Asianet News Hindi

खेल-खेल में मर गईं 3 साल की जुड़वां बच्चियां, यह घटना ALERT है कि छोटे बच्चों का रखें ध्यान

First Published Nov 13, 2020, 4:08 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

राजकोट, गुजरात. मां दीपावली के लिए घर की साफ-सफाई में लगी थी। बाहर उसकी 3 साल की जुड़वां बेटियां निष्ठा और निहारिका खेल रही थीं। मां का पता तक नहीं चला कि वे दोनों कब पानी की टंकी में झांकते हुए गिर पड़ीं और डूबकर मर गईं। टंकी पर ढक्कन लगाना भूलना त्यौहार पर इस परिवार में मातम पसार गया। यह हादसा गुरुवार को जिले के डोलासा गांव में हुआ। यहां रहने वाले विपुलभाई और उनकी पत्नी किरणबेन की तीन बेटियां हैं। इनमें से सबसे छोटी जुड़वां हादसे का शिकार हो गईं। लॉकडाउन के चलते यह परिवार लंबे समय से अपने पैतृक गांव डोलासा में रह रहा था। आगे पढ़ें इसी हादसे की जानकारी...
 

टंकी में गिरने के बाद मासूम बच्चियों ने चिल्लाना शुरू किया। यह सुनकर मां बाहर निकली। उसने लोगों से मदद मांगी। पड़ोसी फौरन पहुंचे और बच्चियों को टंकी से निकालकर अस्पताल पहुंचाया। लेकिन इलाज से पहले ही दोनों की मौत हो गई। इस घटना ने पूरे गांव में मातम का माहौल पैदा कर दिया। आगे पढ़ें-बैडमिंटन खेलते हुए कॉक दूर जा गिरी, मासूम उसे उठाने जैसे ही झुका...मौत बनकर आ गई पड़ोसी की कार
 

टंकी में गिरने के बाद मासूम बच्चियों ने चिल्लाना शुरू किया। यह सुनकर मां बाहर निकली। उसने लोगों से मदद मांगी। पड़ोसी फौरन पहुंचे और बच्चियों को टंकी से निकालकर अस्पताल पहुंचाया। लेकिन इलाज से पहले ही दोनों की मौत हो गई। इस घटना ने पूरे गांव में मातम का माहौल पैदा कर दिया। आगे पढ़ें-बैडमिंटन खेलते हुए कॉक दूर जा गिरी, मासूम उसे उठाने जैसे ही झुका...मौत बनकर आ गई पड़ोसी की कार
 

खेल-खेल में 7 साल के मासूम की एक्सीडेंट में मौत का यह मामला राजस्थान के जयपुर में सितंबर में आया था। बच्चा घर के बाहर बैडमिंटन खेल रहा था, तभी फॉरच्यूनर गाड़ी ने उसे कुचल दिया। हादसा करधनी इलाके में निवारू रोड स्थित सरस्वती नगर में हुआ था। फॉरच्यूनर ड्राइवर का ध्यान न मालूम कहा था कि उसे 20 फीट दूर खेल रहा बच्चा भी नहीं दिखा। बच्चे का नाम शिवराज सिंह उर्फ हनी था। आगे पढ़ें इसी हादसे के बारे में...

खेल-खेल में 7 साल के मासूम की एक्सीडेंट में मौत का यह मामला राजस्थान के जयपुर में सितंबर में आया था। बच्चा घर के बाहर बैडमिंटन खेल रहा था, तभी फॉरच्यूनर गाड़ी ने उसे कुचल दिया। हादसा करधनी इलाके में निवारू रोड स्थित सरस्वती नगर में हुआ था। फॉरच्यूनर ड्राइवर का ध्यान न मालूम कहा था कि उसे 20 फीट दूर खेल रहा बच्चा भी नहीं दिखा। बच्चे का नाम शिवराज सिंह उर्फ हनी था। आगे पढ़ें इसी हादसे के बारे में...

हादसे के बाद गली बच्चे के खून से सन गई। दूर उसकी चप्पलें पड़ी थीं। यह देखकर लोगों की रूह कांप उठी। आगे पढ़ें इसी हादसे के बारे में...

हादसे के बाद गली बच्चे के खून से सन गई। दूर उसकी चप्पलें पड़ी थीं। यह देखकर लोगों की रूह कांप उठी। आगे पढ़ें इसी हादसे के बारे में...

बच्चे के परिजनों ने आरोप लगाया था कि ड्राइवर कॉलोनी में 4-5 गाड़ियां पार्क कर देता था। इससे कॉलोनी का रास्ता बंद हो जाता था। आरोप है कि उसने जानबूझकर यह एक्सीडेंट किया। आगे पढ़ें इसी हादसे के बारे में...

बच्चे के परिजनों ने आरोप लगाया था कि ड्राइवर कॉलोनी में 4-5 गाड़ियां पार्क कर देता था। इससे कॉलोनी का रास्ता बंद हो जाता था। आरोप है कि उसने जानबूझकर यह एक्सीडेंट किया। आगे पढ़ें इसी हादसे के बारे में...

शिवराज अपनी माता-पिता की इकतौली संतान था। वह पहली कक्षा का स्टूडेंट था। बच्चे के पिता रोहिताश सिंह एक फाइनेंस कंपनी में जॉब करते हैं। आगे पढ़ें इसी हादसे के बारे में...

शिवराज अपनी माता-पिता की इकतौली संतान था। वह पहली कक्षा का स्टूडेंट था। बच्चे के पिता रोहिताश सिंह एक फाइनेंस कंपनी में जॉब करते हैं। आगे पढ़ें इसी हादसे के बारे में...

बच्चे के दादा पृथ्वी सिंह ने बताया कि वे मूलरूप से झुंझुनूं के चिड़ावा स्थित सुल्ताना गांव के रहने वाले है। हालांकि यहां 15 साल से रहते आ रहे हैं।

बच्चे के दादा पृथ्वी सिंह ने बताया कि वे मूलरूप से झुंझुनूं के चिड़ावा स्थित सुल्ताना गांव के रहने वाले है। हालांकि यहां 15 साल से रहते आ रहे हैं।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios