Asianet News Hindi

2 बच्चों को कपड़े दिलाने ले गया पिता बना जल्लाद, सिर कूचकर शव कुएं में फेंका, फिर खुद को दी खौफनाक सजा

First Published May 24, 2021, 1:14 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

झांसी (Uttar Pradesh)  । शराब पीने के आदी शख्स ने खौफनाक कदम उठाया। अपने दो बच्चों को नए कपड़े दिलाने के बहाने घर से बाहर ले गया, फिर ईंट से सिर कूचकर दोनों के शव कुएं में फेंक दिया। इसके बाद खुद का गला रेतकर कुएं में कूद गया। सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और तीनों शव को कुएं से बाहर निकलकर कार्रवाई में जुट गई। यह घटना मऊरानीपुर थाना क्षेत्र से एक दर्दनाक खबर सामने आई है।

पुलिस का कहना है कि सिरधरपुरा मोहल्ला निवासी रहीस यादव (42) शराब पीने का आदी था। जिसे लेकर उसका पत्नी के साथ झगड़ा होता था। शनिवार की दोपहर पत्नी से कहकर गया कि वह बेटे हर्ष (12) और अंश (9) को बाजार में कपड़े दिलाने जा रहा है। लेकिन, देर रात तक कहीं कोई पता नहीं चल सका। 
 

पुलिस का कहना है कि सिरधरपुरा मोहल्ला निवासी रहीस यादव (42) शराब पीने का आदी था। जिसे लेकर उसका पत्नी के साथ झगड़ा होता था। शनिवार की दोपहर पत्नी से कहकर गया कि वह बेटे हर्ष (12) और अंश (9) को बाजार में कपड़े दिलाने जा रहा है। लेकिन, देर रात तक कहीं कोई पता नहीं चल सका। 
 

सुबह कुछ लोगों को देखा कि लाड़गंज स्थित केदारनाथ मंदिर पर बने कुएं पर टूटी ईंट पड़ी थी। खून के निशान थे फिर लोगों ने कुएं के अंदर देखा कि तीन शव दिखाई दिए। ऐसी आशंका जताई जा रही है कि शख्स ने पहले अपने दोनों बेटों की हत्या की फिर खुदकुशी की। 

सुबह कुछ लोगों को देखा कि लाड़गंज स्थित केदारनाथ मंदिर पर बने कुएं पर टूटी ईंट पड़ी थी। खून के निशान थे फिर लोगों ने कुएं के अंदर देखा कि तीन शव दिखाई दिए। ऐसी आशंका जताई जा रही है कि शख्स ने पहले अपने दोनों बेटों की हत्या की फिर खुदकुशी की। 

सीओ अनुज कुमार के मुताबिक मौके पर पहुंचकर शवों को बाहर निकालकर शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। जांच में प्रथम दृष्टया मामला पिता के द्वारा बच्चों को मारने का मालूम चल रहा है। 

सीओ अनुज कुमार के मुताबिक मौके पर पहुंचकर शवों को बाहर निकालकर शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। जांच में प्रथम दृष्टया मामला पिता के द्वारा बच्चों को मारने का मालूम चल रहा है। 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मृतक के छोटे भाई राजेंद्र सिंह यादव ने कहा है कि बच्चों के सिर पर चोटों के निशान थे और रईस का गला कटा हुआ था। पूरा परिवार एक साथ रहता है ऐसी कोई दिक्कत नहीं थी।यह घटना क्यों और कैसे हुई किसी को कुछ समझ नहीं आ रहा है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मृतक के छोटे भाई राजेंद्र सिंह यादव ने कहा है कि बच्चों के सिर पर चोटों के निशान थे और रईस का गला कटा हुआ था। पूरा परिवार एक साथ रहता है ऐसी कोई दिक्कत नहीं थी।यह घटना क्यों और कैसे हुई किसी को कुछ समझ नहीं आ रहा है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios