Asianet News Hindi

WHO के प्रमुख ने की पीएम मोदी की तारीफ, 60 देशों से ज्यादा को भारत ने कोरोना वैक्सीन भेजकर की मदद

First Published Feb 26, 2021, 12:27 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नेशनल डेस्क। वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन (WHO) के प्रमुख टेड्रोस एडहानॉम (Tedros Adhanom) ने कोविड-19 से प्रभावित देशों को वैक्सीन भेजने के लिए भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) की तारीफ की है और उनका आभार जताया है। बता दें कि भारत ने वैक्सीन मैत्री (Vaccine Maitri) अभियान के तहत 60 से ज्यादा देशों को कोविड का टीका उपलब्ध करवाया है। खास बात यह है कि जहां दूसरे देश यह व्यापारिक आधार पर कर रहे हैं, भारत ने कोविड वैक्सीन गिफ्ट के तौर पर भेजा है। पीएम मोदी के इस कदम की दुनियाभर में प्रशंसा हो रही है। वैक्सीन मैत्री अभियान के तहत भारत ने लाखों की संख्या में कई देशों को कोविड वैक्सीन का डोज भेजा है। वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेश के प्रमुख ने कहा है कि उन्हें उम्मीद है कि दूसरे देश भी भारत की तरह ही कोविड से संघर्ष में मददगार बनेंगे। टेड्रोस एडहानॉम ने कहा कि भारत और भारत के प्रधानमंत्री को वैक्सीन इक्विटी के सपोर्ट के लिए धन्यवाद। भारत ने 60 से ज्यादा देशों को कोविड वैक्सीन उपलब्ध करवाया है। बता दें कि वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन के प्रमुख ने इसे लेकर एक ट्वीट किया। 

करीब एक सप्ताह पहले कैरीबियन देशों के एम्बेसडर सैंडर्स ने भी भारत की इस भूमिका की सराहना की थी और इसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद दिया था। उन्होंने कहा था कि भारत कैरीबियन के विकासशील देशों को कोविड वैक्सीन उपलब्ध कराकर उनकी बड़ी मदद कर रहा है। बता दैं कि कैरीबियन देशों ने 60 फीसदी वैक्सीन की खरीददारी की है, जबकि वहां की आबादी दुनिया की आबादी का महज 15 फीसदी है। दूसरे देश जहां कोविड वैक्सीन का व्यापार कर रहे हैं, भारत यह वैक्सीन मुफ्त में भेजकर कोविड प्रभावित देशों की मदद कर रहा है। सैंडर्स ने कहा कि वैश्विक संकट के इस दौर में भारत ने मानवता की सेवा का एक बड़ा उदाहरण पेश किया है।

करीब एक सप्ताह पहले कैरीबियन देशों के एम्बेसडर सैंडर्स ने भी भारत की इस भूमिका की सराहना की थी और इसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद दिया था। उन्होंने कहा था कि भारत कैरीबियन के विकासशील देशों को कोविड वैक्सीन उपलब्ध कराकर उनकी बड़ी मदद कर रहा है। बता दैं कि कैरीबियन देशों ने 60 फीसदी वैक्सीन की खरीददारी की है, जबकि वहां की आबादी दुनिया की आबादी का महज 15 फीसदी है। दूसरे देश जहां कोविड वैक्सीन का व्यापार कर रहे हैं, भारत यह वैक्सीन मुफ्त में भेजकर कोविड प्रभावित देशों की मदद कर रहा है। सैंडर्स ने कहा कि वैश्विक संकट के इस दौर में भारत ने मानवता की सेवा का एक बड़ा उदाहरण पेश किया है।

यूनाइटेड नेशन्स जनरल असेंबली के 75वें सत्र को पिछले साल संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि भारत कोविड महामारी के इस दौर में उस पर काबू पाने के लिए हर संभव कोशिश करेगा और दुनिया के सभी देशों की मदद के लिए सामने आएगा। बता दें कि घाना वह पहला देश था, जहां 24 फरवरी को भारत की ओर से भेजा गया कोविड वैक्सीन पहुंचा था। यह कोवैक्स (COVAX) फैसिलिटी के तहत भेजा गया था। इस प्रोग्राम के तहत कोविड वैक्सीन के 6 लाख डोज घाना में भेजे गए थे। यह किसी अफ्रीकी देश में भेजा गया भारत की ओर से पहला वैक्सीन कन्साइनमेंट था। बता दैं कि कोवैक्स फैसिलिटी के तहक भारत 2021 के अंत तक  कोविड वैक्सीन के 2 बिलियन डोज भेजेगा।

यूनाइटेड नेशन्स जनरल असेंबली के 75वें सत्र को पिछले साल संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि भारत कोविड महामारी के इस दौर में उस पर काबू पाने के लिए हर संभव कोशिश करेगा और दुनिया के सभी देशों की मदद के लिए सामने आएगा। बता दें कि घाना वह पहला देश था, जहां 24 फरवरी को भारत की ओर से भेजा गया कोविड वैक्सीन पहुंचा था। यह कोवैक्स (COVAX) फैसिलिटी के तहत भेजा गया था। इस प्रोग्राम के तहत कोविड वैक्सीन के 6 लाख डोज घाना में भेजे गए थे। यह किसी अफ्रीकी देश में भेजा गया भारत की ओर से पहला वैक्सीन कन्साइनमेंट था। बता दैं कि कोवैक्स फैसिलिटी के तहक भारत 2021 के अंत तक कोविड वैक्सीन के 2 बिलियन डोज भेजेगा।

कोवैक्स वैक्सीन अलायंस में गावी (Gavi) का सहयोग प्रमुख है। यह उसकी लीडरशिप में शामिल है। इसके अलावा वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन, कोलिएशन फॉर एपिडेमिक प्रीप्रेयरर्डनेस इनोवेशन्स और यूनिसेफ इसके वर्किंग पार्टनर हैं। कोवैक्स मिशन का मकसद इस महामारी के पीड़ितों को तत्काल वैक्सीन की सुविधा मुहैया कराना है।

कोवैक्स वैक्सीन अलायंस में गावी (Gavi) का सहयोग प्रमुख है। यह उसकी लीडरशिप में शामिल है। इसके अलावा वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन, कोलिएशन फॉर एपिडेमिक प्रीप्रेयरर्डनेस इनोवेशन्स और यूनिसेफ इसके वर्किंग पार्टनर हैं। कोवैक्स मिशन का मकसद इस महामारी के पीड़ितों को तत्काल वैक्सीन की सुविधा मुहैया कराना है।

गावी के (Gavi) के सीईओ डॉक्टर सेथ बर्कले (DR Seth Berkley) का कहना है कि हम चाहते हैं कि सरकारें और बिजनेस से जुड़े लोग कोवैक्स को सपोर्ट करें और कोविड वायरस को खत्म करने में हमारी मदद करें। बता दें कि गावी एक वैक्सीन अलायंस है।

गावी के (Gavi) के सीईओ डॉक्टर सेथ बर्कले (DR Seth Berkley) का कहना है कि हम चाहते हैं कि सरकारें और बिजनेस से जुड़े लोग कोवैक्स को सपोर्ट करें और कोविड वायरस को खत्म करने में हमारी मदद करें। बता दें कि गावी एक वैक्सीन अलायंस है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios