से आती हैं।
(FILE फोटो-पिछले इलेक्शन के दौरान वैशाली)

डालमिया फैमिली मूलत: राजस्थान के झुंझनूं जिले के चिरवारा की रहने वाली है। हालांकि यह कई दशकों से कोलकाता में बस चुकी है।
(FILE फोटो-एक प्रदर्शनी के दौरान दौरान वैशाली)
 

डालमिया फैमिली मूलत: राजस्थान के झुंझनूं जिले के चिरवारा की रहने वाली है। हालांकि यह कई दशकों से कोलकाता में बस चुकी है।
(FILE फोटो-एक प्रदर्शनी के दौरान दौरान वैशाली)
 

 वैशाली के दादा अर्जुन प्रसाद डालमिया कोलकाता बेस्ड बिजनेसमैन थे।
(FILE फोटो)

 वैशाली के दादा अर्जुन प्रसाद डालमिया कोलकाता बेस्ड बिजनेसमैन थे।
(FILE फोटो)

वैशाली के पिता जगमोहन डालमिया का 20 सितंबर, 2015 को निधन हो गया था। वैशाली उनके निधन के एक साल बाद ही राजनीति में उतर आई थीं।
(FILE फोटो-अपने दफ्तर में वैशाली)

वैशाली के पिता जगमोहन डालमिया का 20 सितंबर, 2015 को निधन हो गया था। वैशाली उनके निधन के एक साल बाद ही राजनीति में उतर आई थीं।
(FILE फोटो-अपने दफ्तर में वैशाली)

ताजा घटनाक्रम में वैशाली ने आरोप लगाया कि पिछले 3-4 सालों में पार्टी में कुछ लोग काम नहीं करने दे रहे हैं। 
(FILE फोटो-पिछले इलेक्शन में वैशाली)
 

ताजा घटनाक्रम में वैशाली ने आरोप लगाया कि पिछले 3-4 सालों में पार्टी में कुछ लोग काम नहीं करने दे रहे हैं। 
(FILE फोटो-पिछले इलेक्शन में वैशाली)
 

वैशाली अपने हंसमुख स्वभाव और मिलनसारिता के लिए जानी जाती हैं। वे अपने क्षेत्र में काफी सक्रिय रहती हैं।
(FILE फोटो-पिछले इलेक्शन में वैशाली)
 

वैशाली अपने हंसमुख स्वभाव और मिलनसारिता के लिए जानी जाती हैं। वे अपने क्षेत्र में काफी सक्रिय रहती हैं।
(FILE फोटो-पिछले इलेक्शन में वैशाली)
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios