Asianet News Hindi

आधी रात पत्नी, बेटी और बेटे की हत्या के बाद बेफिक्र होकर टहलते निकला शख्स

First Published Oct 23, 2020, 9:53 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बांसवाड़ा, राजस्थान. बुधवार आधी रात यहां के रातीतलाई शिव मार्ग क्षेत्र में किराये से रहने वाले एक शख्स ने अपनी पत्नी, बेटी और बेटे की हत्या (triple murder) कर दी। घटना के बाद से आरोपी गायब था। शुक्रवार सुबह तालाब में उसकी लाश मिली। आशंका है कि उसने सुसाइड (Suicide) किया होगा। इस हत्याकांड का का पता गुरुवार को चला था। शुक्रवार को पुलिस मामले की विस्तार से जांच करेगी। आरोपी ने तीनों की बेरहमी से हत्या की। उनका गला रेता गया। कमरे में खून ही खून बिखरा मिला। घटना रात 2 बजे के आसपास की है। पुलिस की शुरुआती जांच में सामने आया है कि आरोपी ने पहले कमरे में पत्नी को मारा। इसके बाद बगल के कमरे में सो रही बेटी को आवाज देकर बुलाया। उसकी हत्या के बाद बेटे का गला रेत दिया। आरोपी 42 वर्षीय देवेंद्र पुत्र रामदत्त शर्मा रात 2.37 बजे सीसीटीवी कैमरे (Cctv camera) में घर से बाहर जाते नजर आया। करीब 10 मिनट बाद उसका फोन स्विच ऑफ हो गया।

आरोपी देवेंद्र ड्राइवर था। वो धौलपुर के मेंहदपुरा का रहने वाला था। लेकिन यहां 4 साल से किराये पर रह रहा था। आरोपी ने 37 वर्षीय पत्नी नीतू शर्मा, 15 साल की बेटी श्वेता और 13 साल के बेटे आर्यन का चाकू से गला रेत दिया। देवेंद्र के बहनोई नरेंद्र कौशल ने पुलिस को बताया कि पति-पत्नी के बीच अकसर तनाव रहता था। वहीं, पड़ोसियों और मकान मालिक का कहना है कि देवेंद्र बेहद शांत स्वभाव का आदमी था।

(तस्वीर में क्रमश: नीतू शर्मा, आर्यन और श्वेता)

आरोपी देवेंद्र ड्राइवर था। वो धौलपुर के मेंहदपुरा का रहने वाला था। लेकिन यहां 4 साल से किराये पर रह रहा था। आरोपी ने 37 वर्षीय पत्नी नीतू शर्मा, 15 साल की बेटी श्वेता और 13 साल के बेटे आर्यन का चाकू से गला रेत दिया। देवेंद्र के बहनोई नरेंद्र कौशल ने पुलिस को बताया कि पति-पत्नी के बीच अकसर तनाव रहता था। वहीं, पड़ोसियों और मकान मालिक का कहना है कि देवेंद्र बेहद शांत स्वभाव का आदमी था।

(तस्वीर में क्रमश: नीतू शर्मा, आर्यन और श्वेता)

घटना का पता गुरुवार सुबह करीब 10.30 देवेंद्र के बगल में किराये से रहने वाली मनीषा नामक लड़की के जरिये देवेंद्र के बहनोई नरेंद्र को पता चला। इसके बाद पुलिस को बुलाया गया। कमरे में खून भरा पड़ा था।

घटना का पता गुरुवार सुबह करीब 10.30 देवेंद्र के बगल में किराये से रहने वाली मनीषा नामक लड़की के जरिये देवेंद्र के बहनोई नरेंद्र को पता चला। इसके बाद पुलिस को बुलाया गया। कमरे में खून भरा पड़ा था।

देवेंद्र के मकान मालिक डॉ. एसके जैन ने बताया कि वो 4 साल से किराये से रह रहा था। हालांकि वे ये भी मानते हैं कि कुछ दिनों से कपल के बीच झगड़ा हो रहा था। देवेंद्र के बहनोई नरेंद्र टीचर हैं। वे 1984 में बांसवाड़ा आए थे। इसके बाद 2011 में देवेंद्र को भी बांसवाड़ा बुलवा लिया।

देवेंद्र के मकान मालिक डॉ. एसके जैन ने बताया कि वो 4 साल से किराये से रह रहा था। हालांकि वे ये भी मानते हैं कि कुछ दिनों से कपल के बीच झगड़ा हो रहा था। देवेंद्र के बहनोई नरेंद्र टीचर हैं। वे 1984 में बांसवाड़ा आए थे। इसके बाद 2011 में देवेंद्र को भी बांसवाड़ा बुलवा लिया।

माना जा रहा है कि देवेंद्र कुछ समय से तनाव में था। उसका उदयपुर में इलाज भी कराया गया था। सीसीटीवी में घर से निकलते समय देवेंद्र बेफिक्र दिखा। मानों उसे अपने किये पर कोई पछतावा नहीं हो।
 

माना जा रहा है कि देवेंद्र कुछ समय से तनाव में था। उसका उदयपुर में इलाज भी कराया गया था। सीसीटीवी में घर से निकलते समय देवेंद्र बेफिक्र दिखा। मानों उसे अपने किये पर कोई पछतावा नहीं हो।
 

देवेंद्र के पड़ोस में रहने वाली मनीषा कक्षी 6वीं की छात्रा है। उसके पिता नटवरलाल और मां बुधवार को ही अपने गांव खराड़ी गए थे। मनीषा घर में अकेली थी। रात को उसने देवेंद्र और उसकी पत्नी के बीच झगड़े की आवाज सुनी थी। 

देवेंद्र के पड़ोस में रहने वाली मनीषा कक्षी 6वीं की छात्रा है। उसके पिता नटवरलाल और मां बुधवार को ही अपने गांव खराड़ी गए थे। मनीषा घर में अकेली थी। रात को उसने देवेंद्र और उसकी पत्नी के बीच झगड़े की आवाज सुनी थी। 

शुक्रवार को आरोपी देवेंद्र की लाश डायलाब तालाब में मिली। एसपी कविंद्र सिंह ने बताया कि आरोपी ने सुसाइड किया होगा।

शुक्रवार को आरोपी देवेंद्र की लाश डायलाब तालाब में मिली। एसपी कविंद्र सिंह ने बताया कि आरोपी ने सुसाइड किया होगा।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios