युवक को पेड़ से बांध कर जिंदा जलाया, आक्रोशित ग्रामीणों ने पुलिस पर किया पथराव; गाड़ियों में लगाई आग

First Published 2, Jun 2020, 8:42 AM

प्रतापगढ़(Uttar Pradesh). प्रतापगढ़ के फतनपुर इलाके में सोमवार रात सनसनीखेज वारदात सामने आई। जिले में बेख़ौफ़ दबंगों ने एक युवक को पेड़ से बांधकर जिंदा जला दिया। युवक की मौके पर ही मौत हो गई। हत्या की सूचना से आक्रोशित ग्रामीणों ने घंटों जमकर उत्पात मचाया। घटना के विरोध में पथराव और आगजनी की गई। युवक की हत्या की सूचना के बाद पुलिस के ढुलमुल रवैये से आक्रोशित ग्रामीणों ने पथराव और आगजनी की। ग्रामीणों ने पुलिस की दो जीप समेत तीन गाड़ियों में आग लगा दी। पुलिस की दोनों जीप जलकर राख हो गयी। पथराव में चार पुलिसकर्मी घायल हुए हैं। मौके पर तनाव को देखते हुए पीएसी तैनात कर दी गई है । 

<p>घटना प्रतापगढ़ के फतनपुर थाना क्षेत्र के भुजौनी गांव की है। यहां सोमवार शाम बाग़ में एक युवक का पेड़ से बंधा जला हुआ शव मिला। मामले की जानकारी पूरे इलाके में आग की तरह फ़ैल गई। पुलिस को सूचना दी गई मौके पर पुलिस पहुंची ही थी कि आक्रोशित ग्रामीणों ने पुलिस पर हमला बोल दिया। </p>

घटना प्रतापगढ़ के फतनपुर थाना क्षेत्र के भुजौनी गांव की है। यहां सोमवार शाम बाग़ में एक युवक का पेड़ से बंधा जला हुआ शव मिला। मामले की जानकारी पूरे इलाके में आग की तरह फ़ैल गई। पुलिस को सूचना दी गई मौके पर पुलिस पहुंची ही थी कि आक्रोशित ग्रामीणों ने पुलिस पर हमला बोल दिया। 

<p>जमकर पथराव करने के बाद पुलिस की दो जीप व एक बाइक को आग के हवाले कर दिया। पुलिस पर हमले के बाद एसपी अभिषेक सिंह समेत तमाम आलाधिकारी भारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। किसी तरह से लोगों पर काबू पाकर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया। </p>

जमकर पथराव करने के बाद पुलिस की दो जीप व एक बाइक को आग के हवाले कर दिया। पुलिस पर हमले के बाद एसपी अभिषेक सिंह समेत तमाम आलाधिकारी भारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। किसी तरह से लोगों पर काबू पाकर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया। 

<p>घटना के पीछे की वजह आशनाई बताई जा रही है। मृतक अंबिका पटेल कानपुर में तैनात महिला सिपाही से प्रेम करता था। इसी मामले में महिला सिपाही के परिजनों ने उसके खिलाफ छेड़खानी का मुकदमा लिखवाकर उसे जेल भी भेजा था । आरोप है कि महिला सिपाही के घरवालों ने अम्बिका पटेल को ज़िंदा जलाकर मार डाला। <br />
 </p>

घटना के पीछे की वजह आशनाई बताई जा रही है। मृतक अंबिका पटेल कानपुर में तैनात महिला सिपाही से प्रेम करता था। इसी मामले में महिला सिपाही के परिजनों ने उसके खिलाफ छेड़खानी का मुकदमा लिखवाकर उसे जेल भी भेजा था । आरोप है कि महिला सिपाही के घरवालों ने अम्बिका पटेल को ज़िंदा जलाकर मार डाला। 
 

<p>मृतक अंबिका पटेल महिला सिपाही से छेड़खानी के मामले जेल में बंद था। कुछ दिन पहले ही परोल पर जेल से छूट कर आया था। सोमवार दोपहर मृतक घर से निकला था। शाम 8 बजे उसका अधजला शव बाग़ में मिला। इस घटना के बाद ग्रामीण आक्रोशित हो गए। गांव में बवाल और आगजनी का तांडव चलता रहा। इस दौरान चार घंटे तक पुलिस गांव बाहर खड़ी रही। चार घंटे बाद किसी तरह एसपी समेत भारी पुलिस बल गांव में दाखिल हो सकी। जिसके बाद दोनों पक्ष से दर्जनों लोगों को पुलिस ने हिरासत में लिया। मौके पर प्रयागराज जोन के आईजी केपी सिंह और एडीजी प्रेमप्रकाश भी पहुंचे। उन्होंने घटनास्थल का जायजा भी लिया। वही गांव में हत्या के बाद तनाव को देखते हुए दो पीएससी की कंपनी को तैनात कर दिया गया है। </p>

मृतक अंबिका पटेल महिला सिपाही से छेड़खानी के मामले जेल में बंद था। कुछ दिन पहले ही परोल पर जेल से छूट कर आया था। सोमवार दोपहर मृतक घर से निकला था। शाम 8 बजे उसका अधजला शव बाग़ में मिला। इस घटना के बाद ग्रामीण आक्रोशित हो गए। गांव में बवाल और आगजनी का तांडव चलता रहा। इस दौरान चार घंटे तक पुलिस गांव बाहर खड़ी रही। चार घंटे बाद किसी तरह एसपी समेत भारी पुलिस बल गांव में दाखिल हो सकी। जिसके बाद दोनों पक्ष से दर्जनों लोगों को पुलिस ने हिरासत में लिया। मौके पर प्रयागराज जोन के आईजी केपी सिंह और एडीजी प्रेमप्रकाश भी पहुंचे। उन्होंने घटनास्थल का जायजा भी लिया। वही गांव में हत्या के बाद तनाव को देखते हुए दो पीएससी की कंपनी को तैनात कर दिया गया है। 

<p>मामले में एसपी अभिषेक सिंह का कहना है की युवक अम्बिका को पेड़ से बांधकर ज़िंदा जलाया गया है। हत्या के बाद आक्रोशित ग्रामीण ने पुलिस की तीन गाड़ियों में आगजनी की और पुलिस पर पथराव किया है। कुछ महीनों पहले कानपुर में तैनात महिला सिपाही की सोशल मीडिया पर मृतक युवक ने फ़ोटो वायरल की थी। परिजनों ने युवक अम्बिका पर छेड़खानी का मुक़दमा दर्ज कराया था. मृतक युवक परोल पर जेल से छूटा था। महिला सिपाही के परिजनों पर हत्या करने का आरोप है। दो आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। </p>

मामले में एसपी अभिषेक सिंह का कहना है की युवक अम्बिका को पेड़ से बांधकर ज़िंदा जलाया गया है। हत्या के बाद आक्रोशित ग्रामीण ने पुलिस की तीन गाड़ियों में आगजनी की और पुलिस पर पथराव किया है। कुछ महीनों पहले कानपुर में तैनात महिला सिपाही की सोशल मीडिया पर मृतक युवक ने फ़ोटो वायरल की थी। परिजनों ने युवक अम्बिका पर छेड़खानी का मुक़दमा दर्ज कराया था. मृतक युवक परोल पर जेल से छूटा था। महिला सिपाही के परिजनों पर हत्या करने का आरोप है। दो आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। 

loader