Asianet News Hindi

अयोध्या में आज से दीपोत्सव,492 साल बाद होगा ऐसा मौका जब त्रेतायुग जैसा दिखेगा नजारा, कुछ ऐसी है तैयारी

First Published Nov 12, 2020, 9:57 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

अयोध्या (Uttar Pradesh) । राम लला की नगरी अयोध्या में इस बार दीपावली का और खास होगी। यहां इस बार राम के दीदार में अयोध्या का 16 श्रृंगार हो रहा है। नदी किनारे बने 24 घाट भी दीये की रोशनी से जगमगा उठेंगे। खबर है कि इस बार 6 लाख दीये जलाए जाएंगे, जो वर्ड रिकार्ड होगा। बता दें कि अयोध्या के दीपोत्सव कार्यक्रम में बदलाव हुआ है। अब 12 नवंबर आज भगवान राम के आने का उल्लास मनेगा तो 13 नवंबर को अयोध्या की राम की पैड़ी पर दीपोत्सव होगा। आइये जानते हैं इस बार कैसी है तैयारी।  

सीएम योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट करके कहा कि अयोध्या में दीपावली पर संपन्न होने वाले 'दीपोत्सव-2020' को भव्य स्वरूप प्रदान किया जाएगा। सीएम ऑफिस से ट्वीट में कहा गया कि अत्याधुनिक तकनीक पर आधारित 'लेजर शो' के माध्यम से भगवान श्री राम के अयोध्या आगमन का चित्रण किया जाएगा। आगमन के पश्चात नगरवासियों द्वारा उनके स्वागत में प्रज्ज्वलित किए गए दीपों की जगमगाहट के साथ ही उनकी प्रसन्नता और प्रभु श्री राम के स्वागत में किए गए आयोजन को भी दर्शाएगा।

(फाइल फोटो)

सीएम योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट करके कहा कि अयोध्या में दीपावली पर संपन्न होने वाले 'दीपोत्सव-2020' को भव्य स्वरूप प्रदान किया जाएगा। सीएम ऑफिस से ट्वीट में कहा गया कि अत्याधुनिक तकनीक पर आधारित 'लेजर शो' के माध्यम से भगवान श्री राम के अयोध्या आगमन का चित्रण किया जाएगा। आगमन के पश्चात नगरवासियों द्वारा उनके स्वागत में प्रज्ज्वलित किए गए दीपों की जगमगाहट के साथ ही उनकी प्रसन्नता और प्रभु श्री राम के स्वागत में किए गए आयोजन को भी दर्शाएगा।

(फाइल फोटो)

सीएम ऑफिस के मुताबिक, इस वर्ष आयोजित होने वाले लेजर शो में जहां एक ओर प्रभु श्री राम की स्तुति 'श्री रामचन्द्र कृपालु भजमन' पृष्ठभूमि में सुनने को मिलेगी। वहीं लेजर द्वारा वर्चुअल आतिशबाजी का कार्यक्रम 'दीपोत्सव-2020' एक प्रमुख आकर्षण होगा।

(अयोध्या-गोंडा रोड पर सजाया गया रेलवे का ब्रिज व बना तोरण द्वार)
 

सीएम ऑफिस के मुताबिक, इस वर्ष आयोजित होने वाले लेजर शो में जहां एक ओर प्रभु श्री राम की स्तुति 'श्री रामचन्द्र कृपालु भजमन' पृष्ठभूमि में सुनने को मिलेगी। वहीं लेजर द्वारा वर्चुअल आतिशबाजी का कार्यक्रम 'दीपोत्सव-2020' एक प्रमुख आकर्षण होगा।

(अयोध्या-गोंडा रोड पर सजाया गया रेलवे का ब्रिज व बना तोरण द्वार)
 

492 साल बाद यह मौका आया है, जब अयोध्या भगवान श्रीराम के भव्य स्वागत की गवाह बनेगी। बताते चले इस बार दीपोत्सव 5 लाख 51 हजार दीपों से जगमगाएगी और गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में अयोध्या अपना नाम दर्ज कराएगी। (फाइल फोटो)

492 साल बाद यह मौका आया है, जब अयोध्या भगवान श्रीराम के भव्य स्वागत की गवाह बनेगी। बताते चले इस बार दीपोत्सव 5 लाख 51 हजार दीपों से जगमगाएगी और गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में अयोध्या अपना नाम दर्ज कराएगी। (फाइल फोटो)

सीएम योगी आदित्यनाथ ने 2017 में अयोध्या में दीपोत्सव मनाने की शुरुआत की थी। इस दौरान 1 लाख 65 हजार दीप जले। इसके बाद साल 2018 में 3 लाख 150 दीप जलाकर विश्व रिकॉर्ड बना था, फिर इसके बाद 2019 में 5 लाख 51 हजार दीप जलाकर विश्व रिकॉर्ड बना। 


(अयोध्या में प्रमुख मार्गों पर ऐसे 12 से अधिक तोरणद्वार बनाए गए हैं।)

सीएम योगी आदित्यनाथ ने 2017 में अयोध्या में दीपोत्सव मनाने की शुरुआत की थी। इस दौरान 1 लाख 65 हजार दीप जले। इसके बाद साल 2018 में 3 लाख 150 दीप जलाकर विश्व रिकॉर्ड बना था, फिर इसके बाद 2019 में 5 लाख 51 हजार दीप जलाकर विश्व रिकॉर्ड बना। 


(अयोध्या में प्रमुख मार्गों पर ऐसे 12 से अधिक तोरणद्वार बनाए गए हैं।)

सीएम योगी आदित्यनाथ ने 2017 में अयोध्या में दीपोत्सव मनाने की शुरुआत की थी। इस दौरान 1 लाख 65 हजार दीप जले। इसके बाद साल 2018 में 3 लाख 150 दीप जलाकर विश्व रिकॉर्ड बना था, फिर इसके बाद 2019 में 5 लाख 51 हजार दीप जलाकर विश्व रिकॉर्ड बना। (फाइल फोटो)
 

सीएम योगी आदित्यनाथ ने 2017 में अयोध्या में दीपोत्सव मनाने की शुरुआत की थी। इस दौरान 1 लाख 65 हजार दीप जले। इसके बाद साल 2018 में 3 लाख 150 दीप जलाकर विश्व रिकॉर्ड बना था, फिर इसके बाद 2019 में 5 लाख 51 हजार दीप जलाकर विश्व रिकॉर्ड बना। (फाइल फोटो)
 


रामनगरी अयोध्या में 24 घाटों पर 6 लाख दीये प्रज्जवलित किए जाएंगे, जिसमें 29 हजार लीटर तेल से अयोध्या दीयों की रोशनी से जगमग होगी। इसमें 6 लाख दीये में 7.5 लाख रूई की बाती का इस्तेमाल भी होगा। (फाइल फोटो)


रामनगरी अयोध्या में 24 घाटों पर 6 लाख दीये प्रज्जवलित किए जाएंगे, जिसमें 29 हजार लीटर तेल से अयोध्या दीयों की रोशनी से जगमग होगी। इसमें 6 लाख दीये में 7.5 लाख रूई की बाती का इस्तेमाल भी होगा। (फाइल फोटो)


राम मंदिर बनने के निर्णय के बाद से दीपोत्सव के लिए रामनगरी के साधु-संत और सभी भक्त उत्साहित हैं। (फाइल फोटो)


राम मंदिर बनने के निर्णय के बाद से दीपोत्सव के लिए रामनगरी के साधु-संत और सभी भक्त उत्साहित हैं। (फाइल फोटो)

 अयोध्या में त्रेतायुग जैसी दीपावली मनाने की परंपरा सीएम योगी आदित्यनाथ ने 2017 में शुरू की थी, तब से हर साल यहां दीप प्रज्जवलन का नया रिकॉर्ड बन रहा है। (फाइल फोटो)
 

 अयोध्या में त्रेतायुग जैसी दीपावली मनाने की परंपरा सीएम योगी आदित्यनाथ ने 2017 में शुरू की थी, तब से हर साल यहां दीप प्रज्जवलन का नया रिकॉर्ड बन रहा है। (फाइल फोटो)
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios