Asianet News Hindi

उत्तराखंड तबाही: 8 घंटे बाद टनल से जिंदा निकले लोगों ने बयां किया खौफनाक मंजर, बाहर आते ही चूम ली धरती

First Published Feb 7, 2021, 8:44 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp


देहरादून. उत्तराखंड में रविवार सुबह ग्लेशियर टूटने से चमोली जिले में बड़ा हादसा हो गया। इस प्राकृतिक आपदा में 150-180 लोगों के मौत की आशंका जताई जा रही है। जिसमें से  10 से 11 शव बरामद हो चुके हैं। वहीं तपोवन इलाके की एक टनल में फंसे 16 लोगों को आईटीबीपी को जिंदा बचा लिया है। जैसे ही यह लोग बाहर निकले तो उनकी आंखों से आंसू छलक आए। सुरक्षित निकलने पर लोगों ने जय हो बद्री विशाल के नारे लगाए। लेकिन उनके चेहरे पर आठ घंटे का खौफनाक मंजर साफ नजर आ रहा था। आइए जानते हैं कैसे जवानों ने इन लोगों को मौत के मुंह से बाहर निकाला...
 

दरअसल, चमोली में मची तबाही के बाद से ही सभी जगहों पर रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है। लोगों को बचाने के लिए एनडीआरएफ, आईटीबीपी, थल सेना और वायु सेना के जवान राहत एवं बचाव कार्य में जुटे हुए हैं। टनल से जिंदा बचने की खुशी लोगों के चहरों पर झलक रही थी, वह यही कह रह थे कि आज अगर सेना के जवान भगवान के दूत बनकर नहीं पहुंचते तो हमारी मौत पक्की थी। भारत माता और सेना के जयकारे लोग लगाते रहे।
 

दरअसल, चमोली में मची तबाही के बाद से ही सभी जगहों पर रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है। लोगों को बचाने के लिए एनडीआरएफ, आईटीबीपी, थल सेना और वायु सेना के जवान राहत एवं बचाव कार्य में जुटे हुए हैं। टनल से जिंदा बचने की खुशी लोगों के चहरों पर झलक रही थी, वह यही कह रह थे कि आज अगर सेना के जवान भगवान के दूत बनकर नहीं पहुंचते तो हमारी मौत पक्की थी। भारत माता और सेना के जयकारे लोग लगाते रहे।
 


वहीं मामले की जानकारी देते हुए आईटीबीपी के एक अधिकारी ने बताया 200 कर्मियों वाली दो टीमें जोशीमठ से बाढ़ प्रभावित इलाकों में भेजी गई हैं। मौके पर उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत घटनास्थल जा जायजा लेने भी पहुंचे। वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत गृहमंत्री अमित शाह भी मामले की अपडेट ले रहे हैं।
 


वहीं मामले की जानकारी देते हुए आईटीबीपी के एक अधिकारी ने बताया 200 कर्मियों वाली दो टीमें जोशीमठ से बाढ़ प्रभावित इलाकों में भेजी गई हैं। मौके पर उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत घटनास्थल जा जायजा लेने भी पहुंचे। वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत गृहमंत्री अमित शाह भी मामले की अपडेट ले रहे हैं।
 

बता दें कि हादसे वाले माहौल को देखते हुए पहाड़ी इलाके के पौड़ी, टिहरी, रुद्रप्रयाग, हरिद्वार और देहरादून में भी हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है। चमोली के जिला प्रशासन की ओर से अलकनन्दा नदी के किनारे रह रहे लोगों को बहार जाने के लिए कह दिया गया है।
 

बता दें कि हादसे वाले माहौल को देखते हुए पहाड़ी इलाके के पौड़ी, टिहरी, रुद्रप्रयाग, हरिद्वार और देहरादून में भी हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है। चमोली के जिला प्रशासन की ओर से अलकनन्दा नदी के किनारे रह रहे लोगों को बहार जाने के लिए कह दिया गया है।
 

तवोवन टनल और आसपास के इलाकों में कई लोग अभी दबे हुए हैं। जिनको निकलना का काम जारी है।
 

तवोवन टनल और आसपास के इलाकों में कई लोग अभी दबे हुए हैं। जिनको निकलना का काम जारी है।
 


तस्वीर में देखिए वही तवोवन इलाके की टनल जिसमें से ITBP के जवानों ने 16 लोगों को सुरक्षित निकाला है।


तस्वीर में देखिए वही तवोवन इलाके की टनल जिसमें से ITBP के जवानों ने 16 लोगों को सुरक्षित निकाला है।


जवानों ने अपनी जान जोखिम में डालते हुए लोगों को सुरक्षित बाहर निकाला।


जवानों ने अपनी जान जोखिम में डालते हुए लोगों को सुरक्षित बाहर निकाला।


टनल के अंदर लोगों की तलाश करता हुआ एक ITBP का जवान।


टनल के अंदर लोगों की तलाश करता हुआ एक ITBP का जवान।


बता दें कि तपोवन टनल के आसपास में जो मलवा जम गया है जेसीबी मशीन उसे हटा रही है।
 


बता दें कि तपोवन टनल के आसपास में जो मलवा जम गया है जेसीबी मशीन उसे हटा रही है।
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios