Asianet News Hindi

Haridwar Kumbh में गंगा-जमुनी तहजीब, मुस्लिमों ने संतों का किया स्वागत, हेलिकॉप्‍टर से बरसाए गए फूल

First Published Mar 4, 2021, 12:54 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp


हरिद्वार. उत्तराखंड में हरिद्वार कुंभ की भव्य शुरूआत हो चुकी है। सभी अखाड़े धर्मध्वजा की स्थापना में सक्रिय होने लगे हैं। गुरूवार शाम जूना और अग्नि अखाड़ा की सामूहिक पेशवाई निकाली जाएगी। जहां किन्नर अखाड़ा भी साथ चलेगा। वहीं एक दिन पहले बुधवार को हरिद्वार जिले के देहात क्षेत्र में भी पेशवाई निकाली गई। जिसमें मुस्लिम समाज के लोगों ने गाजे-बाजे के साथ साधू संतों का स्वागत किया। इतना ही नहीं हेलीकॉप्टर के जरिए संतों पर फूलों की वर्षा की गई।


पेशवाई में पूरे शाही अंदाज में साधु संत अपने-अपने रथों पर बैठकर निकले थे। जहां बड़ी संख्या में हाथी, ऊंट और घोड़े चल रहे थे, जिन्हें देखने के लिए सड़क के दोनों और लोगों की भारी भीड़ लगी गई। वहीं राज्य के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत भी हरिद्वार दौरे पर रहे, जहां उन्होंने सबसे पहले निरंजनी अखाड़े की पेशवाई में संतो का स्वागत किया।


पेशवाई में पूरे शाही अंदाज में साधु संत अपने-अपने रथों पर बैठकर निकले थे। जहां बड़ी संख्या में हाथी, ऊंट और घोड़े चल रहे थे, जिन्हें देखने के लिए सड़क के दोनों और लोगों की भारी भीड़ लगी गई। वहीं राज्य के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत भी हरिद्वार दौरे पर रहे, जहां उन्होंने सबसे पहले निरंजनी अखाड़े की पेशवाई में संतो का स्वागत किया।


लक्सर में गंगा-जमुनी की तहजीब देखने के मिली। मुस्लिम समाज के लोग अपने घरों के सामने फूलों की माला लेकर संतों के स्वागत में खड़े हुए थे। जैसे ही पेशवाई उनके सामने से निकली सभी लोगों ने फूल मालाएं पहनाकर संतों का अभिवादन और स्वागत किया। पेशवाई में हिंदू-मुस्लिम भाईचारे का शानदार संदेश देखने को मिला।


लक्सर में गंगा-जमुनी की तहजीब देखने के मिली। मुस्लिम समाज के लोग अपने घरों के सामने फूलों की माला लेकर संतों के स्वागत में खड़े हुए थे। जैसे ही पेशवाई उनके सामने से निकली सभी लोगों ने फूल मालाएं पहनाकर संतों का अभिवादन और स्वागत किया। पेशवाई में हिंदू-मुस्लिम भाईचारे का शानदार संदेश देखने को मिला।


 जूना अखाड़े के राष्ट्रीय प्रवक्ता नारायण गिरी ने बताया कि, आज पूरे राजसी वैभव के साथ जूना, अग्नि और किन्नर अखाड़े की पेशवाई नगर भ्रमण पर निकलेगी। हमारे नागा सन्यासी रहेंगे, सभी संत हरिद्वार पहुंच चुके हैं। 
 


 जूना अखाड़े के राष्ट्रीय प्रवक्ता नारायण गिरी ने बताया कि, आज पूरे राजसी वैभव के साथ जूना, अग्नि और किन्नर अखाड़े की पेशवाई नगर भ्रमण पर निकलेगी। हमारे नागा सन्यासी रहेंगे, सभी संत हरिद्वार पहुंच चुके हैं। 
 

किन्नर अखाड़े की आचार्य महामंडलेश्वर लक्ष्मी नारायण त्रिपाठी ने बताया कि किन्नर अखाड़ा ने भी इस कुंभ में नगर प्रवेश कर लिया है। गुरुवार शाम को भव्य पेशवाई में किन्नर अखाड़ा, जूना अखाड़े के साथ चलेगा। हमारा यह तीसरा  कुंभ है जिसमें हम शिरकत करने जा रहे हैं। इस पेशवाई में हम जूना अखाड़े का धन्यवाद करते हैं, क्योंकि आज इतिहास स्वर्ण अक्षरों में लिखा जा रहा है। सनातन धर्म में किन्नर अखाड़ा की वापसी जो गई है।

किन्नर अखाड़े की आचार्य महामंडलेश्वर लक्ष्मी नारायण त्रिपाठी ने बताया कि किन्नर अखाड़ा ने भी इस कुंभ में नगर प्रवेश कर लिया है। गुरुवार शाम को भव्य पेशवाई में किन्नर अखाड़ा, जूना अखाड़े के साथ चलेगा। हमारा यह तीसरा  कुंभ है जिसमें हम शिरकत करने जा रहे हैं। इस पेशवाई में हम जूना अखाड़े का धन्यवाद करते हैं, क्योंकि आज इतिहास स्वर्ण अक्षरों में लिखा जा रहा है। सनातन धर्म में किन्नर अखाड़ा की वापसी जो गई है।


अखड़ों के नगर प्रवेश के दौरान पुलिस भी पूरी तरह से मुस्तैद है। सड़क के दोनों ओर बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है। कई जगह तो सड़क से गुजरने वाले वाहनों को डायवर्ट किया गया।        
 


अखड़ों के नगर प्रवेश के दौरान पुलिस भी पूरी तरह से मुस्तैद है। सड़क के दोनों ओर बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है। कई जगह तो सड़क से गुजरने वाले वाहनों को डायवर्ट किया गया।        
 


हर‍िद्वार कुंभ में मंगलवार को श्री पंचदशनाम जूना अखाड़ा और आह्वान अखाड़ा के रमता पंच कुंभनगरी पहुंचे हुए थे। जहां नगरवास‍ियों ने नगर प्रवेश के दौरान हर-हर महादेव के जयघोष के साथ स्‍वागत क‍िया।
 


हर‍िद्वार कुंभ में मंगलवार को श्री पंचदशनाम जूना अखाड़ा और आह्वान अखाड़ा के रमता पंच कुंभनगरी पहुंचे हुए थे। जहां नगरवास‍ियों ने नगर प्रवेश के दौरान हर-हर महादेव के जयघोष के साथ स्‍वागत क‍िया।
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios