Asianet News Hindi

चमत्कार: एक ही कार में बैठे माता-पिता की मौत, बच्चों को खरोंच तक नहीं..मम्मी-पापा को ढूंढ रहे मासूम

First Published Apr 4, 2021, 5:18 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp


राजसमंद (Rajasthan). 'जाको राखे साइयां मार सखे ना कोई' यह कहावत राजस्थान में सच होते हुए दिखी। यहां राजसमंद जिले में एक भीषण हादसा हुआ। जहां तेज रफ्तार में चल रही एक कार अचानक बेकाबू होकर पलट गई। कार में बैठे पत्नी की मौके पर दर्दनाक मौत हो गई। जबकि गाड़ी में सवार दो मासूम बच्चों को कुछ नहीं हुआ। वह पूर्ण रूप से ठीक है। हर इस घटना से हैरान है कि जिस तरह से यह भयानक एक्सीडेंट हुआ उससे आखिर यह बच्चे कैसे जिंदा बच गए।

<p><br />
दरअसल, यही भयानक हादसा रविवार दोपहर राजसमंद जिले के भीम कस्बे के पास हाईवे पर हुआ। एक्सीडेंट के बाद पति-पत्नी बुरी तरह से कार के अंदर फंस गए। स्थानीय लोगों की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिक को शव निकालने के में काफी मशक्कत करनी पड़ी। इतना ही नहीं शव को निकालने के लिए क्रेन की मदद लेनी पड़ी।</p>


दरअसल, यही भयानक हादसा रविवार दोपहर राजसमंद जिले के भीम कस्बे के पास हाईवे पर हुआ। एक्सीडेंट के बाद पति-पत्नी बुरी तरह से कार के अंदर फंस गए। स्थानीय लोगों की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिक को शव निकालने के में काफी मशक्कत करनी पड़ी। इतना ही नहीं शव को निकालने के लिए क्रेन की मदद लेनी पड़ी।

<p><br />
पुलिस जांच में सामने आया है कि हनुमानगढ़ के रहने वाले सिद्धार्थ अपनी पत्नी सुमन और 13 साल के बेटे सात्विक व तीन साल की बेटी सानवी के साथ सूरत जा रहे थे। वह बेहद खुश थे हंसते हुए बातचीत करते हुआ जा रहे थे। इसी दौरान कार पलट गई और यह हादसा हो गया। सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस चारों परिवार को अस्पताल लेकर गई, जहां दंपती सिद्धार्थ और सुमन को डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। वहीं &nbsp;बेटे सात्विक व तीन साल की बेटी सानवी की जांच के दौरान सही बताया।</p>


पुलिस जांच में सामने आया है कि हनुमानगढ़ के रहने वाले सिद्धार्थ अपनी पत्नी सुमन और 13 साल के बेटे सात्विक व तीन साल की बेटी सानवी के साथ सूरत जा रहे थे। वह बेहद खुश थे हंसते हुए बातचीत करते हुआ जा रहे थे। इसी दौरान कार पलट गई और यह हादसा हो गया। सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस चारों परिवार को अस्पताल लेकर गई, जहां दंपती सिद्धार्थ और सुमन को डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। वहीं  बेटे सात्विक व तीन साल की बेटी सानवी की जांच के दौरान सही बताया।

<p>सिद्धार्थ का सूरत में कपड़े का व्यापार है। वह होली की छुट्टियों में अपने घर परिवार के साथ हनुमानगढ़ आया हुआ था। मृतक के बच्चों का रो-रोकर बुरा हाल है, वहा मम्मी-पापा कहते हुए चीख रहे हैं। सात्विक जहां कक्षा 7 में पढ़ता है वहीं सानवी जूनियर कक्षा में पढ़ती है।<br />
&nbsp;</p>

सिद्धार्थ का सूरत में कपड़े का व्यापार है। वह होली की छुट्टियों में अपने घर परिवार के साथ हनुमानगढ़ आया हुआ था। मृतक के बच्चों का रो-रोकर बुरा हाल है, वहा मम्मी-पापा कहते हुए चीख रहे हैं। सात्विक जहां कक्षा 7 में पढ़ता है वहीं सानवी जूनियर कक्षा में पढ़ती है।
 

undefined
<p><br />
राजस्थान के जालोर जिले के सांचौर के पास हुआ। जहां तेज रफ्तार में आ रहे एक ट्रक ने कार को टक्कर मार दी। जिससे कार में सवार एक ही परिवार के पांच लोगों की मौत हो गई। मृतकों में सांचौर निवासी गणपतलाल सुथार के दो बेटे, पत्नी, दोहिता और दोहिती (नाती-नातिन) शामिल हैं। ये लोग कार से जोधपुर से सांचौर आ रहे थे। घर पहुंचने से दस किलोमीटर पहले इनकी गाड़ी को सामने से आ रहे तेज रफ्तार ट्रक ने टक्कर मार दी।&nbsp;</p>


राजस्थान के जालोर जिले के सांचौर के पास हुआ। जहां तेज रफ्तार में आ रहे एक ट्रक ने कार को टक्कर मार दी। जिससे कार में सवार एक ही परिवार के पांच लोगों की मौत हो गई। मृतकों में सांचौर निवासी गणपतलाल सुथार के दो बेटे, पत्नी, दोहिता और दोहिती (नाती-नातिन) शामिल हैं। ये लोग कार से जोधपुर से सांचौर आ रहे थे। घर पहुंचने से दस किलोमीटर पहले इनकी गाड़ी को सामने से आ रहे तेज रफ्तार ट्रक ने टक्कर मार दी। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios