Asianet News Hindi

लॉकडाउन 4.0: किस राज्य में क्या मिलेगी छूट, क्या रहेगा बैन, जानिए पूरी लिस्ट

First Published May 18, 2020, 12:29 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए देश में लॉकडाउन का चौथा चरण लागू किया गया है। यह 18 मई से 31 मई तक लागू रहेगा। इस बार लॉकडाउन में केंद्र सरकार ने राज्यों को काफी अधिकार दिए हैं। राज्य अपने स्तर पर आर्थिक गतिविधियां खोलने की अनुमति दे सकते हैं। इसके अलावा राज्यों को अब जोन का निर्धारण करने का भी अधिकार है। संक्रमण के खतरे को देखते हुए महाराष्ट्र लॉकडाउन में ज्यादा छूटें देने के पक्ष में नहीं है। लेकिन इस बार पंजाब और दिल्ली में अधिक छूटें मिल सकती हैं। आईए जानते हैं कि राज्य क्या क्या छूट दे सकते हैं।

दिल्ली में मिल सकती हैं ये छूटें : 
लॉकडाउन 4.0 में दिल्ली को कितनी छूट दी जाएगी। इसे लेकर केजरीवाल सरकार इसे लेकर आज गाइडलाइंस आएंगी। लॉकडाउन को लेकर केजरीवाल ने जनता से सुझाव भी मांगे थे। अब माना जा रहा है कि यहां रेस्टोरेंट, मिठाई की दुकानें, बेकरी खुल सकती हैं, हालांकि, इनमें बैठकर खाना नहीं खा सकेंगे। सिर्फ होम डिलीवरी और टेक अवे की सुविधा दी जा सकती है। राज्य सरकार बसें चलाने की अनुमति दे सकती है। हालांकि, इनमें सिर्फ 20 सवारियों की अनुमति मिलेगी। इसके अलावा प्राइवेट ऑफिस 50% स्टाफ के साथ खुलने की इजाजत मिल सकती है। सोशल डिस्टेंसिंग की शर्त के साथ पार्क, स्पोर्ट्स कॉम्पलैक्स खोले जा सकते हैं। हालांकि, कंटेनमेंट जोन में ढिलाई कम ही मिलेगी। 

दिल्ली में मिल सकती हैं ये छूटें : 
लॉकडाउन 4.0 में दिल्ली को कितनी छूट दी जाएगी। इसे लेकर केजरीवाल सरकार इसे लेकर आज गाइडलाइंस आएंगी। लॉकडाउन को लेकर केजरीवाल ने जनता से सुझाव भी मांगे थे। अब माना जा रहा है कि यहां रेस्टोरेंट, मिठाई की दुकानें, बेकरी खुल सकती हैं, हालांकि, इनमें बैठकर खाना नहीं खा सकेंगे। सिर्फ होम डिलीवरी और टेक अवे की सुविधा दी जा सकती है। राज्य सरकार बसें चलाने की अनुमति दे सकती है। हालांकि, इनमें सिर्फ 20 सवारियों की अनुमति मिलेगी। इसके अलावा प्राइवेट ऑफिस 50% स्टाफ के साथ खुलने की इजाजत मिल सकती है। सोशल डिस्टेंसिंग की शर्त के साथ पार्क, स्पोर्ट्स कॉम्पलैक्स खोले जा सकते हैं। हालांकि, कंटेनमेंट जोन में ढिलाई कम ही मिलेगी। 

महाराष्ट्र में ज्यादा ढील नहीं
देश में सबसे ज्यादा संक्रमित महाराष्ट्र है। ऐसे में यहां उद्धव सरकार ज्यादा छूट देने के पक्ष में नहीं है। महाराष्ट्र में रेड जोन में तो ढील की उम्मीद नहीं है। हालांकि, ग्रीन और ऑरेंज जोन में छूटें बरकरार रहेगी। महाराष्ट्र में मुंबई, पुणे, ठाणे, नासिक, पलघर, नागपुर, सोलापुर, यवतमाल, औरंगाबाद, सतारा, धुले, अकोला, जलगांव रेड जोन में रहेंगे। 

महाराष्ट्र में ज्यादा ढील नहीं
देश में सबसे ज्यादा संक्रमित महाराष्ट्र है। ऐसे में यहां उद्धव सरकार ज्यादा छूट देने के पक्ष में नहीं है। महाराष्ट्र में रेड जोन में तो ढील की उम्मीद नहीं है। हालांकि, ग्रीन और ऑरेंज जोन में छूटें बरकरार रहेगी। महाराष्ट्र में मुंबई, पुणे, ठाणे, नासिक, पलघर, नागपुर, सोलापुर, यवतमाल, औरंगाबाद, सतारा, धुले, अकोला, जलगांव रेड जोन में रहेंगे। 

गुजरात में मिलेंगी ये छूटें
गुजरात में कारोबार खुल सकते हैं। यहां सिर्फ अहमदाबाद को छोड़कर कंटेनमेंट में छूट दी जा सकती है। बसें चलाई जा सकती हैं। यहां अहमदाबाद, वडोदरा, सूरत में  कंटेनमेंट जोन को छोड़कर छूट दी जा सकती है। यहां आज गाइडलाइन जारी की जा सकती हैं। 

गुजरात में मिलेंगी ये छूटें
गुजरात में कारोबार खुल सकते हैं। यहां सिर्फ अहमदाबाद को छोड़कर कंटेनमेंट में छूट दी जा सकती है। बसें चलाई जा सकती हैं। यहां अहमदाबाद, वडोदरा, सूरत में  कंटेनमेंट जोन को छोड़कर छूट दी जा सकती है। यहां आज गाइडलाइन जारी की जा सकती हैं। 

मध्य प्रदेश के बड़े शहरों में छूट की गुंजाइश कम 
मध्यप्रदेश के बड़े शहरों भोपाल, इंदौर और उज्जैन में संक्रमण ज्यादा है, इसलिए यहां कम छूटें मिलने की संभावनाएं हैं। भोपाल में कंटेनमेंट जोन के बाहर क्षेत्रों को 6 सेक्टर में बांटा गया है। यहां इंडस्ट्री में 50% लोगों के साथ शुरू की जा सकेंगी। इसके अलावा दफ्तरों में 33 फीसदी कर्मचारियों को काम करन की अनुमति मिल सकती है। ग्रीन जोन में पब्लिक ट्रांसपोर्ट शुरू हो सकता है। इंदौर में भी कोई राहत मिलने की उम्मीद नहीं है। सोशल डिस्टेंसिंग के साथ ग्रामीण और कंटेनमेंट के बाहर सभी तरह की दुकानें खोलने की अनुमति दी जा सकती है। 

मध्य प्रदेश के बड़े शहरों में छूट की गुंजाइश कम 
मध्यप्रदेश के बड़े शहरों भोपाल, इंदौर और उज्जैन में संक्रमण ज्यादा है, इसलिए यहां कम छूटें मिलने की संभावनाएं हैं। भोपाल में कंटेनमेंट जोन के बाहर क्षेत्रों को 6 सेक्टर में बांटा गया है। यहां इंडस्ट्री में 50% लोगों के साथ शुरू की जा सकेंगी। इसके अलावा दफ्तरों में 33 फीसदी कर्मचारियों को काम करन की अनुमति मिल सकती है। ग्रीन जोन में पब्लिक ट्रांसपोर्ट शुरू हो सकता है। इंदौर में भी कोई राहत मिलने की उम्मीद नहीं है। सोशल डिस्टेंसिंग के साथ ग्रामीण और कंटेनमेंट के बाहर सभी तरह की दुकानें खोलने की अनुमति दी जा सकती है। 

पंजाब में पहले से ही हुआ छूटों का ऐलान 
पंजाब में कर्फ्यू हट गया है। हालांकि यहां 31 मई तक लॉकडाउन रहेगा। लेकिन कंटेनमेंट के बाहर सभी तरह की दुकानें खोलने की अनुमति हैं। इसके अलावा सरकारी और प्राइवेट दफ्तर खोलने की अनुमति दी गई है। वहीं, बस सेवा और टैक्सी सर्विस, ऑटो भी आज से खुल सकेंगे। 

पंजाब में पहले से ही हुआ छूटों का ऐलान 
पंजाब में कर्फ्यू हट गया है। हालांकि यहां 31 मई तक लॉकडाउन रहेगा। लेकिन कंटेनमेंट के बाहर सभी तरह की दुकानें खोलने की अनुमति हैं। इसके अलावा सरकारी और प्राइवेट दफ्तर खोलने की अनुमति दी गई है। वहीं, बस सेवा और टैक्सी सर्विस, ऑटो भी आज से खुल सकेंगे। 

राजस्थान में मिलेंगी छूटें
राजस्थान के सभी जिलों में बस सेवा शुरू हो सकती है।  स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स, स्टेडियम खुल सकते हैं। हालांकि, दर्शकों के आने पर पाबंदी रहेगी। इसके अलावा सरकारी ऑफिस 33-50% कर्मचारियों के साथ खोले जा सकते हैं।  रेड जोन को छोड़कर बाकी जगहों पर सभी तरह के कारोबार को छूट मिल सकती है।  ग्रीन जोन में आने वाले जिलों में ढील दी जा सकती है।

राजस्थान में मिलेंगी छूटें
राजस्थान के सभी जिलों में बस सेवा शुरू हो सकती है।  स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स, स्टेडियम खुल सकते हैं। हालांकि, दर्शकों के आने पर पाबंदी रहेगी। इसके अलावा सरकारी ऑफिस 33-50% कर्मचारियों के साथ खोले जा सकते हैं।  रेड जोन को छोड़कर बाकी जगहों पर सभी तरह के कारोबार को छूट मिल सकती है।  ग्रीन जोन में आने वाले जिलों में ढील दी जा सकती है।

कर्नाटक में राज्य के भीतर चलेंगी बस-ट्रेनें
कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने गाइडलाइन जारी करते हुए कहा, राज्य में सरकारी-प्राइवेट बसें चल सकेंगी। इसके अलावा कंटेनमेंट एरिया में लॉकडाउन का पालन किया जाएगा। रेड जोन को छोड़कर सभी क्षेत्रों में आर्थिक गतिविधियों शुरू करने की अनुमति है। रविवार को पूरे राज्य में लॉकडाउन रहेगा। होम क्वारंटाइन के नियमों का कड़ाई से पालन कराया जाएगा। सीएम ने कहा, सभी दुकानें खुली रहेंगी। राज्य के अंदर ट्रेनें चलाने की अनुमति है।  

कर्नाटक में राज्य के भीतर चलेंगी बस-ट्रेनें
कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने गाइडलाइन जारी करते हुए कहा, राज्य में सरकारी-प्राइवेट बसें चल सकेंगी। इसके अलावा कंटेनमेंट एरिया में लॉकडाउन का पालन किया जाएगा। रेड जोन को छोड़कर सभी क्षेत्रों में आर्थिक गतिविधियों शुरू करने की अनुमति है। रविवार को पूरे राज्य में लॉकडाउन रहेगा। होम क्वारंटाइन के नियमों का कड़ाई से पालन कराया जाएगा। सीएम ने कहा, सभी दुकानें खुली रहेंगी। राज्य के अंदर ट्रेनें चलाने की अनुमति है।  

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios