Asianet News Hindi

इस देश में 10 साल में हो जाती है लड़कियों की शादी, 17 साल की मरीसा ने इसे रोकने निकाला यह तरीका

First Published Jan 6, 2021, 4:36 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

जिम्बाब्वे। दक्षिण अफ्रीकी देश जिम्बाब्वे में लड़कियों की स्थिति ठीक नही है। गरीबी के चलते यहां लड़कियों की कम उम्र में शादी कर दी जाती है। यहां यौन शोषण के मामले भी काफी आते हैं। लड़कियों को इन हालात के खिलाफ खड़ा 17 साल की  नटसिरैश मरीसा सिंघम बनकर सामने आई हैं। मरीसा यहां की लड़कियों को मार्शल आर्ट की ट्रेनिंग दे रही हैं। मरीसा सिर्फ लड़कियों को ही नहीं, उनकी मां को भी ताइक्वावांडो सिखाती हैं। मरीसा खुद 5 साल की उम्र से मार्शल आर्ट सीखती आ रही हैं। मरीसा कहती हैं कि उनका मकसद यही है कि लड़कियां अपनी लड़ाई खुद लड़ सकें। यौन हिंसा और जबर्दस्त बाल विवाह के खिलाफ आवाज उठा सकें।

मरीसा मार्शल आर्ट की ट्रेनिंग के बीच लड़कियों को बाल विवाह के नुकसान से भी अवगत कराती हैं। उनकी क्लास में ऐसी लड़कियां भी आती हैं, जो खुद मां बन चुकी हैं। वे मरीसा को शादी के बाद उनके साथ हुए शोषण के बारे में बताती हैं। कई बार उनके साथ रेप तक होता है। गर्भावस्था में उनका ख्याल नहीं रखा जाता।
 

मरीसा मार्शल आर्ट की ट्रेनिंग के बीच लड़कियों को बाल विवाह के नुकसान से भी अवगत कराती हैं। उनकी क्लास में ऐसी लड़कियां भी आती हैं, जो खुद मां बन चुकी हैं। वे मरीसा को शादी के बाद उनके साथ हुए शोषण के बारे में बताती हैं। कई बार उनके साथ रेप तक होता है। गर्भावस्था में उनका ख्याल नहीं रखा जाता।
 

मरीसा की क्लास में कई लड़कियां ऐसी भी हैं, जो अपने पति के खिलाफ आवाज उठाकर पढ़ाई जारी रखे हुए हैं। मरीसा की क्लास में करीब 15 लड़कियां आती हैं।

मरीसा की क्लास में कई लड़कियां ऐसी भी हैं, जो अपने पति के खिलाफ आवाज उठाकर पढ़ाई जारी रखे हुए हैं। मरीसा की क्लास में करीब 15 लड़कियां आती हैं।

बता दें कि जिम्बाब्वे को पहले दक्षिण रोडेशिया, रोडेशिया, रोडेशिया गणराज्य और जिम्बाब्वे रोडेशिया के नाम से जाना जाता था। इसे अफ्रीका में रोटी की टोकरी कहते हैं, लेकिन पिछले तीन साल से पड़ रहे सूखे ने इस देश को और गरीबी में लाकर खड़ा कर दिया है।

बता दें कि जिम्बाब्वे को पहले दक्षिण रोडेशिया, रोडेशिया, रोडेशिया गणराज्य और जिम्बाब्वे रोडेशिया के नाम से जाना जाता था। इसे अफ्रीका में रोटी की टोकरी कहते हैं, लेकिन पिछले तीन साल से पड़ रहे सूखे ने इस देश को और गरीबी में लाकर खड़ा कर दिया है।

बता दें कि दुनिया में रेप के मामले में जिम्बाब्वे 9वें स्थान पर है। यहां हर 90 मिनट में एक महिला से रेप होता है। जिम्बाब्वे नेशनल स्टेटिस्टिक्स ने पिछले आंकड़ों के अनुसार, यहां एक महीने में करीब 500 महिलाओं का यौन शोषण और हर दिन 16 महिलाओं के साथ रेप होता रहा।
 

बता दें कि दुनिया में रेप के मामले में जिम्बाब्वे 9वें स्थान पर है। यहां हर 90 मिनट में एक महिला से रेप होता है। जिम्बाब्वे नेशनल स्टेटिस्टिक्स ने पिछले आंकड़ों के अनुसार, यहां एक महीने में करीब 500 महिलाओं का यौन शोषण और हर दिन 16 महिलाओं के साथ रेप होता रहा।
 

कुछ साल पहले जिम्बाब्वे नेशनल स्टेटिस्टिक्स ने एक रिपोर्ट जारी की थी। इसके हिसाब से यहां रेप की 42 प्रतिशत घटनाएं बच्चों के साथ होती हैं। गरीबी के चलते मां-बाप अपने बच्चों की परवरिश ठीक से नहीं कर पाते। वे खुद भी लड़कियों की जल्दी शादी कराने में लगे रहते हैं।

कुछ साल पहले जिम्बाब्वे नेशनल स्टेटिस्टिक्स ने एक रिपोर्ट जारी की थी। इसके हिसाब से यहां रेप की 42 प्रतिशत घटनाएं बच्चों के साथ होती हैं। गरीबी के चलते मां-बाप अपने बच्चों की परवरिश ठीक से नहीं कर पाते। वे खुद भी लड़कियों की जल्दी शादी कराने में लगे रहते हैं।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios