Asianet News Hindi

क्या मैं वैक्सीन लगवाने के बाद बीमार पड़ सकता हूं? ऐसे ही 9 परेशान करने वाले सवालों के आसान भाषा में जवाब

First Published Apr 13, 2021, 4:02 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

देश में कोविड-19 की दूसरी लहर से लोग दहशत में हैं। सोमवार को 1 लाख 60 हजार 694 नए केस मिले। 880 मरीजों की मौत हुई। देश में करीब 1.37 करोड़ लोग इस महामारी की चपेट में आ चुके हैं। संक्रमण से निपटने के लिए वैक्सीन लगाने पर जोर दिया जा रहा है, लेकिन लोगों के जहन और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर वैक्सीन से जुड़ी ऐसी कई अफवाहें हैं जिनसे लोग डरे हुए हैं।

कोरोना वैक्सीन को लेकर भ्रामक और परेशान करने वाले सवालों के जवाब जानने के लिए Asianet News Hindi ने गोल्ड मेडलिस्ट न्यूरोसर्जन डॉक्टर अनूप कुमार सिंह (Dr. Anoop kumar Singh) से बात की। Dr. Anoop kumar Singh ने विस्तार से बताया कि वैक्सीन लगवाना क्यों जरूरी है और इससे कोरोना को कैसे हराया जा सकता है?

कोरोना वैक्सीन को लेकर भ्रामक और परेशान करने वाले सवालों के जवाब जानने के लिए Asianet News Hindi ने गोल्ड मेडलिस्ट न्यूरोसर्जन डॉक्टर अनूप कुमार सिंह (Dr. Anoop kumar Singh) से बात की। Dr. Anoop kumar Singh ने विस्तार से बताया कि वैक्सीन लगवाना क्यों जरूरी है और इससे कोरोना को कैसे हराया जा सकता है?

सवाल- लोगों को वैक्सीन क्यों लगवाना चाहिए?
जवाब- ये नोवल कोरोना वायरस है। इसके आगे नोवल इसलिए लगा है क्योंकि ह्यूमन बॉडी ने इससे पहले इस वायरस को कभी नहीं देखा। इससे पहले ये जानवरों और चमगादड़ों में होता था। ऐसे में दो कंडीशन में हमारा शरीर इस बीमारी से परिचित होता है, पहला या तो हमें कोरोना संक्रमण हुआ हो या फिर वैक्सीन लगवा ली जाए। दोनों कंडीशन में हमारा शरीर इस बीमारी के वायरस को पहचान जाएगा। यानी अगर आप दोबारा संक्रमित होते हैं और वैक्सीन लगवाए हैं तो ज्यादा बीमार होने से बच सकते हैं। गंभीर स्थिति नहीं होगी। 

सवाल- लोगों को वैक्सीन क्यों लगवाना चाहिए?
जवाब- ये नोवल कोरोना वायरस है। इसके आगे नोवल इसलिए लगा है क्योंकि ह्यूमन बॉडी ने इससे पहले इस वायरस को कभी नहीं देखा। इससे पहले ये जानवरों और चमगादड़ों में होता था। ऐसे में दो कंडीशन में हमारा शरीर इस बीमारी से परिचित होता है, पहला या तो हमें कोरोना संक्रमण हुआ हो या फिर वैक्सीन लगवा ली जाए। दोनों कंडीशन में हमारा शरीर इस बीमारी के वायरस को पहचान जाएगा। यानी अगर आप दोबारा संक्रमित होते हैं और वैक्सीन लगवाए हैं तो ज्यादा बीमार होने से बच सकते हैं। गंभीर स्थिति नहीं होगी। 

सवाल- किसी को पहले से हल्की सर्दी या खांसी है तो क्या उसे वैक्सीन लगवाना चाहिए या तबीयत ठीक होने का इंतजार करना चाहिए?
जवाब- आज की तारीख में अगर किसी को सर्दी-खांसी या बुखार होता है तो पहले शक कोरोना का होता है। ऐसे में उसे तो सबसे पहले जांच करानी चाहिए, क्योंकि ऐसे अधिकतर मामलों में कोरोना संक्रमण पाया जा रहा है। अगर हल्की-खांसी और बुखार है तो कम से कम दो हफ्ते का इंतजार करना चाहिए। स्थिति नॉर्मल होने के बाद ही वैक्सीन लगवाना चाहिए। 
 

सवाल- किसी को पहले से हल्की सर्दी या खांसी है तो क्या उसे वैक्सीन लगवाना चाहिए या तबीयत ठीक होने का इंतजार करना चाहिए?
जवाब- आज की तारीख में अगर किसी को सर्दी-खांसी या बुखार होता है तो पहले शक कोरोना का होता है। ऐसे में उसे तो सबसे पहले जांच करानी चाहिए, क्योंकि ऐसे अधिकतर मामलों में कोरोना संक्रमण पाया जा रहा है। अगर हल्की-खांसी और बुखार है तो कम से कम दो हफ्ते का इंतजार करना चाहिए। स्थिति नॉर्मल होने के बाद ही वैक्सीन लगवाना चाहिए। 
 

सवाल- वैक्सीन लगवाने के बाद क्या-क्या दिक्कत हो सकती है?
जवाब- वैक्सीन लगवाने के बाद सामान्यत: 24 घंटे तक थकान, शरीर में दर्द या बुखार हो सकता है। लेकिन ये 24 से 48 घंटे में खत्म हो जाता है। अगर ये समस्या दो दिन से ज्यादा रहती है अपने डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए और जांच करानी चाहिए। कई बार वैक्सीन लगवाने से पहले ही व्यक्ति कोरोना संक्रमित होता है लेकिन उसे पता नहीं होता। वह निश्चिंत रहता है कि वैक्सीन लगवा ली है अब कोरोना नहीं होगा। ऐसे में हो सकता है कि वह कोरोना से संक्रमित हो।  

सवाल- वैक्सीन लगवाने के बाद क्या-क्या दिक्कत हो सकती है?
जवाब- वैक्सीन लगवाने के बाद सामान्यत: 24 घंटे तक थकान, शरीर में दर्द या बुखार हो सकता है। लेकिन ये 24 से 48 घंटे में खत्म हो जाता है। अगर ये समस्या दो दिन से ज्यादा रहती है अपने डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए और जांच करानी चाहिए। कई बार वैक्सीन लगवाने से पहले ही व्यक्ति कोरोना संक्रमित होता है लेकिन उसे पता नहीं होता। वह निश्चिंत रहता है कि वैक्सीन लगवा ली है अब कोरोना नहीं होगा। ऐसे में हो सकता है कि वह कोरोना से संक्रमित हो।  

सवाल- अगर हमारा पहले से कोई ट्रीटमेंट चल रहा है या फिर चलने वाला है तो वैक्सीन लगवाने के बाद क्या उसे रोक देना चाहिए?
जवाब- वैक्सीन का किसी भी अन्य बीमारी से इंटरेक्शन नहीं है। जो भी ट्रीटमेंट आप पहले से ले रहे हैं चाहे वह किसी अन्य समस्या का ट्रीटमेंट ले रहे हो। उसका इलाज करा सकते हैं। अगर कोई दवा भी खा रहे हैं तो उसे खाते रहिए।  

सवाल- अगर हमारा पहले से कोई ट्रीटमेंट चल रहा है या फिर चलने वाला है तो वैक्सीन लगवाने के बाद क्या उसे रोक देना चाहिए?
जवाब- वैक्सीन का किसी भी अन्य बीमारी से इंटरेक्शन नहीं है। जो भी ट्रीटमेंट आप पहले से ले रहे हैं चाहे वह किसी अन्य समस्या का ट्रीटमेंट ले रहे हो। उसका इलाज करा सकते हैं। अगर कोई दवा भी खा रहे हैं तो उसे खाते रहिए।  

सवाल- वैक्सीन लगवाने के बाद क्या-क्या सावधानी रखनी चाहिए?
जवाब- जैसे आप पहले थे वैसे ही रहना है। अलग से कोई सावधानी रखने की जरूरत नहीं है। हां, वैक्सीन लगवाने के 24 से 48 घंटे बाद भी कोई समस्या आ रही है तो अपने डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। 
 

सवाल- वैक्सीन लगवाने के बाद क्या-क्या सावधानी रखनी चाहिए?
जवाब- जैसे आप पहले थे वैसे ही रहना है। अलग से कोई सावधानी रखने की जरूरत नहीं है। हां, वैक्सीन लगवाने के 24 से 48 घंटे बाद भी कोई समस्या आ रही है तो अपने डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। 
 

सवाल- किन लोगों को वैक्सीन नहीं लेनी चाहिए? जैसे किसी को लीवर की दिक्कत है तो क्या उसे वैक्सीन लगवानी चाहिए?
जवाब- ऐसे लोगों को तो पहले वैक्सीन लेनी चाहिए। जो मरीज डायलिसिस पर हैं, कैंसर या लीवर के मरीज हैं। अगर किसी गंभीर बीमारी के शिकार हैं तो वैक्सीन जरूर लें, क्योंकि ऐसी स्थिति में आपके शरीर में बीमारी से लड़ने की क्षमता कम रहती है। कोरोना का खतरा बढ़ जाता है। 
 

सवाल- किन लोगों को वैक्सीन नहीं लेनी चाहिए? जैसे किसी को लीवर की दिक्कत है तो क्या उसे वैक्सीन लगवानी चाहिए?
जवाब- ऐसे लोगों को तो पहले वैक्सीन लेनी चाहिए। जो मरीज डायलिसिस पर हैं, कैंसर या लीवर के मरीज हैं। अगर किसी गंभीर बीमारी के शिकार हैं तो वैक्सीन जरूर लें, क्योंकि ऐसी स्थिति में आपके शरीर में बीमारी से लड़ने की क्षमता कम रहती है। कोरोना का खतरा बढ़ जाता है। 
 

सवाल- अगर किसी कारण वैक्सीन का दूसरा डोज नहीं ले पाते हैं तो क्या पहले डोज का असर खत्म हो जाएगा?
जवाब- दूसरी डोज का काम होता है, पहली डोज से शरीर में जो प्रतिरोधक क्षमता पैदा हुई है उसे बूस्ट करना। यानी वो और तेजी से बढ़ाती है। अगर किसी कारण हम दूसरा डोज नहीं ले पाए हैं  तो कोई बात नहीं, दो दिन बाद या चार दिन बाद या हफ्ते बाद वैक्सीन का दूसरा डोज ले सकते हैं। पहला डोज शरीर में  क्षमता बनाता है और दूसरा डोज उसे मैक्सिमन लेवल पर ले जाता है। इसलिए दूसरा डोज कम्पलसरी लगवाना है।
 

सवाल- अगर किसी कारण वैक्सीन का दूसरा डोज नहीं ले पाते हैं तो क्या पहले डोज का असर खत्म हो जाएगा?
जवाब- दूसरी डोज का काम होता है, पहली डोज से शरीर में जो प्रतिरोधक क्षमता पैदा हुई है उसे बूस्ट करना। यानी वो और तेजी से बढ़ाती है। अगर किसी कारण हम दूसरा डोज नहीं ले पाए हैं  तो कोई बात नहीं, दो दिन बाद या चार दिन बाद या हफ्ते बाद वैक्सीन का दूसरा डोज ले सकते हैं। पहला डोज शरीर में  क्षमता बनाता है और दूसरा डोज उसे मैक्सिमन लेवल पर ले जाता है। इसलिए दूसरा डोज कम्पलसरी लगवाना है।
 

सवाल- क्या वैक्सीन लेने के बाद इम्युनिटी सिस्टम कमजोर हो जाता है? इस बात में कितनी सच्चाई है?
जवाब- ये पूरी तरह से अफवाह है। ऐसा कुछ नहीं होता है। हर वैक्सीन का उद्देश्य होता है कि वह उस बीमारी से लड़ने की क्षमता विकसित करे। किसी भी बीमारी से लड़ने की क्षमता तो शरीर में होती ही है उसे इनेट इम्युनिटी कहते हैं। लेकिन हमारे शरीर ने इससे पहले कोरोना वायरस को कभी देखा नहीं है, तो हमारा शरीर इस बीमारी से लड़ना नहीं जानता। इस वैक्सीन के साथ हमारा शरीर इस बीमारी से लड़ना सीख लेता है। इससे बीमारी से लड़ने की क्षमता और भी ज्यादा मजबूत होती है।  
 

सवाल- क्या वैक्सीन लेने के बाद इम्युनिटी सिस्टम कमजोर हो जाता है? इस बात में कितनी सच्चाई है?
जवाब- ये पूरी तरह से अफवाह है। ऐसा कुछ नहीं होता है। हर वैक्सीन का उद्देश्य होता है कि वह उस बीमारी से लड़ने की क्षमता विकसित करे। किसी भी बीमारी से लड़ने की क्षमता तो शरीर में होती ही है उसे इनेट इम्युनिटी कहते हैं। लेकिन हमारे शरीर ने इससे पहले कोरोना वायरस को कभी देखा नहीं है, तो हमारा शरीर इस बीमारी से लड़ना नहीं जानता। इस वैक्सीन के साथ हमारा शरीर इस बीमारी से लड़ना सीख लेता है। इससे बीमारी से लड़ने की क्षमता और भी ज्यादा मजबूत होती है।  
 

सवाल- वैक्सीन लगवाने के बाद भी लोग कोरोना संक्रमित हो सकते हैं?
जवाब- ऐसे कई केस सामने आए हैं कि वैक्सीन लगने के बाद लोग संक्रमित हुए हैं। जिन लोगों को कोरोना वैक्सीन लगा है। वो लोग दोबारा वायरस का शिकार होते भी हैं तो वैक्सीन लेने के बाद दोबारा संक्रमण का प्रभाव बहुत कम होता है। ऐसे में आमतौर पर गंभीर समस्याएं देखने को नहीं मिलती हैं। अन्य लोगों की तुलना में जिन्होंने वैक्सीन नहीं लिया। इसे ऐसे भी समझ सकते हैं कि कोरोना वायरस जब हमारे शरीर में एंटर करता है तो बहुत तेजी से डिवाइड होकर ढेर सारी संख्या पैदा करता है। जब यही वायरस हमारे शरीर से निकलकर दूसरे के शरीर में जाता है तो बिल्कुल एक नया वायरस हो जाता है। इसलिए लोग बार-बार संक्रमित हो रहे हैं। लेकिन वैक्सीन लगवाने के बाद हमारा शरीर बीमारी के किसी न किसी हिस्से को पहचान जाता है और हमें गंभीर बीमार होने से बचा लेता है।

सवाल- वैक्सीन लगवाने के बाद भी लोग कोरोना संक्रमित हो सकते हैं?
जवाब- ऐसे कई केस सामने आए हैं कि वैक्सीन लगने के बाद लोग संक्रमित हुए हैं। जिन लोगों को कोरोना वैक्सीन लगा है। वो लोग दोबारा वायरस का शिकार होते भी हैं तो वैक्सीन लेने के बाद दोबारा संक्रमण का प्रभाव बहुत कम होता है। ऐसे में आमतौर पर गंभीर समस्याएं देखने को नहीं मिलती हैं। अन्य लोगों की तुलना में जिन्होंने वैक्सीन नहीं लिया। इसे ऐसे भी समझ सकते हैं कि कोरोना वायरस जब हमारे शरीर में एंटर करता है तो बहुत तेजी से डिवाइड होकर ढेर सारी संख्या पैदा करता है। जब यही वायरस हमारे शरीर से निकलकर दूसरे के शरीर में जाता है तो बिल्कुल एक नया वायरस हो जाता है। इसलिए लोग बार-बार संक्रमित हो रहे हैं। लेकिन वैक्सीन लगवाने के बाद हमारा शरीर बीमारी के किसी न किसी हिस्से को पहचान जाता है और हमें गंभीर बीमार होने से बचा लेता है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios