Asianet News Hindi

झूठी कहानी सुनाने वाला पुजारी निकला हैवान,सीएम योगी ने घोषित किया 50 हजार इनाम, लगेगा NSA

First Published Jan 6, 2021, 9:25 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बदायूं (Uttar Pradesh) । आंगनबाड़ी सहायिका के साथ गैंगरेप के बाद हत्या के मामले में सीएम योगी आदित्यनाथ पूरी तरह एक्शन मूड में आ गए हैं। उन्होंने कहा है कि बदायूं कांड की जांच एसटीएफ करेगी और मुरादनगर हादसे की जांच एसआईटी करेगी। साथ ही मुख्य आरोपी पुजारी सत्यनारायण पर 50 हजार रुपए का इनाम घोषित किया गया है। बता दें कि वो इस समय फरार है, जबकि इस कांड के दो अन्य आरोपी पुलिस के हत्थे चढ़ गए हैं। वहीं, उघैती के थाना प्रभारी राघवेंद्र को सस्पेंड कर दिया है।
 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक आंगनबाड़ी सहायिका हर दिन की तरह रविवार को भी मंदिर में पूजा करने गई थीं। आरोप है कि जहां मंदिर के पुजारी, उनके एक चेले और ड्राइवर ने महिला से दुष्कर्म किया। इसके बाद हत्या कर दी थी। 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक आंगनबाड़ी सहायिका हर दिन की तरह रविवार को भी मंदिर में पूजा करने गई थीं। आरोप है कि जहां मंदिर के पुजारी, उनके एक चेले और ड्राइवर ने महिला से दुष्कर्म किया। इसके बाद हत्या कर दी थी। 

पीड़ित पक्ष का आरोप है देर रात पुजारी की जीप से दरिंदे शव को मृतका के दरवाजे पर फेंककर चले गए। वहीं, कुएं में गिरने की झूठी कहानी बताने लगे। इतना ही नहीं,17 घंटे बाद भी महिला की लाश घर के बाहर पड़ी रही और शिकायत के बावजूद पुलिस सोती रही। सोमवार की सुबह मृतका के रिश्तेदार खुद थाने पहुंचे। जिनसे कहा गया कि पुलिस पहुंच रही है।

पीड़ित पक्ष का आरोप है देर रात पुजारी की जीप से दरिंदे शव को मृतका के दरवाजे पर फेंककर चले गए। वहीं, कुएं में गिरने की झूठी कहानी बताने लगे। इतना ही नहीं,17 घंटे बाद भी महिला की लाश घर के बाहर पड़ी रही और शिकायत के बावजूद पुलिस सोती रही। सोमवार की सुबह मृतका के रिश्तेदार खुद थाने पहुंचे। जिनसे कहा गया कि पुलिस पहुंच रही है।

पहले मामले को दबाने में जुटी पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। आज दोपहर बाद पैनल में पोस्टमार्टम कराया गया। इस दौरान खुद डॉक्टर हैरान रह गए। जिसकी रिपोर्ट सामने आते ही हड़कंप मच गया और 17 घंटे मामले को ठंडे बस्ते में डालने वाली पुलिस एक्शन में आ गई।
 

पहले मामले को दबाने में जुटी पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। आज दोपहर बाद पैनल में पोस्टमार्टम कराया गया। इस दौरान खुद डॉक्टर हैरान रह गए। जिसकी रिपोर्ट सामने आते ही हड़कंप मच गया और 17 घंटे मामले को ठंडे बस्ते में डालने वाली पुलिस एक्शन में आ गई।
 

उघैती पुलिस ने धर्मस्थल के पुजारी सत्यनारायण दास, मेवली निवासी वेदराम और यशपाल के खिलाफ हत्या व दुष्कर्म के आरोप में एफआईआर दर्ज कर ली है। फिलहाल पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

 (घटना स्थल की तस्वीर)

उघैती पुलिस ने धर्मस्थल के पुजारी सत्यनारायण दास, मेवली निवासी वेदराम और यशपाल के खिलाफ हत्या व दुष्कर्म के आरोप में एफआईआर दर्ज कर ली है। फिलहाल पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

 (घटना स्थल की तस्वीर)

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक पोस्टमार्टम रिपोर्ट में कहा गया है कि महिला के साथ गैंगरेप किया गया था। इसके बाद उसके प्राइवेट पार्ट में रॉड डाली गई, जिससे अंदरूनी हिस्सा फट गया। उसकी बाईं सातवीं पसली टूटी हुई मिली और बायां फेफड़ा भी फटा हुआ था। इसके अलावा उसका बायां पैर टूटा हुआ मिला है। उसके शरीर का सारा खून बह जाने से उसकी मौत हो गई।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक पोस्टमार्टम रिपोर्ट में कहा गया है कि महिला के साथ गैंगरेप किया गया था। इसके बाद उसके प्राइवेट पार्ट में रॉड डाली गई, जिससे अंदरूनी हिस्सा फट गया। उसकी बाईं सातवीं पसली टूटी हुई मिली और बायां फेफड़ा भी फटा हुआ था। इसके अलावा उसका बायां पैर टूटा हुआ मिला है। उसके शरीर का सारा खून बह जाने से उसकी मौत हो गई।

कयास लगाया जा रहा है कि महिला के प्राइवेट पार्ट में रॉड डाली गई थी। इससे उसका खून बहने लगा। खून रोकने के लिए उसके प्राइवेट पार्ट में कपड़ा और रुई ठूंस दी थी। हालांकि महिला के सारे कपड़े खून से लथपथ मिले थे। 
 

कयास लगाया जा रहा है कि महिला के प्राइवेट पार्ट में रॉड डाली गई थी। इससे उसका खून बहने लगा। खून रोकने के लिए उसके प्राइवेट पार्ट में कपड़ा और रुई ठूंस दी थी। हालांकि महिला के सारे कपड़े खून से लथपथ मिले थे। 
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios