15

गौरतलब है की हैड़ाखान से लेकर रीठासाहिब तक करीब 200 गांवों की सड़क 15 नवंबर के बाद से बंद पड़ी है। ऐसे में हजारों ग्रामीणों को संकट के दौर से गुजरना पड़ रहा है। सड़क से जुड़े मामले में अब कांग्रेस भी मुखर हो चुकी है।
 

Subscribe to get breaking news alerts

25

मंगलवार सुबह दस बजे नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्य सड़क को जल्द सुचारू करने की मांग को लेकर धरने पर बैठे। सड़क को जल्द सुचारू करने की मांग को लेकर मंगलवार को कांग्रेसियों के साथ नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्य धरने पर बैठे थे। उनके साथ सैकड़ों की संख्या में कांग्रेस नेता और एक दूल्हा अपनी पूरी बरात के साथ धरने में शामिल था। दरअसल मंगलवार को एक बारात इसी सड़क से गुजर रही थी। हैड़ाखान मार्ग बंद होने के कारण दूल्‍हे संग पूरी बरात को पैदल रास्‍ता पार करना पड़ा। जिससे दूल्हे को इतना गुस्सा आया कि वह भी नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्य व अन्‍य कांग्रेसियों के साथ धरने पर बैठ गया। जिसके बाद यह खबर आग की तरह शहर में फैल गई और हर ओर इसकी चर्चा होने लगी।
 

35

घंटों तक दूल्हे संग बारात का धरने जारी रखने का सिलसिला चलता रहा। उसके बाद कुछ स्थानीय लोगों और लड़की पक्ष के लोगों के समझाने-बुझाने के बाद दूल्हा धरने से उठ कर शादी में जाने के लिए रवाना हुआ।

45

बता दें कि काठगोदाम से दो किमी दूरी पर हैड़ाखान रोड पर 15 नवंबर को भारी मात्रा में भूस्खलन हुआ था। जिसके बाद 380 मीटर सड़क मलबे से पट गई थी। लोनिवि ने मलबा तो साफ कर दिया, लेकिन स्थायी ट्रीटमेंट को लेकर लंबे अध्ययन के बाद ही काम होने का हवाला दिया। 
 

55

ऐसे में ग्रामीणों की परेशानी और बढ़ गई। निरीक्षण को पहुंचे विधायक राम सिंह कैड़ा ने कहा कि वैकल्पिक रास्ते सिंगल होने के कारण वाहन फंस रहे हैं। इसके अलावा बरसात होने पर यहां से गुजरना मुश्किल हो जाएगा। इसलिए मुख्य मार्ग को ही सुचारू किया जाए। काम में बजट की कमी नहीं होने दी जाएगी।